Submit your post

Follow Us

कोरोना से कांग्रेस सांसद की मौत, संसद में कोरोना पर दिए गए उनके भाषण का वीडियो वायरल

कांग्रेस सांसद एच वसंत कुमार का 28 अगस्त को कोरोना वायरस से निधन हो गया. 70 साल के वसंत कुमार 10 अगस्त से अस्पताल में भर्ती थे. उनकी हालत काफी नाज़ुक थी. वे तमिलनाडु की कन्याकुमारी सीट से सांसद चुने गए थे. वे देश के पहले सांसद हैं जिनकी मौत कोरोना के चलते हुई है. निधन के बाद वसंतकुमार का लोकसभा में दिया उनका एक भाषण काफी वायरल है. इसमें वे कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने और जरूरतमंदों की मदद करने की मांग उठाते सुनाई देते हैं. वीडियो में दिखाई देता है कि जब वे कोरोना को लेकर बोल रहे थे, तब तय समय से ज्यादा लेने पर उनका माइक बंद कर दिया गया था.

कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया वीडियो

यह वीडियो कांग्रेस से जुड़े नीरज भाटिया ने ट्वीट किया है. इसके साथ उन्होंने लिखा,

20 मार्च को कन्याकुमारी सांसद वसंतकुमार ने लोकसभा में अपने भाषण में कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग रखी थी. उन्होंने दिहाड़ी मजदूरों को सीधे फायदा पहुंचाने और छोटे उद्योगों की मदद के बारे में भी बात की थी. कुछ सेकंड बाद ही हंसी-ठहाकों के जरिए उनके बोलने में व्यवधान डाला गया.

क्या था वसंतकुमार ने

वीडियो के अनुसार, एच वसंतकुमार ने अपने भाषण में कहा था,

स्पीकर महोदय,

कोरोना वायरस से पूरे देश पर असर पड़ रहा है. इसलिए हमें इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करना चाहिए. कमाई न होने के लोन चुकाने पर असर पड़ेगा. मैं सरकार से अपील करता हूं कि वह छोटे कारोबारियों और उद्योगों को लोन चुकाने में कम से कम तीन महीने की राहत दे.

दिहाड़ी मजदूरों पर बुरा असर पड़ा है. मैं सरकार से निवेदन करता हूं कि वह ऐसे प्रत्येक परिवारों को कम से कम 2000 रुपये दे.

इसी दौरान लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला तृणमूल सांसद सौगत राय को बोलने के लिए खड़ा होने को कहते हैं. लेकिव वसंतकुमार एक मिनट मांगते हुए कहते हैं कि सरकार को जीएसटी में भी राहत देनी चाहिए. इसके बाद लोकसभा स्पीकर कहते हैं, ‘माइक बंद’ हालांकि वसंतकुमार समय मांगते सुनाई पड़ते हैं, लेकिन स्पीकर सौगत राय को बोलने को कह देते हैं.

सेल्समैन से बिजनेसमैन और फिर सांसद

वसंतकुमार राजनीति के साथ ही बिजनेस में भी सक्रिय थे. उन्होंने करियर की शुरुआत एक सेल्समैन के रूप में की थी. बाद में उन्होंने खुद का बिजनेस खोल लिया था. उनका वसंत एंड कंपनी नाम से घरेलू उपकरणों का कारोबार था. वसंत टीवी नाम से उनका एक चैनल भी आता था. वे अपने पीछे पत्नी, दो बेटे और एक बेटी को छोड़ गए. वे पहली बार सांसद बने थे और तमिलनाडु कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष भी थे. सांसद बनने से पहले वे दो बार नांगुनेरी सीट से विधायक चुने गए थे.

कई नेताओं ने दी श्रद्धाजंलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने उनके निधन पर शोक जाहिर किया. पीएम मोदी ने लिखा,

लोकसभा सांसद एच वसंत कुमार के निधन पर दुखी हूं. कारोबार में उनकी प्रगति और सामाजिक सेवा के उनके प्रयास उल्लेखनीय हैं. जब भी मेरी उनसे बात होती तो मैं हमेशा तमिलनाडु के विकास के प्रति उनके जज्बे को देखता. उनके परिवार और समर्थकों को सांत्वना. ओम शांति.

राहुल गांधी ने लिखा,

कन्याकुमारी सांसद एच वसंतकुमार की कोरोना के चलते असामयिक मौत एक सदमे की तरह है. लोगों की सेवा करने की कांग्रेस विचारधारा के प्रति उनका दृढ़ निश्चय हमेशा हमारे दिलों में रहेगा. उनके दोस्तों और परिवार को दिल से सहानुभूति.

तमिलनाडु भी कोरोना के चलते काफी प्रभावित हुआ है. राज्य में अभी तक कोरोना के करीब साढ़े तीन लाख मामले आ चुके हैं. यहां पर इस वायरस की वजह से 7050 लोगों की जान गई है.


Video: फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा लिए प्रमोट करने पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?