Submit your post

Follow Us

दिल्ली के उपराज्यपाल ने 24 घंटे में बदला कोरोना मरीजों से जुड़ा अपना आदेश

दिल्ली में कोरोना होने पर 5 दिन के अनिवार्य सरकारी क्वारंटीन का फैसला वापस हो गया है. इस बारे में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आदेश जारी कर दिया है. इससे पहले 19 जून को उन्होंने 5 दिन के अनिवार्य क्वारंटीन का आदेश दिया था. लेकिन अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार ने इसका विरोध किया था.

दिल्ली के एलजी ने नए आदेश में कहा,

जिन कोरोना पॉजीटिव मरीजों के घर पर आइसोलेशन की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है और जिन्हें अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं हैं, उन्हें ही संस्थानिक आइसोलेशन में रखा जाएगा.

आदेश वापस होने के बाद एलजी पर निशाना

वहीं बैजल के फैसला वापस लेने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने फिर से उन पर हमला बोला. आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा,

दिल्ली में चुनी हुई सरकार है. चुने हुए विधायक जनता कि परेशानी समझते है. अगर बड़े फैसले लेते समय चुनी हुई सरकार से सलाह कर ली जाए, तो इसमें कोई छोटा नहीं हो जाएगा. उससे अच्छे और व्यावहारिक फैसले लिए जा सकते हैं. सभी मिलकर काम कर सकते हैं.

एलजी ने क्या आदेश दिया था

इससे पहले उपराज्यपाल ने आदेश जारी कर कहा था कि

# दिल्ली में अब किसी को भी कोरोना होता है तो उसे कम से कम पांच दिन के लिए संस्थानिक क्वारंटीन में रखा जाएगा.
# लक्षण कम होने पर ही किसी मरीज को घर जाने दिया जाएगा.
# अगर पांच दिन के अंदर लक्षण बढ़ जाते हैं या हालत बिगड़ जाती है तो उसे अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा.
# अभी जो मरीज घर पर क्वारंटीन हैं, उन सबका वैरिफिकेशन किया जाएगा.
# इसके लिए जिला मजिस्ट्रेट की निगरानी में जिला सर्विलांस ऑफिसर की टीम बनेगी. टीम घर-घर जाकर उनकी जांच करेगी.
# दिल्ली सरकार ने होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को फोन पर सलाह देने का जिम्मा एक कंपनी को दिया था. एलजी ने उस कंपनी की सेवाएं भी समाप्त कर दी हैं.

दिल्ली सरकार ने किया था विरोध

वहीं दिल्ली सरकार ने एलजी के आदेश पर सवाल उठाए हैं. सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि होम आइसोलेशन की पहल कोरोना के खिलाफ चल रही निर्णायक लड़ाई में सबसे सफल रही है. हजारों ऐसे कोरोना मरीजों का उपचार किया गया है जिनमें संक्रमण के लक्षण नहीं थे, या कम थे. ऐसे मरीजों की हर दिन देखभाल कर रहे थे और काउंसलिंग कर रहे थे. आईसीएमआर के बताए अनुसार, होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल का पालन कड़ाई से हो रहा था.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: दिल्ली में कोरोना टेस्ट कराने पर अब पहले से कम पैसे लगेंगे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.