Submit your post

Follow Us

कोरोना के आइसोलेशन वॉर्ड में सोशल डिस्टेंसिंग का अब्बा-डब्बा-जब्बा कर दिया

2 अप्रैल की दोपहर दो तस्वीरें वायरल होनी शुरू हुईं. तस्वीरों में क्या था?

तस्वीरों में था एक हॉस्पिटल का बड़ा सा वॉर्ड और वॉर्ड में नमाज़ पढ़ते तमाम लोग. कहा गया कि ये लोग कोरोना वायरस के संदिग्ध हैं, जिन्हें इस क्वारंटीन वॉर्ड में रखा गया है. लेकिन आइसोलेशन को फॉलो करने की बजाय ये लोग साथ जुटकर नमाज़ पढ़ने लगे. हमने पता लगाया, तो फोटो की हकीकत पता चली.

तस्वीर सच्ची है.

तस्वीर कहां की है – हैदराबाद के गांधी हॉस्पिटल की. (तेलंगाना)

कब की है – 2 अप्रैल, 2020. दिन गुरुवार.

ये लोग कौन हैं – कोरोना वायरस संदिग्ध. कहा जा रहा है कि ये लोग दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम में गए थे. इसीलिए अब इन्हें क्वारंटीन में रखा गया है

क्या ये आइसोलेशन वॉर्ड है – हां.

हालांकि अभी ये पूरी तरह स्पष्ट नहीं है कि नमाज़ पढ़ते ये सभी तबलीग़ी जमात में शामिल हुए लोग हैं या दूसरे भी हैं.

दरअसल तेलंगाना से करीब 1200 लोगों ने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए उस कार्यक्रम में शिरकत की थी. इनमें से 700 लोगों को अलग-अलग हॉस्पिटल में क्वारंटीन किया गया है. इनमें से अब तक 50 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं.

इतनी बड़ी संख्या में संदिग्धों के सामने आने के बाद तेलंगाना भी कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट बनता जा रहा है. हॉट स्पॉट मतलब वो जगह, जहां से किसी बीमारी के ज़्यादा केस सामने आ रहे हैं. राज्य के मुख्यमंत्री ने अपील की है कि जो लोग तबलीग़ी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे, वे ख़ुद आगे आकर अपनी जांच करा लें.

देश में पिछले 12 घंटे में 100 से ज़्यादा COVID-19 केस सामने आ चुके हैं.


कोरोना से बचने के लिए मास्क लगाने की ज़रूरत कब और किसे है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

90 साल की कोरोना पेशेंट ने वेंटिलेटर लगाने से मना कर दिया, वजह दिल छू लेगी

करीब 10 दिन स्ट्रगल करने के बाद उनकी मौत हो गई.

अब AIIMS के सीनियर डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं

1 अप्रैल को दिल्ली के स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट में काम करने वाली डॉक्टर संक्रमित पाई गई थी

तबलीगी जमात मामले में दर्ज हुई FIR में क्या लिखा है, किन लोगों का नाम हैं?

तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद की तलाश जारी है.

14 अप्रैल के बाद ट्रैवल करना है तो टिकट बुक कर सकते हैं या नहीं, रेलवे ने बताया

भारतीय रेलवे ने मामले को लेकर सफाई दी है.

तबलीगी जमात में शामिल होने वालों से 9000 लोगों को कोरोना वायरस का ख़तरा

मरकज से लौटे लोगों के संपर्क में जो भी लोग आए हैं उन्हें खोजा जा रहा है.

वर्ल्ड कप 2011 वाली धोनी की आइकॉनिक फोटो पर गौतम गंभीर क्यों किलस गए?

क्रिकेट फैंस ने घेर लिया.

लॉकडाउन: ड्यूटी से लौट रहे डॉक्टर को पुलिसवालों ने पीटा

आईकार्ड दिखाने के बाद भी नहीं माने.

कोरोना वायरस के बहाने परिवार ने दिव्यांग के साथ जो किया, वो दिल दुखाने वाला है

मामला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का है.

तबलीगी जमात के जलसे पर एआर रहमान, नवाज़ुद्दीन और जावेद अख्तर ने क्या कहा?

तबलीगी जमात भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का हॉट स्पॉट बन गया है.

तीन महीने की EMI टालने की सोच रहे हैं ये बातें जान लीजिए

मोराटोरियम की वजह से आपको घाटा होगा या फायदा.