Submit your post

Follow Us

दिल्ली दंगे के आरोपी शाहरुख ने बेल मांगी तो हाईकोर्ट ने कहा, 'हीरो बनने चले थे, अब झेलो'

इस साल फरवरी में नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में दंगे हुए थे. इस दौरान एक लड़के ने सड़क पर खुलेआम फाइरिंग की थी. पुलिस के मुताबिक, उसने आठ राउंड गोली चलाई और एक पुलिसकर्मी पर बंदूक भी तान दी थी. लड़के की पहचान अरविंद नगर में रहने वाले शाहरुख के तौर पर हुई थी. कुछ दिन बाद वह गिरफ्तार हो गया. अभी जेल में है और बेल पाने की कोशिश में है. 24 जून को उसकी ज़मानत याचिका दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दी.

क्या कहा कोर्ट ने?

समाचार एजेंसी PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस सुरेश कुमार ने कहा कि वो आरोपी शाहरुख को राहत देने के पक्ष में नहीं हैं, इसके बाद शाहरुख के वकील ने याचिका वापस ले ली. कोर्ट ने कहा,

‘अगर आप कानून खुद के हाथ में लेते हो और हीरो बनते हो, तो फिर आपको कानून का सामना भी करना होगा. आपका मकसद हीरो बनने का था.’

ज़मानत किस आधार पर मांगी गई थी?

शाहरुख ने अपनी याचिका में कहा था कि उसके पिता बूढ़े हैं, 76 बरस के हैं, बीमार हैं, उसे उनकी देखभाल करनी है, क्योंकि उसके अलावा परिवार में कोई और नहीं है.

शाहरुख के वकील असगर खान का कहना था कि शाहरुख का कोई पिछला क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है और मामले में चार्जशीट भी फाइल हो गई है, इसलिए उसे जांच की ज़रूरत नहीं है. इसके अलावा वकील की तरफ से जामिया की सफ़ूरा ज़रगर को मिली बेल का भी हवाला दिया गया. कहा गया कि सफ़ूरा को मानवीय आधार पर ज़मानत दी गई है, इसलिए शाहरुख की ज़मानत भी उस आधार पर कंसिडर की जा सकती है.

एक और तर्क दिया गया. असगर खान ने कहा कि शाहरुख को उस आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए उकसाया गया था, और उस एक पर्टिकुलर घटना के अलावा उसने दंगे की किसी भी घटना में हिस्सा नहीं लिया था.

इस पर स्टेट ने क्या कहा?

एडिशनल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर (अतिरिक्त लोक अभियोजक) अमित चड्ढा ने ज़मानत याचिका का विरोध किया. कहा कि उन्हें दो और सीसीटीवी फुटेज मिले हैं, जिसमें शाहरुख साफ तौर पर फायरिंग करता दिख रहा है.

कोर्ट ने इन सारे तर्क-वितर्कों को सुना. फिर कहा,

‘जब वो पिस्टल लहरा रहा था तब उसे अपने परिवार के बारे में सोचना चाहिए था. जब तुम अपराध कर रहे थे, तब हर किसी को भूल गए थे और अब तुम्हें अपने बूढ़े पैरेंट्स की याद आ रही है.’

यूपी से पकड़ा गया था शाहरुख

24 फरवरी को नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाके में हुई हिंसा के कई वीडियो सामने आए थे. इनमें एक वीडियो शाहरुख का भी था, जिसमें वो एक पुलिसकर्मी के सामने खड़े होकर दनादन गोलियां चलाता दिख रहा था. वो फरार था. पुलिस ने उसे खोजना शुरू किया. उसकी गिरफ्तारी हुई 3 मार्च के दिन. उत्तर प्रदेश के शामली से.


वीडियो देखें: दिल्ली दंगे में पुलिसवाले के सामने पिस्टल चलाने वाला शाहरुख आखिर गिरफ्तार हो गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पैंगोंग और गलवान के बाद लद्दाख के इन इलाकों में चीन नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है.

राजस्थान में महाराणा प्रताप को लेकर फिर से हंगामा क्यों हो रहा है?

फिर से राजस्थान बोर्ड का सिलेबस चर्चा में है.

पतंजलि ने खांसी-सर्दी की दवा के लाइसेंस पर 'कोरोना की दवा' बना दी!

जारी हो गया है नोटिस

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

वीडियो कब का है, कहां का है?

इंग्लैंड टूर से पहले पाकिस्तान के तीन क्रिकेटर कोविड पॉज़िटिव

अहम टूर से पहले पाकिस्तान को लगा झटका.

पटना के बैंक में दिन-दहाड़े 52 लाख रुपए की डकैती

अपराधियों ने बैंक में लगे CCTV की हार्ड डिस्क तोड़ दी.

अब लद्दाख की पैंगोंग झील के पास चीन की हरकत, भारतीय क्षेत्र में बना रहा है बंकर

सैटेलाइट इमेज एक्सपर्ट की बातें यही इशारा कर रही हैं.

भारतीय सेना के पूर्व अधिकारियों ने किस बात पर आपस में भयानक झगड़ा फ़ान लिया?

गौरव आर्या ने भीड़ से पिट जाने की बात कह डाली.

रेलवे की नौकरी के भरोसे न बैठें, रेलवे की जेबें खाली हैं!

कोरोना लॉकडाउन ने रेलवे का हाल खस्ता कर दिया है.

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.