Submit your post

Follow Us

क्या इन्हें पहले से पता था कि यस बैंक के साथ 'बुरा' होने वाला है? ये ट्वीट्स तो यही कहते हैं

यस बैंक ख़तरे में है. लोग अपने पैसे बचाने के लिए भागमभाग कर रहे हैं. 5 मार्च को RBI ने बैंक के ग्राहकों के लिए निकासी की सीमा तय कर दी थी. बैंक के ग्राहक एक महीने में 50 हज़ार रुपए ही निकाल सकते हैं. RBI ने यस बैंक पर आंशिक रूप से बैन लगा दिया है. लेकिन इसी बीच एक सुगबुगाहट उठ रही है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी समेत कई लोग आरोप लगा रहे हैं कि अडानी ग्रुप और कुछ दूसरों ने खतरे को भांप लिया और समय रहते यस बैंक से पैसे निकाल लिए, या लोगों को पैसे जमा करने से मना कर दिया. इन लोगों का कहना है कि लगता है कि सूचना लीक की गई.

महज संयोग?

5 मार्च को RBI की तरफ से निकासी की लिमिट तय की गई. सवाल उठाने वालों का कहना है कि इससे ठीक पहले पैसे बचाने को लेकर कुछ लोगों ने जैसी तेजी दिखाई, उससे शक पैदा होता है. एक मैसेज चल रहा है, जिसे कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी की तरफ से शेयर किया गया. आरोप है कि अडानी ग्रुप की गैस कंपनी ने लोगों को करीब एक महीने पहले ही गैस का बिल यस बैंक में जमा ना करने को कह दिया था. वहीं, वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की एक कंपनी ने एक दिन पहले 265 करोड़ रुपए निकाल लिए. लोगों का कहना है कि क्या इन्हें पहले से इस बारे में जानकारी थी. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने ट्वीट करते हुए कहा- मिस्टर अडानी और वडोदरा स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉरपोरेशन का संयोग?

मैसेज में क्या है?

अडानी ग्रुप का जो मैसेज सर्कुलेट हो रहा है, वो 25 फरवरी, 2020 का है. इसमें लिखा है कि ग्राहक यस बैंक के ड्रॉप बॉक्स में चेक ना डालें. मैसेज कहता है,

प्रिय ग्राहकों, अडानी गैस बिल बिल पेमेंट के चेक यस बैंक के ड्रॉप बॉक्स में ना डालें, क्योंकि हमने यस बैंक के साथ ये सुविधा खत्म कर दी है. आप ऐक्सिस, IDBI, ICIC, कालूपुर बैंक और HDFC बैंक के ATM ड्रॉप बॉक्स में चेक डालना जारी रख सकते हैं.

इसमें एक और मैसेज है,

प्रिय ग्राहकों, हम 31 जनवरी 2020 से 3 फरवरी 2020 तक अपने बैकएंड सिस्टम अपग्रेड कर रहे हैं. इस दौरान वेबसाइट, मोबाइल ऐप पर ऑनलाइन सेवाएं और दूसरे डायरेक्ट पेमेंट गेटवे, कैश पेमेंट उपलब्ध नहीं होंगे. असुविधा के लिए हमें खेद है.

मेसेज जो सर्कुलेट हो रहा है. फोटो: Twitter
मेसेज जो सर्कुलेट हो रहा है. फोटो: Twitter

लोगों के सवाल

पत्रकार और पूर्व सांसद शाहिद सिद्दीकी ने लिखा,

ये साफ है कि अडानी-अंबानी और बीजेपी को पीछे से सपोर्ट करने वालों को यस बैंक के डूबने के बारे में पहले से जानकारी थी. वो जहाज के डूबने से पहले ही इससे कूद गए. मिडिल क्लास जाए भाड़ में. उन्हें और अर्थव्यवस्था को डूबने दो.

एक ट्वीट में अडानी ग्रुप पर आरोप लगाते हुए पूछा गया कि उन्हें 10 दिन पहले कैसे पता चला?

गुजरात का मामला

पीटीआई की एक ख़बर के मुताबिक, गुजरात में वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की वडोदरा स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी ने RBI की तरफ से निकासी पर लिमिट लगाने से एक दिन पहले 265 करोड़ रुपए निकाले.

तिरुपति बालाजी ने कई महीने पहले पैसे निकाले

इससे पहले देश के सबसे अमीर मंदिर आंध्र प्रदेश के तिरुपति बालाजी ने अक्टूबर, 2019 में बैंक से 1300 करोड़ रुपए निकाल लिए थे. कहा जा रहा है कि बैंकों की हालत को लेकर मंदिर ट्रस्ट के बोर्ड ने स्थिति को भांप लिया था. इस बारे में मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी को भी जानकारी दी गई थी.


YES Bank के राणा कपूर की कहानी, जिन्होंने नोटबंदी को ‘मास्टरस्ट्रोक’ बताया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.

गुजरात सरकार ने पीएम मोदी की फसल बीमा योजना को सस्पेंड क्यों कर दिया?

मोदी सरकार इस योजना की खूब बातें करती थीं.

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी की हार्ट अटैक से मौत

राजीव त्यागी टीवी का जाना माना चेहरा बन चुके थे.