Submit your post

Follow Us

मजदूरों के ट्रेन टिकट को लेकर सोनिया गांधी ने बड़ा ऐलान कर दिया है

लॉकडाउन का तीसरा फेज़ 4 मई से शुरू हो चुका है. 25 मार्च से जारी लॉकडाउन का सबसे बुरा असर दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ा है. वो अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं. और अपने-अपने गांव लौटने का इंतज़ार कर रहे हैं. इन मजूदरों के लिए शुरुआत में कुछ राज्यों ने बसें चलवाई थीं. अब भारत सरकार ने इन्हें घर भेजने के लिए श्रमिक ट्रेन चला रही है. लेकिन इसमें भी एक पेच है.

रेलवे ने कहा है कि जिन राज्यों से ट्रेन जानी है, वहां की राज्य सरकार यात्रियों की संख्या बताएगी, जो कि एक ट्रेन के लिए लगभग 1200 (या 90 फीसदी) होना चाहिए. इस संख्या के आधार पर जिस जगह जाना होगा, रेलवे वहां के लिए टिकट जारी करेगी और उन्हें उस राज्य सरकार को दिया जाएगा, जहां से ट्रेन चलनी है. स्थानीय अधिकारी यात्रियों को टिकट देंगे. उनसे पैसे इकट्ठा करेंगे और रेलवे को देंगे.

यानी मजदूरों से ट्रेन का किराया वसूला जाएगा.

इसे लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है, साथ ही बड़ा ऐलान कर दिया है. उन्होंने कहा,

“मजदूर हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं. उनकी मेहनत से हमारे देश की नींव बनती है. इसलिए कांग्रेस ने फैसला किया है कि हर राज्य की प्रदेश कांग्रेस कमिटी अपने प्रदेश के प्रवासी मजदूरों की यात्रा का खर्च उठाएगी. ये भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से एक छोटी सी मदद है. हम मजदूरों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं.”

इस मुद्दे पर केंद्र को घेरते हुए सोनिया गांधी ने कहा,

“लेकिन सरकार की जिम्मेदारी क्या है? लाखों मजदूर देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हुए हैं. और अपने घर लौटना चाहते हैं. लेकिन उनके पास न पैसे हैं और न ही मुफ्त में यात्रा करने की सुविधा. यह परेशान करने वाला है कि केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय इस मुश्किल वक्त में भी उनसे टिकट के पैसे वसूल रही है.”

देखिये भारत में कोरोना कहां-कहां और कितना फैल गया है.


वीडियो देखें: पंजाब के CM ने नांदेड़ से आए मज़दूरों के टेस्ट के बारे में क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.

यूजीसी ने बताया, इन तारीखों को और इस तरह होंगे यूनिवर्सिटी के एग्जाम

जिन बच्चों के पेपर अटके हुए हैं, उनका साल बर्बाद न हो, इसकी पूरी व्यवस्था है.

आतंकियों को हथियार पहुंचाने में BJP का पूर्व नेता पकड़ाया, पार्टी ने कहा 'बैकग्राउंड पता नहीं था'

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #BJPwithTerrorists.

मज़दूरों को अपने राज्य ले जाने वाली पहली ट्रेन चल पड़ी है

केंद्र ने तो बस की बात की थी, फिर ये कैसे मुमकिन हुआ?