Submit your post

Follow Us

हैदराबाद एनकाउंटर के बीच SC के नए चीफ जस्टिस का बड़ा बयान आया है

हैदराबाद में गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर पर जहां एक तबका ताली बजा रहा है, तो वहीं दूसरा तबका ये भी कह रहा है कि ‘गलत हुआ’. सोशल मीडिया से लेकर हर प्लैटफॉर्म तक, लोगों के बीच बहस हो रही है. इन्हीं बहसों के बीच अब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अरविंद बोवड़े का बड़ा बयान सामने आया है. जोधपुर में एक कार्यक्रम में पहुंचे चीफ जस्टिस ने कहा कि न्याय कभी भी आनन-फानन में किया नहीं जाना चाहिए. अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो अपना मूल चरित्र खो देता है. उनका मूल बयान कुछ इस तरह से है-

देश में हाल की घटनाओं ने नए जोश के साथ पुरानी बहस छेड़ दी है. इसमें कोई शक नहीं है कि आपराधिक न्याय प्रणाली को अपनी स्थिति पर पुनर्विचार करना चाहिए और आपराधिक मामलों को निपटाने में ढिलाई के रवैये में बदलाव लाना चाहिए. लेकिन, मुझे नहीं लगता कि न्याय तुरंत हो सकता है या होना चाहिए और न्याय कभी भी बदला नहीं हो सकता है. मेरा मानना है कि अगर बदले को न्याय समझा जाता है तो न्याय अपना चरित्र खो देता है.

हालांकि, सीजेआई ने अपनी टिप्पणी में कहीं भी हैदराबाद एनकाउंटर मामले का जिक्र नहीं किया है. बावजूद इसके लोग चीफ जस्टिस के बयान को हैदराबाद से जोड़कर देख रहे हैं. जस्टिस बोबड़े जोधपुर, राजस्थान हाई कोर्ट के नए भवन के उद्घाटन समारोह में पहुंचे थे. जहां नए भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया. जोधपुर हाईकोर्ट की बिल्डिंग 22 बीघा क्षेत्र में बनाई गई है. जिसमें चीफ जस्टिस के कोर्ट रूम के साथ कुल 22 कोर्ट बनाए गए हैं.

बाकी आपको ये बता दें कि एडवोकेट जीएस मणि और प्रदीप कुमार यादव ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. याचिका में कहा गया है कि एनकाउंटर में शामिल पुलिकर्मियों के खिलाफ एफआईआर की जानी चाहिए और जांच करके कार्रवाई की जानी चाहिए. इस मामले में कोर्ट 9 दिसंबर को सुनवाई करेगा.

हैदराबाद एनकाउंटर का मामला क्या?

27 नवंबर की रात हैदराबाद की वेटनरी डॉक्टर के साथ चार युवकों ने गैंग रेप करके उसकी हत्या कर दी थी. फिर बलात्कारियों ने महिला के शव को जला दिया था. इस मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया. फिर 6 दिसंबर के दिन पुलिस बचे हुए सबूत की तलाश में चारों को मौके पर लेकर गई, तभी वे भागने की कोशिश करने लगे. उसी बीच उन्होंने पुलिस की बंदूक छीन कर गोलीबारी की. जिसके जवाब में पुलिस ने गोली चलाई और सभी 4 आरोपियों की मौत हो गई.


हैदराबाद एनकाउंटर: रेप के आरोपी पुलिस फायरिंग में मारे गए, लेकिन ये सवाल पीछे छूट गए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!

लॉकडाउन 4.0: सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.

चोटिल बेटे को खटिया पर लादकर 900 किमी दूर घर के लिए निकल पड़ा ये मज़दूर

पंजाब से चला था परिवार, मध्य प्रदेश जाना था.

20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की आख़िरी किश्त में मनरेगा को 40 हजार करोड़, अन्य को क्या मिला?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सात सेक्टर्स के लिए घोषणाएं कीं.