Submit your post

Follow Us

पैंगोंग झील को लेकर चीन ने भारत की मुश्किल बढ़ा दी है

लद्दाख में तनाव कम करने और लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर सेनाओं को पीछे हटाने को लेकर भारत और चीन बातचीत कर रहे हैं. अभी पैंगोंग झील और गोगरा घाटी को लेकर चर्चा हो रही है. लेकिन इसमें चीन ने नई अड़चन खड़ी कर दी है. इंडिया टुडे के शिव अरूर की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन पैंगोंग झील के बारे में बात ही नहीं करना चाहता. वह पैंगोंग झील के मसले को पूरी तरह से नकार रहा है. इस वजह से मामला बिगड़ता दिख रहा है. भारत और चीन के बीच 14-15 जुलाई को चौथे राउंड की मीटिंग हुई थी. उसमें भी चीन ने काफी ना-नुकुर की थी. और अब तो वह साफ-साफ मना कर रहा है.

गलवान में तेजी, गोगरा में ढिलाई और पैंगोंग में ढिठाई

चीन का यह रुख काफी महत्व रखता है. क्योंकि तनाव घटाने की प्रक्रिया के तहत उसने गलवान घाटी में पेट्रोल पॉइंट 14 और 15 के बीच पूरी तरह से सेना को हटा लिया. वहीं गोगरा घाटी में पेट्रोल पॉइंट 17A के पास सेना को हटाने की प्रक्रिया काफी धीमी है. लेकिन भारत की सबसे बड़ी चिंता पैंगोंग झील के पास चीनी सेना की मौजूदगी रही है. बातचीत के दौरान पैंगोंग पर बात न करने की चीन की जिद दिखाती है कि वह मई से पहले की स्थिति को बदलना चाहता है. यानी एलएसी पर बदलाव करना चाहता है.

पैंगोंग झील, जहां अब भी 40 हज़ार चीनी सैनिक डटे हुए हैं.
पैंगोंग झील, जहां अब भी 40 हज़ार चीनी सैनिक डटे हुए हैं.

चीन की अकड़ का इशारा करती घटनाएं

चीन की अकड़ को इस सप्ताह दो घटनाओं से देखा जा सकता है. पहला, चीनी राजदूत का कहना कि तनाव घटाने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. पैंगोंग में चीनी सेना अपने इलाके में ही है. यह इस बात का संकेत है कि अब सेना कहीं और से पीछे नहीं हटेगी. पैगोंग झील के पास फिंगर चार से आठ के बीच काफी संख्या में चीनी सेना तैनात है.

दूसरा, चीनी सेना ने पिछले तीन सप्ताह में पैंगोंग के पीछे वाले इलाके में काफी सेना जुटाई है. साथ ही अक्साई चिन में सप्लाई बेस में बहुत कम समय में सेना को भेजने की तैयारी भी की है.

भारत भी चीन को लेकर सतर्क

भारतीय सेना भी चीन के बदले हुए मिजाज को हल्के में नहीं ले रही. उसकी ओर से कहा गया है कि पैंगोंग फिंगर इलाके में विस्तृत बातचीत न होने तक आगे नहीं बढ़ा जाएगा. 2 अगस्त को दोनों सेनाओं के बीच पांचवें राउंड की चर्चा है. लेकिन इससे एक दिन पहले यानी 1 अगस्त को दोनों पक्षों के रिश्तों में जमी बर्फ की झलक मिली. 1 अगस्त को चीनी सेना यानी पीपल्स लिबरेशन आर्मी दिवस होता है. आमतौर पर हर साल इस दिन चुशूल में दोनों सेनाओं के अधिकारी मिलते हैं. लेकिन 1 अगस्त 2020 को ऐसा नहीं हुआ. औपचारिक मैसेज भेजने के अलावा कुछ नहीं हुआ.

मई से है लद्दाख में तनाव

लद्दाख में मई के महीने से भारत-चीन में तनाव है. जून में यह तनाव गहरा गया था. गलवान घाटी में दोनों देशों की सेनाओं में हिंसक झड़प हो गई थी. इसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. हालांकि इसके बाद से तनाव कम करने की कोशिशें हो रही है. इसी कड़ी में सेनाओं के बीच कमांडर लेवल की मीटिंग हो रही है. भारत का साफ कहना है कि वह मई में तनाव शुरू होने से पहले जो हालात थे, वैसा ही चाहता है. वहीं चीन इसको लेकर आनाकानी कर रहा है.


Video: रखवाले: राफेल की पहली खेप और अमेरिका से ‘हाथ मिलाने’ पर चीन को परेशानी है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

गृहमंत्री अमित शाह कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं

टि्वटर के जरिए दी जानकारी.

डिप्रेशन को लेकर सुशांत सिंह की थेरेपिस्ट ने वही बात कही जिसे गलत बता दिया गया था

रिया और सुशांत के रिश्तों को लेकर कई बातें बताईं हैं.

अपने दोस्त अमर सिंह की मौत पर अमिताभ ने बिना कुछ लिखे काफी कुछ कह दिया

अमर सिंह और अमिताभ लंबे वक्त तक दोस्त रहे.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने वेंटिलेटर पर बड़ा फैसला किया

एक हफ्ते से हर दिन कोरोना के 50 हजार से ज्यादा केस आ रहे हैं.

दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड ने स्टार खिलाड़ियों को 10 महीने से सैलरी नहीं दी!

विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, शिखर धवन, रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा जैसे नाम शामिल.

कोलकाता: कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट को निगेटिव बताया, चार दिन बाद मौत हो गई

सरकारी अस्पताल में खुली गड़बड़ी की पोल.

पंजाब में जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या 85 से ज्यादा हुई, 25 गिरफ्तार

ढाबों से 'सेटिंग' रखते थे जहरीली शराब बेचने वाले, मौतें हुईं तो अब धरपकड़ शुरू हुई.

जुलाई के जीएसटी कलेक्शन के आंकड़े सरकार का सिर दर्द बढ़ाने वाले हैं

जुलाई में जीएसटी कलेक्शन जून से भी कम है.

सीएम अशोक गहलोत बोले- वसुंधरा राजे को नीचा दिखाने के लिए सरकार गिराने में लगी है बीजेपी

जैसलमेर में कांग्रेसी विधायकों की सुरक्षा में लगे हैं 6000 पुलिसवाले, दो विधायकों की सेहत खराब

आंध्र प्रदेश में अब एक नहीं, तीन-तीन राजधानियां होंगी; जानिए कैसे?

सीएम के प्रस्ताव पर राज्यपाल की मुहर लगी.