Submit your post

Follow Us

तबलीगी जमात में शामिल होने वालों से 9000 लोगों को कोरोना वायरस का ख़तरा

नई दिल्ली के निज़ामुद्दीन इलाके में हुए तबलीगी जमात के एक आयोजन के बाद देशभर में करीब नौ हज़ार लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं. जमात के कार्यक्रम में कम से कम 7600 भारतीय और 1300 विदेशी लोग जुटे थे. इनमें से अधिकतर लोग अब दिल्ली से बाहर हैं. ये देश के अन्य राज्यों में गए हैं. ऐसे में कोरोना के फैलने का खतरा बढ़ गया है. जमात का यह इवेंट भारत में कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बनकर सामने आया है.

NDTV की रिपोर्ट मुताबिक़, गृह मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार 1 अप्रैल तक कार्यक्रम से लौटे 1,051 लोगों को क्वारंटीन किया गया है. 21 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. दो की मौत हो चुकी है. यहां क्लिक करके विस्तार से पढ़ सकते हैं कि किस राज्य में तबलीगी जमात से जुड़े कितनों लोगों की पहचान की गई है.

क्या है मामला?

मार्च में दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आलमी मरकज़ बंगले वाली मस्जिद में एक धार्मिक कार्यक्रम हुआ था. इसमें देश के कई राज्यों और विदेश से लोग आए. हज़ारों लोग. कार्यक्रम के बाद सब लोग अपने-अपने ठिकाने लौट गए. अब इसमें शामिल हुए सैकड़ों लोगों को कोरोना वायरस इंफेक्शन होने का पता चला है. चूंकि कई लोग दिल्ली से अन्य राज्यों के लिए निकल गए थे तो ऐसे में उन्हें खोजा जा रहा है ताकि उन्हें क्वारंटीन किया जा सके. इन लोगों के संपर्क में जो भी लोग आए हैं उन्हें भी खोजा जा रहा है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के सात लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. 47 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोना ट्रैकर


विडियो- तकरीर के नाम पर जाहिलियत परोस रहे तबलीगी जमात के मौलाना साद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डॉक्टरों ने कहा- क्वारंटीन करना पड़ेगा, तो पूरे मोहल्ले ने पत्थर मारते हुए दौड़ा लिया

ये हाल उस शहर का है, जहां से एक दिन में 13 केस आए हैं.

मरकज में पहुंचे लोगों ने हर राज्य में कोरोना वायरस के मामले बढ़ा दिए हैं

तबलीगी जमात में शामिल होने के बाद लोग अलग-अलग राज्यों के लिए रवाना हो गए थे.

कोरोना वायरस से पद्म श्री अवॉर्डी की मौत, विदेश से लौटने के बाद कई धार्मिक सभाएं की थीं

गोल्डन टेंपल के पूर्व रागी थे निर्मल सिंह.

कोरोना के मरीज़ों के लिए महिंद्रा ने जो सस्ता वेंटिलेटर बनाया, उसका डिज़ाइन चोरी किया हुआ है!

इसे सबसे पहले बनाने वाले डॉक्टर क्या कह रहे?

जयपुर: एक शख्स से मोहल्ले के 26 लोगों को कोरोना वायरस इंफेक्शन हो गया

18 दिन पहले ओमान से लौटा था शख्स.

कोरोना से लड़ने के लिए अजीम प्रेमजी ने अब सच में बहुत बड़ी रकम डोनेट कर दी है

डोनेशन की भ्रामक अफवाहों के बीच अब असली खबर आई.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, बिना हमसे जांच कराए कोरोना की कोई ख़बर न छपे

कहा कि इससे लोग डर सकते हैं.

कोरोना: तबलीगी जमात ने दिखाई पुलिस-प्रशासन को लिखी पुरानी चिट्ठी

तबलीगी ज़मात की सफ़ाई क्या है? दस्तावेज़ क्या कहते हैं?

जिस चीज़ की ज़रूरत डॉक्टरों को सबसे पहले होती है, सरकार उसे अब मंगा रही है

15 भारतीय कंपनियों ने क्वालिटी टेस्ट पास कर लिया है.

इस रीसर्च की मानें तो भारत में लॉकडाउन 49 दिनों तक बढ़ सकता है!

और फ़ायदा क्या होगा?