Submit your post

Follow Us

कांग्रेस की सभा में खाली कुर्सी की फोटो ले रहे पत्रकार को कांग्रेसियों ने पीट दिया

5
शेयर्स

तमिलनाडु से ख़बर आई है. सबूत के तौर पर एक वीडियो भी. कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एक फोटो जर्नलिस्ट को सिर्फ इसलिए पीट दिया क्योंकि वो पार्टी मीटिंग में खाली कुर्सियों की तस्वीर ले रहा था.

चुनाव का समय है. सब जानते हैं. नेता लोग बिजी हैं, नेता से ज़्यादा कार्यकर्ता बिजी हैं. नेता ऐसे हो गए हैं कि आलोचना या फेल्योर का सामने आना बर्दाश्त नहीं कर पाते, यही बात कार्यकर्ताओं पर भी लागू होती है. राजा एक फूल तोड़ता है तो फौज बाग़ उजाड़ देती है, वैसा ही कुछ इस बार भी नज़र आया

इसी का सड़ियल नमूना हमें नज़र आया तमिलनाडु में. 6 अप्रैल की बात है. विरुधुनगर जिले में एक पार्टी मीटिंग शुरू होने वाली थी. कांग्रेस की. वहां एक फोटो जर्नलिस्ट मौजूद थे. आरएम मुथुराज नाम था उनका. मुथुराज एक साप्ताहिक पत्रिका के लिए काम करते हैं. खाली कुर्सियों की फोटो ले रहे थे. पंजा छाप पार्टी के कार्यकर्ताओं को गुस्सा आ गया. हाथ खोल दिए. पत्रकार को मारने लग गए. बाकी के पत्रकार बीच में आए. फोटोजर्नलिस्ट को बचाया.

मुथुराज को इतना पीटा गया कि उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. पुलिस में कांग्रेस वालों की कंप्लेन हुई है. मामला दर्ज हुआ है.

अब मतलब की बात सुनिए. राहुल गांधी की तस्वीरें आती हैं. पत्रकार गिर जाते हैं तो उठाने चल देते हैं. गाड़ी में बैठाते हैं. माथा पोंछते हैं. बारंबार. फुटेज बनवाते हैं. वीडियो टीवी पर चलती है.

ऐसा ही उनकी बहन करती हैं. वायनाड में पत्रकार बेहोश हो गए तो प्रियंका पत्रकार का जूता उठाए नज़र आईं थी. सोशल मीडिया पर खूब तारीफ़ हुई. फिर आते हैं इनके कार्यकर्ता. जो पत्रकारों के लिए इतने हिंसक हो पड़ते हैं.

वायनाड में घायल पत्रकार के जूते के साथ प्रियंका
वायनाड में घायल पत्रकार के जूते के साथ प्रियंका

खाली कुर्सियों की तस्वीरों की अलग पॉलिटिक्स है. सोशल मीडिया पर हर पार्टी वाले दूसरी पार्टी की खिल्ली उड़ाने के लिए ऐसी तस्वीरें डालते हैं, जिनमें कुर्सियां खाली हों. ऐसा करके वो ये दिखाना चाहते हैं कि सामने वाली पार्टी को जनसमर्थन नहीं मिल रहा. ऐसी कई तस्वीरें असली होती हैं, कई नकली और कई ऐसी जो अलग एंगल से खींची जाती हैं. ताकि भीड़ नज़र न आए. ये सोशल मीडिया पर होता आया है और इसे कोई कैसे ही रोक लेगा. अगर फोटोजर्नलिस्ट को खाली कुर्सी दिखेगी तो वो फोटो खींचेगा ही, आपका काम भीड़ जुटाना है. वो करो.

नमूना देखिए. एक कांग्रेस की खाली कुर्सी बताई जा रही है.
congress khali kursi

अगली तस्वीर बीजेपी की खाली कुर्सियों की बताई जा रही है. ऐसी पोस्ट्स काफी आम हैं.

BJP KHAALI KURSI

इन आम सी तस्वीरों को पब्लिक तक आने से रोकने के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ता इतने चिंतातुर हुए कि पत्रकार पर हाथ उठा दिया. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा अब किस भांति पत्रकारों के हितैषी दिखना चाहेंगे? आपकी पार्टी किस लाइन पर जा रही है. ये नेताओं और कार्यकर्ताओं के आचरण से भी नज़र आता है. और यहां तो सीधा-सीधा अपराध हुआ है. इस अपराध से कांग्रेस कैसे पिंड छुड़ाएगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Congress party workers beat up Tamil weekly magazine photo journalist for taking photos of empty chairs at party meeting

क्या चल रहा है?

भारत के खिलाफ टेस्ट मैच खेलकर रिटायरमेंट लेंगे क्रिस गेल

पहले कहा था वर्ल्ड कप खेल रिटायरमेंट ले लूंगा.

किस कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने मुसलमानों पर घटिया टिप्पणी की थी?

मामला शाहबानो और भारत के प्रधानमंत्री से जुड़ा हुआ है.

वीडियो बनाकर राजस्थान सरकार को कोसते हुए आत्महत्या करने वाले किसान की पूरी कहानी

आत्महत्या करने की पूरी वजह भी पता चली है, खुद किसान के भाई ने बताई.

'कबीर सिंह' की स्क्रीनिंग रोकने के लिए डॉक्टर स्वास्थ्य और सूचना-प्रसारण मंत्रालय तक पहुंच गए

इस सब का कलेक्शन पर कोई असर नहीं पड़ा रहा है. फिल्म 100 करोड़ पार.

दिल्ली में बहू बल्ब निकाल लेती थी, ससुर ने गला रेता और खून से लथपथ थाने पहुंच गया

ससुर ने क़त्ल करने का जो कारण बताया वो शॉक करता है.

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के विधायक पुत्र ने बैट से अधिकारी को पीटा

और ये लोग पश्चिम बंगाल में हिंसा के लिए ममता बनर्जी सरकार को गरियाते हैं...

टिकटॉक वीडियो बनाने के चक्कर में गर्दन टूटी, जान चली गई

चेतावनी: इस वीडियो को देखकर आप सिहर सकते हैं.

बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले पायलट बोले, सिर्फ 90 सेकेंड का खेल था

ये भी बताया कि जानबूझ कर लंबा रास्ता क्यों चुना था और अपनी फैमिली से कैसे छुपाया पूरा ऑपरेशन.

भारत से हार के बाद सुसाइड करना चाहता था: पाकिस्तान कोच मिकी आर्थर

वर्ल्ड कप में बने रहने के लिए पाकिस्तान को अगले तीनों मैच जीतने होंगे.

दाइतारी ने कहा - चींटी के अंडे खाने, पद्मश्री लौटाने की बात नहीं कही, लेकिन सरकार से नाराजगी है

जानिए, सरकारों से क्यों नाराज हैं पद्मश्री पाने वाले दाइतारी नायक.