Submit your post

Follow Us

'जवाद तूफान' को लेकर देश के इन हिस्सों में अलर्ट जारी, राज्यों की क्या तैयारी है?

मौसम विभाग (IMD) ने चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ (Cyclone Jawad) को लेकर चेतावनी जारी की है. विभाग के मुताबिक, यह चक्रवाती तूफान 4 दिसंबर की सुबह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों से टकरा सकता है. विभाग ने बताया है कि तूफान के उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के तटों के टकराने के बाद उत्तर और उत्तरपूर्वी पश्चिम बंगाल की तरफ जाने की आशंका है.

मौसम विभाग ने ये भी बताया कि चक्रवाती तूफान अभी विकसित नहीं हुआ है. विभाग का कहना है कि दक्षिणपूर्वी बंगाल की खाड़ी में 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं और निम्न दबाव धीरे-धीरे विकसित हो रहा है. चक्रवाती तूफान के विकसित होने के बाद ही इसे जवाद नाम से जाना जाएगा. इसे यह नाम सऊदी अरब ने दिया है. ‘जवाद’ अरबी भाषा का शब्द है. इसका अर्थ दयालू या उदार होना होता है. बताया जा रहा है कि यह पहले आ चुके तूफानों के मुकाबले कम खतरनाक होगा.

भारत के पूर्वी तट से टकराने वाला यह इस साल का तीसरा चक्रवाती तूफान होगा. इससे पहले मई में यास और सितंबर में गुलाब नाम के चक्रवाती तूफान पूर्वी तट से टकराए थे.

मौसम विभाग का ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग ने आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है. विभाग का कहना है कि इन राज्यों में भारी बारिश होने की आशंका है. वहीं पश्चिम बंगाल में 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं. विभाग के अनुसार, 6 दिसंबर से बारिश में कमी आएगी. इसी दिन से चक्रवाती तूफान उत्तरपूर्व की तरफ मुड़ जाएगा. इसके कारण असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम के हिस्सों में बारिश हो सकती है.

दूसरी तरफ, तूफान की आशंका के चलते ओडिशा के किसानों ने अपनी फसल समय से पहले काटनी शुरू कर दी है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, किसान ना केवल समय से पहले फसल काट रहे हैं, बल्कि कम कीमत पर बेच भी रहे हैं. ओडिशा में आमतौर पर धान की कटाई दिसंबर के मध्य में शुरू होती है और महीने के आखिर में किसान अपनी फसल मंडियों में बेचते हैं. रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने राज्य में धान खरीद की कीमत 1,940 रुपये प्रति क्विंटल तय की है, लेकिन फिलहाल किसान इसे 900 से 1000 रुपये प्रति क्विंटल के दाम पर बेच रहे हैं.

सरकारों ने शुरू की तैयारियां

इस बीच चक्रवाती तूफान की आशंका को देखते हुए ओडिशा सरकार ने इससे निपटने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं. सरकार ने जहां एक तरफ मछुआरों को समुद्र में जाने से मना किया है, वहीं दूसरी तरफ प्रभावित होने जा रहे इलाकों में रिलीफ टीम और अधियारियों की नियुक्ति की गई है. इसके साथ ही लॉजिस्टिक संबंधी इंतजाम भी किए हैं. वहीं लोगों को भी सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है. राज्य के स्पेशल रिलीफ कमिश्नर पीके जेना ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि कुल 249 टीमों को तैयार रखा गया है. इनमें NDRF की 17, ODRAF की 60 और राज्य अग्निशमन विभाग की 172 टीमें शामिल हैं.

इसी तरह दक्षिण बंगाल में भारी बारिश की आशंका के चलते तैयारियां की गई हैं. पश्चिम बंगाल सरकार ने NDRF और SDRF की दो-दो टीम तैनात करने का फैसला लिया है. इंडियन कोस्ट गार्ड ने भी अपने स्तर पर तैयारियां की हैं.

न्यूज एजेंसी पीटाआई की रिपोर्ट के अनुसार, आंध्र प्रदेश के मुख्यंमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने राज्य के उत्तर में पड़ने वाले तीन तटीय जिलों के अधिकारियों को अलर्ट रहने को कहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, रेड्डी ने श्रीकाकुलम, विजियानगरम और विशाखापट्टनम जिलों के जिलाधिकारियों से बात की है और उन्हें समय रहते तैयारी करने को कहा है. मुख्यमंत्री ने बचाव और राहत कैंप बनाने के भी आदेश दिए हैं. दूसरी तरफ NDRF की तरफ से तमिलनाडु एवं अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी टीमें तैनात की गई हैं. NDRF की तरफ से कुल 62 टीमों की तैनाती की गई है.

इससे एक दिन पहले यानी दो दिसंबर को पूर्व तटीय रेलवे ने चक्रवाती तूफान की आशंका के चलते कुल 95 ट्रेनों को तीन दिन के लिए रद्द कर दिया. वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने एक बैठक में अधिकारियों को जरूरी कदम उठाने के आदेश दिए हैं.


वीडियो- भोपाल गैस कांड को लेकर 2004 में क्या अहम खुलासे हो गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?