Submit your post

Follow Us

गलवान घाटी में लड़ाई के बाद चीन ने सेना के चार अफसर और छह जवानों को बंदी बना लिया था

15 जून (सोमवार) की रात. लद्दाख की गलवान घाटी. भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के बीच हिंसक झड़प हुई थी. इसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए थे, कई घायल. चीन के सैनिकों के मारे जाने और घायल होने की खबरें आई थीं, लेकिन संख्या का खुलासा नहीं हुआ था. घटना के तीन दिन बाद, अब ये बात पता चला है कि भारत के दस सैनिकों को चीन ने बंधक बनाकर रख लिया था, और उन्हें 18 जून की शाम 5:30 बजे रिहा कर दिया गया.

‘इंडिया टुडे’ के सीनियर एडिटर शिव अरूर ने इस बात की जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट कर बताया,

– चार अधिकारियों समेत दस भारतीय जवानों को योजनाबद्ध तरीके से हुए हमले की रात के बाद चीन ने कैद कर लिया था. उन्हें 18 जून की शाम 5:30 बजे वापस पेट्रोलिंग पॉइंट 14 में भेज दिया गया है.

– इन 10 सैनिकों में दो मेजर, दो कैप्टन और छह जवान शामिल हैं. चीन से कहा गया था कि आगे की बातचीत दस भारतीय जवानों को बिना नुकसान पहुंचाए रिहा करने पर निर्भर करेगी.

पिछले 48 घंटों में भारत और चीन के बीच इन दस जवानों की रिहाई का मुद्दा सबसे ज्यादा अहम था. ‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों पक्षों के बीच इस मुद्दे पर दो दिन में कई बार बातचीत हुई. 16 जून से 18 जून के बीच तीन राउंड तो मेजर जनरल्स के लेवल की बातचीत हुई.

इसके अलावा 18 जून को ही भारतीय सेना के सूत्रों ने साफ किया था कि भारत का कोई जवान इस एक्शन में गायब नहीं है. समाचार एजेंसी ANI ने इस बात को रिपोर्ट किया था. हालांकि इसमें चीन की कस्टडी वाले जवानों के बारे में कुछ नहीं कहा गया था.

एक और बात, 1962 के इंडिया-चीन वॉर के बाद पहली बार भारतीय जवानों को चीन ने बंधक बनाया था.

क्या हुआ था 15 जून को?

झड़प के पहले से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) में तनाव पसरा हुआ था. भारत और चीन की सेना आमने-सामने थी. कई बार दोनों देशों के बीच कई स्तरों की बातचीत हुई थी. खबर आई थी कि दोनों सेना पीछे हटने को तैयार हो गई थीं, लेकिन चीन की सेना ने दोबारा गलवान घाटी पर अपने कैंप लगा लिए थे. इनका ही जायजा लेने और चीन की सेना को हटाने के लिए कर्नल बी. संतोष बाबू भारतीय जवानों के साथ कैंप के पास पहुंचे थे, तभी चीनी सेना ने उन पर हमला किया था.


वीडियो देखें: गलवान में हुई हिंसक झड़प पर विदेश मंत्री ने राहुल गांधी को क्या जवाब दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.