Submit your post

Follow Us

रामनवमी यात्रा में एक गाने पर हुआ बवाल, पत्थरबाजी

रामनवमी पर झारखंड के दो शहरों में हिंसा हुई. पहले बोकारो और फिर हज़ारीबाग. इससे पहले कि बवाल बढ़े, हजारीबाग में कर्फ्यू लगा दिया गया. वहां रैपिड एक्शन फोर्स भी भेज दी गई. हजारीबाग के पांडू गांव में शुक्रवार को भी झड़प हो गई थी जिसमें एक मौत भी हो गई थी.

रामनवमी पर हर साल जुलूस निकाला जाता है. हजारीबाग में रामनवमी का जुलूस एक दिन बाद निकाला जा रहा था. शनिवार शाम से लेकर रविवार की दोपहर तक कई जुलूस निकाले जाने थे. रविवार सुबह करीब 11 बजे खीरगांव इलाके से जुलूस गुजर रहा था. जिसमें लाउडस्पीकर पर गाने बज रहे थे. गाने ऐसे कि जिनका निचोड़ ये कहता था कि देश में रहेंगे तो सिर्फ़ हिन्दू. ऐसे गानों को सुनकर अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भड़क गए. पहले बहसबाजी शुरू हुई फिर बात पत्थरबाजी तक पहुंच गयी.

हजारीबाग के डिप्टी इन्स्पेक्टर जनरल उपेंद्र प्रसाद ने बताया कि पहले तो लोगों ने गाना बंद करने के लिए कहा. जब दूसरे पक्ष ने गाना बंद नहीं किया तो दोनों गुटों में पत्थरबाजी शुरू हो गई. झड़प देखते ही देखते और हिंसक हो गई. लोगों ने गाड़ियां और दुकानें जलाना शुरू कर दिया.

भीड़ ने रोड के किनारे दर्जनों दुकाने जला डालीं. मस्जिद के पास की भी कुछ दुकानों को निशाना बनाया गया. कईं गाड़ियां भी शिकार हुईं.

हज़ारीबाग के डीआईजी ने बताया कि जुलूस में गाने बजाने पर बैन नहीं है. बस गानों को धीमे आवाज़ में बजना चाहिए था.

कहा जा रहा है कि हिंसी में लोगों की मौत हुई. भैरव गोप, प्रदीप सिंह और अनुज श्रीवास्तव इस हिंसा में शिकार हुए माने जाते हैं. लेकिन पुलिस का कहना है  कि प्रदीप और अनुज की मौत इस हिंसा में नहीं हुई है. गोप की मौत की जांच हो रही है. हजारीबाग के डिप्टी कमिश्नर मुकेश कुमार ने कहा है कि भले ही विवादित गाने ने लोगों को भड़काया हो लेकिन इस घटना के और भी पहलू हैं.

इसके पहले शुक्रवार को बोकारो में बवाल होने के बाद वहां कर्फ्यू लगा दिया गया था. अब दोनों जगह हालात काबू में हैं. सिचुएशन नॉर्मल होने के बाद बोकारो में कर्फ्यू हटा दिया गया.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.