Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

ग़लती तो उस मूक-बधिर लड़की की है, जिसका बार-बार रेप होता रहा पर उसने कुछ नहीं कहा

5
शेयर्स

हम कब जागेंगे हम नहीं जानते. लेकिन अलार्म बजता रहेगा. आप उसे स्नूज़ कर दें, फिर भी वो बजेगा. आप घड़ी उठाकर जमीन में पटक दें, फिर भी वो बजेगा.

जब सब कुछ समाप्त हो जाएगा तो भी बैकग्राउंड में अलार्म बजता रहेगा, जिसे सुनने वाला कोई नहीं होगा.

एक शांत हो चुकी दुनिया में, एक मर चुके लोगों की भीड़ के बीच न उस अलार्म को बंद करने वाला कोई होगा, न उसे सुनने वाला होगा.


ऐसा ही अलार्म पहले बिहार में बजा, फिर उत्तर-प्रदेश में. अब ये डरावनी आवाज़ मध्यप्रदेश से आ रही है.

मध्यप्रदेश की राजधानी के एक हॉस्टल संचालक पर रेप का आरोप लगा है. लड़की पिछले 3 साल से भोपाल के अवधपुरी इलाके के एक हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रही थी इसी बीच हॉस्टल संचालक अश्वनी शर्मा ने लड़की के साथ में कई बार रेप की वारदात को अंजाम दिया.

जैसे मणिकर्णिक घाट में चिताएं सैकड़ों सालों से जलती रही हैं वैसे ही नाबालिग बच्चियों के साथ होने वाले शारीरिक उत्पीड़न की आग भी बुझती और ठंडी होती नहीं लग रही है.

सांकेतिक इमेज
सांकेतिक इमेज

इतने बारे इस लड़की के साथ रेप होता रहा लेकिन उसने एक बार भी किसी को इन्फॉर्म नहीं किया. अगर वो आवाज़ उठाती तो लोग, एनजीओ और पुलिस उसका साथ अवश्य देते.

लेकिन वो आवाज़ उठाए भी तो कैसे? वो आवाज़ कैसे उठाए जो बोल नहीं सकती, जो सुन नहीं सकती?

बेशक ये लड़की की जिजीविषा कही जाएगी कि मूक-बधिर होते हुए भी वो घर से दूर रहकर, अपनी पढ़ाई ज़ारी रख रही थी. उसने सामान्य लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलकर चलने की सोची थी. सपना था कि अपनी सारी शॉर्टकमिंग्स को धता बतलाकर अपना कैरियर बनाएगी. उसे किसी की सांत्वना की ज़रूरत नहीं थी.

जहां शोर नहीं सुना जाता, वहां मौन के सुने जाने की उम्मीद?
जहां शोर नहीं सुना जाता, वहां मौन के सुने जाने की उम्मीद?

मगर लड़की को नहीं पता था कि हम उस समाज में रहते हैं जहां अव्वल तो हमसे अलग लोगों का मज़ाक उड़ाया जाता है और तिस पर उन्हें छोटी मोटी सुविधाएं, जिनके वो हकदार हैं, देना तो दूर उनकी शॉर्टकमिंग्स का फायदा उठाया जाता है. उन्हें बार बार बताया जाता है कि तुम्हारी हिम्मत कैसी हुई हम सो-कॉल्ड समाज से साथ-साथ उसी रफ़्तार से चलने की?

जब बलात्कारी को ‘चिल्लाओ! तुम्हारी आवाज़ सुनने वाला यहां कोई नहीं.’ कहने की ज़रूरत न पड़े तो उसका टारगेट एक ‘सॉफ्ट टारगेट’ कहलाता है.

एक होती है चिढ़. दूसरी नफ़रत. तीसरी घृणा. लेकिन उसके पार क्या होता है, मैं नहीं जानता. मैं नहीं जानना चाहता. लेकिन उसका रंग काला, बहुत काला होता है. और उसी काले रंग वाली फीलिंग मुझे अभी, ठीक इस वक्त हो रही है.

फ़िल्म मुक्काबाज़ की नायिका साइन लैंग्वेज़ से अपने को अभिव्यक्त करती थी.
फ़िल्म मुक्काबाज़ की नायिका साइन लैंग्वेज़ से अपने को अभिव्यक्त करती थी.

अगर आप उस लड़की का दर्द समझ पा रहे होंगे तो आपको भी आ रही होगी. पुलिस के मुताबिक मूकबधिर होने के कारण छात्रा किसी को अपनी पीड़ा नहीं समझा पा रही थीं जिसके बाद साइन लैंग्वेज के एक्सपर्ट को बुलाया गया जिससे पूरा मामले का खुलासा हुआ.

भोपाल एसपी साउथ राहुल कुमार लोढ़ा के मुताबिक परिजनों और पीड़िता की शिकायत पर भोपाल पुलिस ने आरोपी अश्विनी शर्मा को धारा 154/18, 376, 376 एन, 354, 344, 506 और एससी/एसटी एक्ट की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ जारी है.

इसके अलावा एसपी का कहना है कि मामले में हॉस्टल में रह चुकी और भी लड़कियों से पुलिस बातचीत कर ये पता लगाने की कोशिश करेगी कि क्या आरोपी ने किसी और छात्रा के साथ भी इस तरह की घटना को अंजाम दिया है या नही.

पुलिस के मुताबिक हॉस्टल में 20 के करीब लड़कियां रहती थीं लेकिन वो लंबे अरसे पहले होस्टल खाली कर के जा चुकी थीं. फिलहाल सिर्फ 1 ही लड़की ने रेप का आरोप लगाया है. एसपी राहुल कुमार लोढ़ा के मुताबिक पुलिस उन सभी लड़कियों से पूछताछ करेगी जो यहां रहती थीं.


अलार्म लगातार बज रहा है, लाशें उसे सुन नहीं सकतीं.

अलार्म को लोगों के मर चुकने का नहीं पता, मरे हुए लोगों को अलार्म के बजने का नहीं पता.


ये भी पढ़ें:

मुजफ्फरपुर रेप केस में जिन मंत्री के पति का नाम आया है, वो हर घाट का पानी पिए हैं

मुजफ्फरपुर जैसा देवरिया का केस, कार आती थी, 15 साल से बड़ी लड़कियों को कहीं ले जाती थी

मुजफ्फरपुर बालिका गृह : जहां बच्चियों से रेप के लिए इस्तेमाल की जाती थीं 67 किस्म की नशीली दवाएं

मुजफ्फरपुर : कौन हैं वो 10 लोग जिनकी वजह से हुआ था 34 बच्चियों से रेप

कौन है ब्रजेश ठाकुर, जिसके बालिका गृह में 34 बच्चियों से रेप हुआ है?

मुजफ्फरपुर ही नहीं, बिहार की इन 14 जगहों पर भी बच्चे-बच्चियों से हुआ है रेप!

34 बच्चियों से बार-बार रेप और एक बच्ची की हत्या, फिर भी ये मामला दबा हुआ क्यों है?


वीडियो देखें:

TISS के ऑडिट ने बताया था, मुजफ्फरपुर की बालिका गृह में बच्चियों का रेप होता था-

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Deaf student raped multiple times, and was unable to complain due to her physical shortcoming

टॉप खबर

कांवड़ियों पर 'पुष्पवर्षा' के लिए किराए पर आए हेलिकॉप्टर पर तगड़ा खर्च आया

यूपी सरकार की तरफ से ये हेलिकॉप्टर लिया तो गया था कांवड़ियों पर निगरानी के लिए.

मुजफ्फरपुर जैसा देवरिया का केस, कार आती थी, 15 साल से बड़ी लड़कियों को कहीं ले जाती थी

24 बच्चियों को पुलिस ने छुड़ा लिया है, 18 अब भी गायब हैं.

मैच में चीटिंग हुई है: इंग्लैंड के 11 खेल रहे थे, इंडिया का बस एक कोहली

एक ही बल्लेबाज के भरोसे टेस्ट मैच नहीं जीते जाते.

आपके काम की इन 88 चीजों के दाम कम हो गए हैं

और ये फैसला GST काउंसिल की बैठक में किया गया है.

मौत से बदतर वो 7 महीने जिस दौरान 11 साल की विकलांग से 18 लोग लगातार बलात्कार करते रहे

आपको ऐसी खबरें नहीं पढ़नी चाहिए, मूड खराब हो जाता है!

संभल में 35 साल की महिला को मंदिर में जिंदा जलाकर मार दिया गया

यूपी पुलिस फोन उठा लेती तो शायद ज़िंदा बच जाती महिला.

गूगल के इंजीनियर को भीड़ ने पीटकर मार डाला, वजह एक वायरल मैसेज था

ऐसे वायरल मैसेज की वजह से हो चुकी हैं 30 हत्याएं.

पीएम मोदी ने फसलों के दाम 200 से 1827 रुपये तक बढ़ा दिए हैं

कुल 14 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी हुई है.

सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया - एलजी नहीं, केजरीवाल हैं दिल्ली के असली बॉस

केजरीवाल ने आखिरकार एलजी को पछाड़ ही दिया.