Submit your post

Follow Us

दिल्ली दंगों में मर्डर के आरोपी को बेल मिली, क्योंकि गन से गोली मैच नहीं हुई

दिल्ली दंगों से जुड़े हत्या के एक मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने आरोपी को ज़मानत दे दी. ज़मानत फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) की रिपोर्ट के आधार पर दी गई. इस जांच रिपोर्ट से अभियोजन पक्ष केस को साबित नहीं कर पा रहा था. इसके अलावा डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर से प्राप्त डेटा भी ये साबित नहीं हो पाया कि आरोपी घटनास्थल पर मौजूद था. कोर्ट ने ये फैसला योगेश नाम के शख्स की जमानत याचिका पर दिया, जिस पर दिल्ली दंगों के दौरान आफताब नाम के व्यक्ति की हत्या का आरोप है.

गवाहों ने कुबूला था

कोर्ट के सामने ये बात रखी गयी थी कि दो गवाहों ने पुलिस को दिए अपने स्टेटमेंट में साफ़ तौर पर योगेश और अन्य की पहचान की थी. इससे पहले पुलिस ने कोर्ट को बताया था कि भीड़ द्वारा आफ़ताब को पहले रॉड से मारा गया था, फिर उसकी तरफ तीन गोलियां दागी गयी थीं. वहीं गवाहों ने अपने स्टेटमेंट में पुलिस को बताया था कि योगेश, लखपत और कुलदीप उस भीड़ का नेतृत्व कर रहे थे और मुस्लिम-विरोधी नारे भी लगा रहे थे.

1 मार्च, 2020 को जब आफ़ताब की बॉडी मिली, तो वो ख़राब हो चुकी थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ये बात सामने आयी कि उसके शरीर पर पिटाई के 17 ज़ख्म थे और गोलियों के दो घाव थे.

कोर्ट ने क्या कहा

कोर्ट ने कहा कि जो तीन गोलियां मृतक के शरीर से बरामद हुईं, वो फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी के पास मौजूद देसी पिस्तौल से नहीं चलायी गयी थीं. इसके अलावा जहां तक तीन डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर की बात है, उसमें से दो के ही डेटा निकाले जा सके, जिससे ये साफ़ नहीं हो सका है कि आरोपी घटनास्थल पर मौजूद थे या नहीं. कोर्ट ने कहा कि तीसरे रिकॉर्डर का वीडियो सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण था, क्योंकि वही सीसीटीवी घटनास्थल के सबसे क़रीब था.

Delhi Violence 0 (1)
दिल्ली दंगों में जान-माल का काफी नुकसान हुआ था.

कोर्ट ने अपने ऑर्डर में कहा-

“ये देखा गया कि चैनल नंबर 1 का कैमरा 8 बजकर 54 मिनट 51 सेकंड पर, जबकि नंबर दो का कैमरा 8 बजकर 54 मिनट और 12 सेकंड पर दूसरी ओर घुमा दिया गया था, ताकि सीसीटीवी में अपराधियों की फुटेज न आ सके.”

कोर्ट ने कहा कि इस आधार पर आरोपी ज़मानत के योग्य है. कोर्ट ने 25 हज़ार के निजी मुचलके और याचिका दायर करने वाले किसी भी गवाह या सुबूत के साथ छेड़छाड़ न करने की शर्त पर योगेश को ज़मानत दे दी.


वीडियो – दंगों की जांच कर रही दिल्ली पुलिस पर क्यों उठ रहे हैं सवाल?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

लोकनीति और CSDS के ओपिनियन पोल की बड़ी बातें एक नजर में.

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

आपराधिक छवि वालों की इतनी तादाद से साफ है कि दलों को लगता है, 'दाग' अच्छे हैं

बीजेपी विधायक ने कहा- अगर राहुल 'छेड़छाड़' वाली बात साबित कर दें, तो मैं इस्तीफा दे दूंगा

बीजेपी विधायक ने कहा- अगर राहुल 'छेड़छाड़' वाली बात साबित कर दें, तो मैं इस्तीफा दे दूंगा

राहुल ने खबर शेयर की थी जिसमें लिखा था-बीजेपी विधायक रेप के आरोपी को थाने से छुड़ा ले गए.

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

एसटीएफ की टीम ने लखनऊ से पकड़ा. बलिया पुलिस को हैंडओवर करेगी.

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.