Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन खत्म होने की उम्मीद में हज़ारों मजदूर रेलवे स्टेशन पहुंच गए

14 अप्रैल को मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर हज़ारों प्रवासी मजदूर जमा हो गए. उन्हें लग रहा था कि लॉकडाउन खुल जाएगा ,तो वे ट्रेन में बैठकर अपने घर लौट जाएंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. पीएम मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. इन मजदूरों को स्टेशन के पास से हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया.

पत्रकार पद्मजा जोशी का यह वीडियो ट्वीट देख सकते हैं.

पुलिस की कार्रवाई के बाद भीड़ अलग-थलग हो गई. इंडिया टुडे में छपी ख़बर मुताबिक़, स्थानीय नेताओं का कहना है कि लोगों को समझाया जा रहा है कि उन्हें यहां कोई दिक्कत नहीं होगी. हर संभव मदद की जाएगी.

पुलिस अधिकारी ने इंडिया टुडे से बात करते हुए बताया-

ये लोग दिहाड़ी मजदूर हैं. यहां 3 बजे करीब हज़ार से ज्यादा लोग जमा हो गए थे. ये लोग पटेल नगरी के आस पास के स्लम में रहते हैं. इनकी मांग थी कि इन्हें ट्रांसपोर्ट सुविधा मिले ताकि ये अपने घर लौट सकें. ये लोग मूलतः बंगाल और उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे.

शिवसेना ने केंद्र पर आरोप लगाया

पूरे मामले पर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने केंद्र पर आरोप लगाया है, उन्होंने ट्वीट किया,

बांद्रा स्टेशन से अब मजदूरों को हटा दिया गया. हाल ही में सूरत में कुछ मजदूरों ने दंगा किया था. केंद्र सरकार उन्हें घर पहुंचाने को लेकर फैसला नहीं ले सकी है. प्रवासी मजदूर खाना और शेल्टर नहीं चाहते हैं, वे घर जाना चाहते हैं.

जिस दिन से ट्रेन को बंद किया गया उसी दिन हमने अगले 24 घंटे ट्रेन चलाने की गुजारिश की थी ताकि प्रवासी मजदूर घर पहुंच सकें. सीएम उद्धव ठाकरे ने भी पीएम मोदी से इस मसले को लेकर बात की थी. अभी 6 लाख से ज्यादा लोगों को महाराष्ट्र के कई शेल्टर कैंपों में रखा गया है. 

इसी तरह सूरत के वराछा इलाके में भी 14 अप्रैल को करीब 500 मजदूर जमा हो गए. ये मजदूर सूरत की टेक्स्टाइल कंपनियों में काम करते हैं. उनकी मांग थी कि उन्हें उनके गांव जाने दिया जाए.

इन मजदूरों का कहना था कि सरकार इनकी जांच करवाकर उन्हें उनके गांव भेज दे. हालांकि, पुलिस ने इनकी मांगों को मानने से इनकार कर दिया.


विडियो- लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाया गया, पर PM मोदी ने 20 अप्रैल के बाद छूट देने की बात क्यों कही?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?