Submit your post

Follow Us

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार 15 जून को दिल्ली दंगों (Delhi Riots) मामले में अन्लॉफ़ुल ऐक्टिविटीज़ प्रिवेन्शन ऐक्ट (UAPA) के तहत गिरफ़्तार JNU की दो छात्राओं देवांगना कलिता (Devangana Kalita) और  नताशा नरवाल (Natasha Narwal), और जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्र आसिफ इक़बाल तन्हा (Asif Iqbal Tanha) को ज़मानत दे दी है.

दिल्ली हाई कोर्ट के जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल और जस्टिस अनूप जयराम भंभानी की डिविज़न बेंच ने फ़ैसला सुनाया.

मामले में सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने कहा था कि इस मामले में कुल 740 अभियोजन पक्ष के गवाह हैं जिनकी अभी जांच होनी है. इस आधार पर दिल्ली पुलिस ने इनकी बेल का विरोध किया था. लेकिन कोर्ट ने इस पर पुलिस को फटकार लगते हुए कहा,

“कोर्ट कब तक इंतज़ार करे? आरोपी को संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत त्वरित ट्रायल का अधिकार है.”

कब का है मामला?

पिछले साल की बात है. फरवरी का महीना चल रहा था. देश के कई हिस्सों में खासतौर पर राजधानी दिल्ली में प्रदर्शन हो रहे थे. CAA-NRC के विरोध और समर्थन, दोनों में. CAA यानी नागरिकता संशोधन एक्ट और NRC माने नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिज़न्स. फरवरी के आखिरी हफ्ते के बात है. दोनों तरफ के प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसा हुई, जिसमें 50 से ज्यादा लोग मारे गए और कई लोग घायल हुए.

इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. मार्च में कोरोना की वजह से देशभर में लॉकडाउन लग गया और तभी पुलिस ने नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में हिंसा भड़काने के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार करना शुरू कर दिया. इसी क्रम में मई में पुलिस पहुंची नताशा नरवाल के पास. 23 मई को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. नताशा JNU की स्टूडेंट हैं और ‘पिंजरा तोड़’ ग्रुप की मेंबर हैं. ये महिलाओं का वो ग्रुप है, जो दिल्ली के हॉस्टल और पीजी में लड़कियों के ऊपर लगने वाले प्रतिबंध को कम करने की दिशा में काम करता है. साल 2015 में ये ग्रुप बना था.

‘इंडिया टुडे’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिंजरा तोड़ ग्रुप पर आरोप लगा कि उन्होंने 22-23 फरवरी के बीच नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के ज़ाफराबाद मेट्रो स्टेशन में करीब 500 प्रदर्शनकारियों को इकट्ठा किया था, जिनमें से ज्यादातर औरतें थीं. धरना दिया गया था, CAA-NRC के खिलाफ. और अगले दिन यानी 24 फरवरी को इस इलाके में हिंसा हो गई.

इसी मामले में पुलिस ने आसिफ़ को भी अरेस्ट किया था. 24 वर्षीय इस छात्र को उमर ख़ालिद, शरजील इमाम, सफूरा ज़रगर और मीरान हैदर का साथी बताया गया था. शाहीन बाग़ के रहने वाले आसिफ पर पिछले साल 15 दिसंबर में जामिया में हिंसा भड़काने का भी आरोप है. पिछले साल 15 दिसंबर को प्रदर्शनकारियों ने 4 पब्लिक बसों और 2 पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी थी. इसके बाद 16 दिसंबर, 2019 को आसिफ इक़बाल के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने केस रजिस्टर किया था.

इस हिंसा की कथित साजिश रचने के आरोप में ही नताशा को गिरफ्तार किया गया. उनके साथ पिंजरा तोड़ की एक और सदस्य देवांगना कलिता को भी गिरफ्तार किया गया था. पहले IPC की धारा 186 और 353 के तहत गिरफ्तारी हुई थी, जिसमें इन्हें बेल भी मिल गई थी, लेकिन नताशा बेल पर रिहा होकर घर लौट पातीं, उसके पहले UAPA के तहत उनके खिलाफ केस दर्ज हो गया. और 30 मई को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.


वीडियो – दंगों की जांच कर रही दिल्ली पुलिस पर क्यों उठ रहे हैं सवाल?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोरोना की चपेट में टीम इंडिया के छह खिलाड़ी!

कोरोना की चपेट में टीम इंडिया के छह खिलाड़ी!

अंडर-19 विश्वकप में टीम इंडिया के लिए बुरी खबर.

इंग्लैंड के असिस्टेंट कोच को वीडियो शूट करना पड़ा महंगा!

इंग्लैंड के असिस्टेंट कोच को वीडियो शूट करना पड़ा महंगा!

बर्खास्त करने की फ़िराक में है इंग्लैंड बोर्ड.

भारत-साउथ अफ्रीका मैच में फैन्स हार्दिक पंड्या को क्यों याद करने लगे?

भारत-साउथ अफ्रीका मैच में फैन्स हार्दिक पंड्या को क्यों याद करने लगे?

पहले वनडे में टीम इंडिया को मिली हार..

चीन की सेना ने अरुणाचल प्रदेश सीमा में घुस युवक का अपहरण किया, BJP सांसद का बड़ा दावा

चीन की सेना ने अरुणाचल प्रदेश सीमा में घुस युवक का अपहरण किया, BJP सांसद का बड़ा दावा

BJP MP तापिर गाव के ट्वीट ने सनसनी मचा दी है.

BBL में मैक्सवेल ने वो कर दिखाया जो अब तक नहीं हुआ था

BBL में मैक्सवेल ने वो कर दिखाया जो अब तक नहीं हुआ था

मैक्सवेल का शतक देखना चाहिए.

शूटिंग के लिए घर से निकली एक्ट्रेस की बोरे में बंद लाश मिली

शूटिंग के लिए घर से निकली एक्ट्रेस की बोरे में बंद लाश मिली

राइमा की लाश दो टुकड़े में कर बोरे में बंद किया गया था.

गिरफ्तारी में चीटिंग करने वाली यूपी पुलिस को दिल्ली हाई कोर्ट ने फिर उलटा टांग दिया

गिरफ्तारी में चीटिंग करने वाली यूपी पुलिस को दिल्ली हाई कोर्ट ने फिर उलटा टांग दिया

इसी मामले में कोर्ट ने पिछले साल यूपी पुलिस से कहा था- ये सब दिल्ली में नहीं चलेगा.

किस गेंदबाज़ ने हैट्रिक नहीं, डबल हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया?

किस गेंदबाज़ ने हैट्रिक नहीं, डबल हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया?

भारतीय उन्मुक्त चंद भी इस मैच में खेल रहे थे.

सानिया ने टेनिस को अलविदा कहने की असली वजह बता दी है!

सानिया ने टेनिस को अलविदा कहने की असली वजह बता दी है!

छह ग्रैंडस्लैम जीत चुकी हैं सानिया..

जेल में जांच हुई, क़ैदी ने हाथ में पकड़ा मोबाइल घोंट लिया, फिर शुरू हुई टेंशन!

जेल में जांच हुई, क़ैदी ने हाथ में पकड़ा मोबाइल घोंट लिया, फिर शुरू हुई टेंशन!

कैसा दिखता है क़ैदी का सटका हुआ मोबाइल फ़ोन?