Submit your post

Follow Us

शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के इस नेता ने सोनिया गांधी को लेटर लिखा

महाराष्ट्र में किसकी सरकार बनेगी? रिजल्ट आने के बाद से ही राजनीतिक पार्टियों और जनता के लिए ये सबसे बड़ा सवाल बन गया है. बीजेपी और शिवसेना ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. जनता ने उन्हें वोट दिया. इतने विधायक जीतवाए कि दोनों पार्टियां मिलकर सरकार बना सकें. लेकिन रिजल्ट आने के बाद सीएम कौन बनेगा. इस पर बात बन नहीं पा रही है. शिवसेना बीजेपी को 50-50 फॉर्मूले की याद दिला रही है. सीएम पोस्ट मांग रही है. देवेंद्र फडणवीस कह चुके हैं कि सीएम तो बीजेपी का ही होगा. और वो मैं हूं.

जैसे-जैसे वक्त बीत रहा है दोनों पार्टियों के बीच तल्खी और बढ़ रही है. राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की बात हो रही है. वहीं शिवसेना के नेता एनसीपी से मिल रहे हैं. इस बीच कांग्रेस के सीनियर नेता और सांसद हुसैन दलवई ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष को लेटर लिखा है. उन्होंने शिवसेना के साथ मिलकर राज्य में सरकार गठन की संभावना तलाशने की बात कही है.

क्या लिखा है लेटर आप खुद ही पढ़ लीजिए.

मैं यह लेटर महाराष्ट्र में वर्तमान राजनीतिक हालात पर अपनी विनम्र राय व्यक्त करने के लिए लिख रहा हूं. बीजेपी और शिवसेना दोनों पार्टियां सरकार बनाने के लिए एक साथ आने को लेकर संघर्ष कर रही हैं. कांग्रेस के समर्थकों के कुछ वर्गों, जिनमें अल्पसंख्यक समुदायों के समर्थक शामिल हैं, का मानना ​​है कि कांग्रेस और हमारी सहयोगी एनसीपी को शिवसेना के साथ सरकार बनाने की संभावना पर विचार करना चाहिए. अतीत में भी, कई अवसरों पर शिवसेना ने हमें समर्थन दिया है. चाहे प्रतिभा पाटिल हो या प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति पद के नामांकन के समय की बात हो, शिवसेना ने हमारा साथ दिया था.

जैसा कि आप अच्छी तरह से जानती हैं, विधानसभा चुनावों में, हमारे कई विधायकों और अन्य राजनीतिक नेताओं पर बीजेपी ने डोरे डाले थे. अगर वे सरकार बनाने में सक्षम होते हैं, तो वे फिर से और अधिक सख्ती के साथ ऐसा करना शुरू कर देंगे. लेकिन अगर हम शिवसेना के साथ सरकार बनाने में सक्षम हैं, तो इसे रोका जा सकता है. इससे हम अपने आधार को मजबूत कर पाएंगे.

विशेष रूप से, महाराष्ट्र में अल्पसंख्यक समुदाय लिंचिंग के प्रति बीजेपी सरकार के रुख को लेकर अतिसंवेदनशील हैं. देश भर में एनआरसी को लागू करने करने की बात हो रही है. शिवसेना को बीजेपी की तरह नहीं देखा जाना चाहिए. हालांकि उन्होंने अतीत में एक साथ सत्ता साझा की है. लेकिन हमारे लिए एक अवसर है कि हम फिर से ऐसा होने से रोक सकते हैं.

हमें याद रखना चाहिए कि बीजेपी ने लगातार एक राष्ट्र, एक नेता, एक पार्टी, एक धर्म के आरएसएस के सिद्धांत का पालन किया है. लेकिन शिवसेना का हाल ही में अधिक समावेशी रुख देखा गया है. इसलिए भाजपा को सत्ता में आने से रोकना जरूरी है, क्योंकि मतदाताओं ने भी उन्हें स्पष्ट बहुमत से वंचित कर दिया है. क्या ऐसा होना चाहिए, इससे हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं में मजबूती आएगी और पार्टी के भीतर विभिन्न गुटों को एक साथ लाने में भी मदद मिलेगी. हालांकि, हमारी सहयोगी एनसीपी को पूर्ण विश्वास में लेने के बाद इस तरह का कोई भी निर्णय लिया जाना चाहिए.

मैं यह भी बताना चाहूंगा कि मैं महाराष्ट्र में नागरिकों की इच्छाओं को सामने लाने के अलावा यहां कुछ हासिल करने की कोशिश नहीं कर रहा हूं. मुझे उम्मीद है कि यहां व्यक्त की गई राय आपको एक निर्णय पर पहुंचने में मदद करेगी, जो पार्टी और महाराष्ट्र के लोगों के हित में होगा.


ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलिमीन AIMIM के लिए ये चुनाव कैसा रहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?