Submit your post

Follow Us

चित्रकूट जेल में फायरिंग, मुख्तार अंसारी के करीबी सहित 2 की हत्या

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जेल में दो गुटों के बीच फायरिंग की रिपोर्ट है. इस फायरिंग में गैंगस्टर मुक़ीम उर्फ़ काला सहित 3 लोगों की मौत हो गई है. आजतक ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि हाल में सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट जेल में शिफ्ट किए गए पूर्वांचल के बड़े गैंगस्टर अंशु दीक्षित ने 14 मई को दोपहर में फायरिंग की. इस फायरिंग में चित्रकूट जेल में बंद मुकीम और मेराज की मौत हो गई. मुकीम उत्तर प्रदेश का इनामी गैंगस्टर था.

प्रशासन क्या कह रहा?

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ जेल में फायरिंग के बाद मौके पर प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ पुलिस टीम पहुंच गई है. इस दौरान अंशु दीक्षित और पुलिस टीम के बीच भी फायरिंग हुई और इसमें अंशु दीक्षित के मरने की ख़बर है. पुलिस अधीक्षक ने न्यूज़ एजेंसी ANI से बताया है-

जेल में कैदियों के बीच फायरिंग हुई, जिसमें मुकीम काला समेत 3 कैदी मारे गए. मुकीम काला ने NIA अफसर तंजील अहमद की दिन दहाड़े हत्या की थी. मुकीम काला पश्चिमी यूपी का गैंगस्टर था.

न्यूज़ एजेंसी ANI का यह ट्वीट देखिए.

आजतक की रिपोर्ट मुताबिक़ चित्रकूट प्रशासन का कहना है कि अंशु दीक्षित ने मुकीम और मेराज अली को मारने के बाद 5 कैदियों को बंधक बना लिया था. इस दौरान जेल प्रशासन ने अंशु से कैदियों को छोड़ने की अपील की, लेकिन अंशु माना नहीं. इस दौरान पुलिस और अंशु के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें अंशु भी मारा गया.

सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट

मामले को लेकर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तत्काल महानिदेशक, कारागार से इस मामले की रिपोर्ट मांगी है. सीएम ने निर्देश दिया है कि अगले 6 घंटे में आयुक्त, चित्रकूट (डी.के. सिंह) पुलिस महानिरीक्षक, चित्रकूट (के. सत्यनारायन) और उप महानिरीक्षक, कारागार मुख्यालय (संजीव त्रिपाठी) की संयुक्त टीम इस घटना की जांच कर रिपोर्ट उपलब्ध कराएंगे.

Chitrakoot Firing

विपक्षी दलों ने योगी सरकार को घेरा

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने मामले को लेकर कहा,

उत्तर प्रदेश में कोई भी, कभी भी, कहीं भी, किसी को भी ठोक सकता है, क्योंकि उत्तर प्रदेश में जंगल और गुंडाराज चल रहा है. यहां पर कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है. जेलों में, जो बड़े-बड़े माफिया बंद हैं, उनके पास जेल के अंदर असलहा पहुंच जाते हैं और गैंगवार हो जाती है. जेल के अंदर भी गैंगवार और जेल के बाहर भी गैंगवार, तो उत्तर प्रदेश में कहां कोई कानून व्यवस्था है, यहां तो सिर्फ जंगलराज चल रहा है.

कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने भी जेल में हुई गोलीबारी को लेकर कहा है-

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जेल के अंदर हुआ शूटआउट, उत्तर प्रदेश में जंगलराज की पराकाष्ठा व्यक्त करने में पूर्ण है. उत्तर प्रदेश सरकार अपना इकबाल खो चुकी है और अपराधी जेल के अंदर हथियार लेकर जा रहे हैं. कोई कानून व्यवस्था नहीं है. एक अपराधी दूसरे अपराधी को मारता है और कहा जा रहा है कि दूसरे अपराधी को पुलिस ने मार कर प्रकरण ही खत्म कर दिया. सुबूत नष्ट कर दिए. यह क्या हो रहा है उत्तर प्रदेश में?

उन्होंने आगे कहा कि क्या अपराधी,अपराधी को मार देगा? क्या अब सजाएं, अदालत नहीं अपराधी देंगे? यह सब चीजें उत्तर प्रदेश में शासन के इकबाल के अस्त होने का संकेत है. प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सरकार को इस तरीके से शासन करने का कोई हक नहीं है. जिस तरीके से उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था है, यह जंगलराज की पराकाष्ठा है.

गैंगस्टर्स के बारे में जानते जाइए

2014 में हुई थी अंशु की गिरफ़्तारी

अंशु दीक्षित 2014 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए काफी सिरदर्द बना गया था. सीतापुर निवासी अंशु दीक्षित कई आपराधिक मामलों में फरार चल रहा था. 5 दिसंबर 2014 को एसटीएफ को सूचना मिली कि अंशु गोरखपुर में मौजूद है और वहां से नेपाल भागने की फिराक में है. इसके बाद गोरखनाथ इलाके में मुठभेड़ के बाद अंशु को गिरफ्तार कर लिया गया था.

मेराज ने किया था सरेंडर

मेराज, मुन्ना बजरंगी गैंग का सक्रिय सदस्य माना जाता था. 3 सितंबर 2020 को जैतपुरा थाने में मेराज के खिलाफ शस्त्र के लाइसेंस के नवीनीकरण में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था. पहले मेराज फरार हुआ लेकिन बाद में उसने वाराणसी के थाने में सरेंडर कर दिया था. बता दें कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद मेराज, बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी का खास बन गया था.

कौन था मुकीम?

शामली के जहानपुरा में रहने वाला मुकीम शुरुआत में छोटी मोटी वारदातों को अंजाम देता था. बाद में उसने शातिर कग्गा गैंग ज्वाइन किया था. इसके बाद में वह खुद गिरोह का सरगना बन गया. अपने गैंग के साथियों की मदद से वह हरियाणा, पश्चिम उत्तर, दिल्ली और उत्तराखंड में अपराधों को अंजाम देने लगा.

मुकीम काला के गैंग ने 15 फरवरी 2015 को सहारनपुर के तनिष्क ज्वेलरी शोरूम में डकैती की थी. उसी दरमियान सहारनपुर के तीतरो में दो सगे भाइयों की हत्या और सहारनपुर में सिपाही राहुल ढाका की हत्या कर दी थी. बाद में 20 अक्तूबर 2015 को एसटीएफ ने मुकीम और उसके शार्प शूटर साबिर जंधेड़ी को गिरफ्तार किया था.

मुकीम पर 50 करोड़ से अधिक की लूटपाट और अनगिनत हत्याओं का आरोप था. 2015 में मुकीम की गिरफ्तारी को लेकर कई तरह की चर्चाएं रहीं. कहा जाता है कि मुकीम को पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई राजनेताओं की शह मिली हुई थी. जिसके कारण वह लगातार अपराध की दुनिया में आगे बढ़ता रहा और पुलिस ने भी उसके ऊपर हाथ डालने की कोशिश नहीं की.


वीडियो- मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने लगाए योगी सरकार पर गंभीर आरोप, बचाव में उतरी यूपी पुलिस

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.