Submit your post

Follow Us

हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकारते हुए कपिल मिश्रा का वीडियो दिखाया और बोला, कार्रवाई करो

दिल्ली हाईकोर्ट में आज कपिल मिश्रा, अनुराग ठाकुर और परवेश वर्मा की वीडियो क्लिप चलाई गयी. मौक़ा था सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर की याचिका पर सुनवाई का. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के वकील और अधिकारियों के सामने तीनों नेताओं के वीडियो चलाए. और पुलिस को कहा कि आप कार्रवाई करें, ताकि कोर्ट को कोई आदेश न देना पड़े.

क्या हुआ कोर्ट में? सुनवाई के समय दिल्ली पुलिस की ओर से कोर्ट में उपस्थित हुए सॉलिसिटर जनरल एसजी मेहता. कोर्ट ने दिल्ली में बिगड़ रहे हालातों का जायजा लिया था.

कोर्ट में भाजपा नेता कपिल मिश्रा, सांसद परवेश वर्मा और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के वीडियो पर बात शुरू हुई. जस्टिस एस मुरलीधरन ने एसजी मेहता से पूछा कि क्या आपने तीनों वीडियो देखे हैं? एसजी मेहता ने मना कर दिया. इसके बाद कोर्ट ने पूछा कि क्या कोर्टरूम में कोई सीनियर पुलिस अधिकारी मौजूद है. एक पुलिस अधिकारी सामने आया.

Anurag Thakur
अनुराग ठाकुर ने दिल्ली में चुनावी सभा के दौरान भड़काने वाले नारे लगवाए थे. (फाइल फोटो- ANI)

कोर्ट ने पूछा कि क्या आपने तीनों वीडियो देखे हैं? पुलिस अधिकारी ने कहा कि दो देखे हैं, लेकिन कपिल मिश्रा वाला नहीं देखा.

इस पर जस्टिस मुरलीधरन ने आपत्ति जताई. कहा कि क्या आप कह रहे हैं कि पुलिश कमिश्नर ने वो वीडियो ही नहीं देखा है, जो खुद उनसे जुड़ा हुआ है? ये एक गंभीर मुद्दा है. मैं दिल्ली पुलिस का कामकाज देखकर चकित हूं.

इसके बाद कोर्ट ने आदेश दिया कि पुलिस अधिकारियों और एसजी मेहता के लिए कोर्ट में वीडियो चलाए जाएं. कपिल मिश्रा का वीडियो चलाते हुए जस्टिस मुरलीधरन ने चिन्हित किया और कहा कि देखिए, वो (कपिल मिश्रा) तब बोल रहे हैं, जब डीसीपी उनके बगल में खड़ा है.

परवेश वर्मा भी अपने बयान वजह से चर्चा और चुनाव आयोग के घेरे में आए थे.
परवेश वर्मा भी अपने बयान वजह से चर्चा और चुनाव आयोग के घेरे में आए थे.

इसके बाद एसजी मेहता ने वीडियो में कही गयी बात का ट्रांसक्रिप्ट पढ़ा. जस्टिस मुरलीधरन ने कहा कि अब आपने तो वीडियो देख लिया है, आप खुद ही कमिश्नर को आदेश दें ताकि हमें कोई आदेश न देना पड़े. आखिरकार आप भारत के सॉलिसिटर जनरल हैं. इसके बाद बेंच दोपहर 2:30 बजे तक के लिए उठ गयी,

बेंच दुबारा बैठी. कोर्ट ने कहा कि इस अदालत के होते हुए दिल्ली में दूसरा 1984 नहीं होने दे सकते हैं. सरकार से कहा कि तेज़ी से काम करें. और संवैधानिक पदों पर बैठे जिन भी लोगों के पास Z श्रेणी की सुरक्षा है, वे नार्थ ईस्ट दिल्ली के तनावग्रस्त इलाकों में जाएं. लोगों से बात करें. दिल्ली पुलिस से कहा कि हेल्पलाइन बढ़ाएं

इसके पहले आधी रात 12:30 बजे जस्टिस एस मुरलीधरन के आवास पर हुई सुनवाई में हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया था कि घायलों को जल्द से जल्द इलाज उपलब्ध हो सके, इसलिए उन्हें पुलिस सेफ पैसेज मुहैया कराए.

गौरतलब है कि दिल्ली चुनाव के दौरानअनुराग ठाकुर और परवेश वर्मा ने आपत्तिजनक और साम्प्रदायिक रूप से भड़काऊ बयान दिए थे, जिसके बाद चुनाव आयोग ने इन दो नेताओं पर कार्रवाई की थी. 23 फरवरी को भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने मौजपुर चौक पर दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में भड़काऊ भाषण दिया. कहा कि तीन दिन इंतज़ार करेंगे. उसके बाद पुलिस की भी नहीं सुनेंगे.


लल्लनटॉप वीडियो : दिल्ली हिंसा में मारे गए राहुल सोलंकी के पिता ने रोते हुए कहा- दंगे की आग कपिल मिश्रा ने भड़काई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

दिल्ली: इंटेलिजेंस ब्यूरो के जवान का शव चांद बाग नाले में मिला

जवान की पहचान अंकित शर्मा के रूप में हुई.

World XI के खिलाफ एशिया XI में क्यों नहीं है कोई पाकिस्तानी प्लेयर?

अलग-अलग बयान दे रहे हैं BCCI और PCB.

दिल्ली में लोग मर रहे हैं, हिमाचल के CM कह रहे हैं कि भारत में कौन रहेगा, कौन नहीं

जयराम ठाकुर दिल्ली की हिंसा पर कमेंट कर रहे थे.

दिल्ली हिंसा में मरने वालों की तादाद बढ़कर 20 हुई, 150 से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती

हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल का परिवार धरने पर बैठा.

दिल्ली हिंसा: CBSE ने 86 एग्जाम सेंटर्स में 10वीं-12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द की

उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्से में 'शूट ऐट साइट' के ऑर्डर जारी हो चुके हैं.

NGO का दावा, चुनाव आयोग ने समय से पहले नष्ट कर दिये लोकसभा चुनाव के VVPAT रिकॉर्ड

VVPAT रिकॉर्ड को लेकर क्या कहता है नियम?

हैदराबाद हाउस में डॉनल्ड ट्रंप को लंच में क्या-क्या परोसा गया, ये रहा मेन्यू

एक से बढ़कर एक लज़ीज़ डिश बनाई गई थी.

दिल्ली हिंसा पर CM अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या कहा?

केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली को सील करने की ज़रूरत है

लड़की बन नग्न तस्वीरें भेज पैसे ऐंठता था, इस एक गलती से पकड़ा गया

चेन्नई पुलिस ने पकड़ लिया है. 2017 से ऐसा कर रहा है.

दिल्ली हिंसा के बीच सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस दीपक गुप्ता ने सबसे सटीक बात कही है

और अगर इसे पूरा देश सुन-समझ ले तो बात बन जाए.