Submit your post

Follow Us

टीम से बाहर बैठे ऋषभ पंत ने टीम इंडिया से वर्ल्ड कप को लेकर एक जरूरी बात कही है

5
शेयर्स

30 मई से वर्ल्ड कप शुरू हो रहा है. वॉर्मअप मैच खेले जा चुके हैं. भारतीय टीम ने दो प्रैक्टिस मैच खेले. एक न्यूज़ीलैंड से हारी और दूसरा बांग्लादेश को हराया. भारतीय टीम को अपना पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के साथ 5 जून को खेलना है. वर्ल्ड कप में भारतीय टीम बेहतर खेले और वर्ल्ड कप घर लाए, इसको लेकर क्रिकेट फैंस और क्रिकेट एक्सपर्ट टीम को शुभकामनाएं दे रहे हैं. इसी कड़ी में विस्फोटक विकेटकीपर बैट्समेन ऋषभ पंत ने भी टीम इंडिया से कुछ कहा है. उन्होंने ट्वीट करके कहा-

“देश के लिए ब्लू जर्सी पहनने से बेहतर फीलिंग और कुछ भी नहीं हो सकता है. टीम इंडिया हर मैच जीते, ऐसी तमन्ना है. वर्ल्ड कप ट्रॉफी लेकर टीम घर लौटे!!  गुड लक इंडिया. जय हिंद.”

ट्वीट देखिए.

वर्ल्ड कप के लिए जिन 15 खिलाड़ियों को चुना गया था, उस लिस्ट में ऋषभ पंत नहीं थे. जबकि पंत वर्ल्ड कप टीम में चुने जाने के प्रबल दावेदारों में से थे. पंत को टीम में जगह नहीं मिलने पर फैंस और क्रिकेट एक्सपर्ट चौंक गए थे. वर्ल्ड कप में न चुने जाने को लेकर स्पोर्ट्स तक से बातचीत करते हुए पंत ने कहा था-

मैं निराश था. जो भी खिलाड़ी क्रिकेट खेलता है उसका सपना होता है वर्ल्ड कप खेलना. वर्ल्ड कप में जाता तो अलग ही अनुभव होता. निराश था लेकिन क्रिकेटर और प्रोफेशनल होने के नाते मुझे पता है कि उस चीज़ से निराश होकर कुछ नहीं होने वाला है. ऐसे में आगे देखा और आगे जो भी मैच हैं उसमें बेहतर परफॉर्म करने को देख रहा हूं. इसी पर फोकस है. आप निराश होते हैं लेकिन अगर आप आगे की ओर नहीं देखेंगे तो और ज्यादा मुश्किल होगी.


वीडियो- वर्ल्ड कप से पहले श्रीलंका के ओपनर सनथ जयसूर्या की एक्सीडेंट में खत्म होने की खबर वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?