Submit your post

Follow Us

दिल्ली में जिन्होंने कोरोना से अपनों को खोया, केजरीवाल के इस ऐलान से उन्हें राहत मिलेगी

दिल्‍ली में कोरोना से अपनों को खोने वाले लोगों को मुआवजा पाने के लिए मृत्यु प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं होगी. शुक्रवार, 1 अक्टूबर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार से वित्तीय सहायता के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र या फिर जीवित सदस्य प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं होगी. अधिकारियों के साथ बैठक में सीएम ने कोरोना से मरने वालों के परिवारों को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए बनाए गए नियमों को लेकर आपत्ति जताई. खासकर लंबित मामलों पर नाराजगी जताई. अधिकारियों को जल्द से जल्द वित्तीय सहायता देने का निर्देश दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक एक व्यक्ति ने 50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि पाने की प्रकिया को जटिल और बाधाओं से भरा बताते हुए शिकायत की थी. अपनी शिकायत में कहा था कि उसे दस्तावेज ठीक कराने में ही चक्कर काटने पड़ गए. इसके बाद मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक की थी.

केजरीवाल ने कहा,

इस योजना का उद्देश्य उन परिवारों को वित्तीय सहायता देना है जो कोरोना की वजह से अपनों को खो चुके हैं. ये सभी लोग पीड़ित हैं. कागजी कार्रवाई के कारण उन्हें परेशान नहीं होना चाहिए. आवेदनों पर विचार के लिए अब मृत्यु प्रमाणपत्र और जीवित सदस्य प्रमाणपत्र जमा करने की जरूरत नहीं है. हमारा कर्तव्य पीड़ित परिवारों को सांत्वना देना और उनका समर्थन करना है, न कि उनके लिए समस्याएं पैदा करना.आवेदकों को ऑफिस आने के लिए नहीं कहा जाना चाहिए. मुआवजा वितरण में कोई देरी नहीं होनी चाहिए. अगर जीवनसाथी जीवित है तो उन्हें पूरी राशि दें. यदि कई बच्चे जीवित हैं, तो राशि को उनमें बराबर-बराबर बांट दें. कागजी कार्रवाई का ढेर मत लगाएं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, आधिकारिक आंकड़ों में कोरोना से जितनी मौतें हुई हैं, उससे ज्यादा आवेदन मुआवजे के लिए आए हैं. आधिकारिक रिकॉर्ड कहते हैं कि 25,087 लोग कोरोना से मरे, लेकिन मुआवजे के लिए 25,709 आवेदन मिले हैं.

इन आवेदनों में से 24,475 का मिलान गृह मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची से किया गया है. लगभग 19,000 आवेदकों का सत्यापन पूरा हो चुका है. सत्यापन के दौरान 1,250 लोगों ने योजना से बाहर होने का विकल्प चुना. वहीं, स्वास्थ्य विभाग ने योजना के तहत 24,475 आवेदकों में से 9,043 आवेदनों को मंजूरी दी है. अब तक, 7,163 लाभार्थियों के खातों में मुआवजे की राशि ट्रांसफर की गई है.

अधिकारियों का कहना है कि आवेदनों की संख्या कोरोना से हुई मौतों से ज्यादा थी, क्योंकि अन्य राज्यों के कुछ लोगों ने भी अनुग्रह राशि के लिए आवेदन किया था. कई लोगों की अस्पताल के बाहर भी मौत हुई. उनका अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार किया गया. कोविड की दूसरी लहर के दौरान उन लोगों का भी कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया जिनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं थी, लेकिन उनें लक्षण दिखे थे.

दिल्ली सरकार की इस मुआवजा योजना के तहत, मरने वाले व्यक्ति के पति या पत्नी, माता-पिता या बच्चे 50,000 रुपये के एकमुश्त मुआवजे के पात्र हैं.


कोविड डेथ सर्टिफिकेट को लेकर केंद्र ने जो दिशा निर्देश जारी किए हैं, उसमें क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.