Submit your post

Follow Us

इंडिया में तीसरी लहर में मौतों को लेकर इस रिपोर्ट ने हल्ला मचा दिया है!

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर भारत के लिए एक बड़ी चेतावनी जारी की है. यूएन की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में जल्द ही कोरोना की दूसरी लहर के जैसी तबाही फिर देखने को मिल सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक इससे देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह चरमरा सकती है. इस रिपोर्ट में दूसरी लहर के दौरान भारत में तकरीबन ढ़ाई लाख मौतें होने का भी दावा किया गया है. यूएन की वर्ल्ड इकोनॉमिक सिचुएशन एंड प्रॉस्पेक्ट्स (WESP) 2022 रिपोर्ट में कहा गया है,

“भारत में डेल्टा वेरिएंट की घातक दूसरी लहर ने अप्रैल और जून के बीच 2 लाख 40 हजार लोगों की जान ले ली थी और आर्थिक सुधार को बाधित किया था. निकट भविष्य में इसी तरह के चीजें फिर देखने को मिल सकती हैं.”

यूएन की रिपोर्ट में आगे लिखा है कि कोविड के चलते दक्षिण एशियाई देश गंभीर परेशानियों में घिर गए हैं, इससे उन्हें 2030 तक के अपने प्रस्तावित लक्ष्यों को पाने में बड़ी दिक्क्तों का सामना करना पड़ सकता है. यूएन ने यह भी स्पष्ट किया है कि आखिर क्यों अन्य देशों की तुलना में दक्षिण एशियाई देश कोविड के दौरान गंभीर परेशानियों से घिर गए. यूएन की रिपोर्ट के मुताबिक,

“उम्मीद से धीमी टीकाकरण की गति इस क्षेत्र को कोरोना के नए वेरिएंट्स और बार-बार सामने आ रहे खतरों से लड़ने में कमजोर बना रही है. वित्तीय बाधाओं और वैक्सीन की पर्याप्त आपूर्ति न होने से कुछ देशों में रिकवरी का ग्राफ लगातार नीचे गिर रहा है.”

रिपोर्ट में आंकड़ों को दिखाते हुए कहा गया है कि दिसंबर 2021 की शुरुआत में बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान में 26% से भी कम आबादी का पूरी तरह टीकाकरण हो पाया था. जबकि भूटान, मालदीव और श्रीलंका में 64 फीसदी से ज्यादा आबादी का पूरी तरह से टीकाकरण हो चुका था.

आपको बतादें कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भारी तबाही मची थी. इस दौरान देश में तेजी से फैले डेल्टा वेरिएंट संक्रमण से मौतें बढ़ी थीं. इससे देश का स्वास्थ्य सिस्टम चरमरा गया था. अब भारत में फिर तेजी से ओमिक्रॉन और कोरोना के केस बढ़ रहे हैं.

लगातार दूसरे दिन 2 लाख से ज्यादा केस

भारत में लगातार दूसरे दिन 2 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस मिले हैं. गुरुवार 13 जनवरी को 2 लाख 62 हजार 022 केस मिले, जो पिछले दिन यानी बुधवार 12 जनवरी के 2.47 लाख केस से करीब 12 हजार ज्यादा हैं. हालांकि, गुरूवार को 1 लाख से ज्यादा मरीज ठीक हुए, जबकि 314 लोगों की मौत हो गई. इस तरह देश में कुल एक्टिव केस 11.09 लाख से बढ़कर 12.65 लाख हो गए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में अब तक कुल 3.65 करोड़ लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, जिनमें से 3.48 करोड़ लोग रिकवर हो चुके हैं. अब तक 4,85,349 लोगों की मौत हो चुकी है.

वे राज्य जहां 10 हजार से ज्यादा केस मिले

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 46,406 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 34,658 लोग डिस्चार्ज हुए और 36 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई. खास बात यह रही कि राज्य में आज ओमिक्रोन का कोई नया मरीज नहीं मिला है.

दिल्ली में गुरुवार 13 जनवरी को 28,867 नए कोरोना केस मिले हैं. यह 8 महीने बाद राज्य में एक दिन में नए संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या है. इसे पहले दूसरी लहर के दौरान पिछले साल 3 मई को इतनी बड़ी संख्या में मरीज मिले थे. नेशनल कैपिटल में पॉजिटिविटी रेट भी 26% से बढ़कर 29% पर पहुंच गया है. इसका मतलब है कि अब हर तीन टेस्ट पर एक मरीज संक्रमित मिल रहा है. राजधानी में पिछले 24 घंटे के दौरान 31 लोगों की मौत हो गईं, जबकि 22,121 मरीज ठीक हुए.

कर्नाटक में 1 दिन में 25,005 लोग संक्रमित पाए गए, जबकि 2363 लोग ठीक हुए और 8 लोगों की मौत हो गई. अब तक राज्य में 31.24 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 29.70 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 38,397 लोगों की मौत हो गई.

उधर, पश्चिम बंगाल में गुरुवार को 23,467 नए केस मिले हैं. बंगाल में इस दौरान 8139 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 26 लोगों की मौत हो गई है. राज्य का पॉजिटिविटी रेट अब भी 32% पर ही है. राज्य में अब तक कुल 18.41 लाख केस मिले हैं, जबकि 16.89 लाख लोग रिकवर हो चुके हैं.

तमिलनाडु में बीते 24 घंटे के दौरान 20,911 नए मामले सामने आए, जबकि 6235 मरीज ठीक हुए और 25 लोगों की मौत हुई. अब तक राज्य में 28.68 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 27.27 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 36,930 लोगों की मौत हो गई. यहां एक्टिव केस की संख्या 1 लाख के पार पहुंच गई है. अब कुल एक्टिव केस 1,03,610 हैं. तमिलनाडु में पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 13% हो गया है.

चुनावी राज्य उत्तर प्रदेश में गुरुवार 13 जनवरी को 14,735 लोग संक्रमित पाए गए. राज्य में 1062 लोग ठीक हुए और 6 मौत दर्ज की गई. अब तक राज्य में 17.85 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 16.91 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 22,946 लोगों की मौत हो गई.

गुजरात में भी एक दिन में यानी गुरुवार 13 जनवरी को 10 हजार से ज्यादा मामले सामने आए. राज्य में 11,176 लोग संक्रमित पाए गए, जबकि 4285 ठीक हुए और 5 लोगों की मौत हुई है. अब तक राज्य में 8.95 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 8.36 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 10,142 लोगों की मौत हो गई. गुजरात में कुल 50,612 मरीजों का अभी इलाज चल रहा है.


 वीडियो देखें | दुनियादारी: चीन की जीरो ‘कोविड पॉलिसी’ की असली कहानी कुछ और ही है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"