Submit your post

Follow Us

CM नीतीश कुमार अस्पताल में थे, बच्चे की मौत हो गई

1.04 K
शेयर्स

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार की वजह से अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है. ये सरकारी आंकड़ा है, जिसे श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ने जारी किया है. अगर गैर सरकारी आंकड़ों की माने तो ये संख्या 250 के पार हो चुकी है. इनमें निजी अस्पतालों, दूसरे सरकारी अस्पतालों और घर में दम तोड़ने वाले बच्चों की संख्या भी शामिल है.

इतनी मौतों के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 18 जून को मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में पहुंचे. जब नीतीश का काफिला अस्पताल की ओर बढ़ रहा था, स्थानीय लोग नीतीश कुमार मुर्दाबाद और नीतीश कुमार वापस जाओ के नारे लगा रहे थे. उनका कहना था कि मुजफ्फरपुर पटना से 100 किलोमीटर से भी कम दूरी पर है और नीतीश कुमार को इतने दिनों के बाद मर रहे बच्चों की सुध आई है.

विरोध प्रदर्शन के बावजूद नीतीश कुमार अस्पताल में पहुंचे. वो अस्पताल का मुआयना कर ही रहे थे कि आईसीयू में भर्ती एक बच्चे की मौत हो गई. इसके बाद प्रदर्शन और भी उग्र हो गया. लोग कह रहे थे कि इलाज ठीक से नहीं हो रहा है. बच्चे रोज मर रहे हैं. अभी नीतीश कुमार के सामने भी एक बच्चे की मौत हो गई है. नीतीश अब क्यों जागे हैं, उन्हें वापस चले जाना चाहिए. इसके बाद भी नीतीश कुमार अस्पताल का मुआयना करते रहे और फिर वापस चले गए. बीजेपी सांसद ने कहा, 4जी से हो रही है मौत

बीजेपी सांसद ने कहा है कि बच्चों की मौत 4जी की वजह से हो रही है.
बीजेपी सांसद ने कहा है कि बच्चों की मौत 4जी की वजह से हो रही है.

मुजफ्फरपुर से बीजेपी के सांसद हैं अजय निषाद. उन्होंने कहा है कि चमकी बुखार के लिए 4जी को जिम्मेदार ठहराया है. 4जी के बारे में बताते हुए अजय निषाद ने कहा कि अभी तक बीमारी की वजह पता नहीं चल पाई है. हर कोई अपनी-अपनी राय दे रहा है. इसलिए 4जी पर काम करने की ज़रूरत है. पहले जी से गांव, दूसरे जी से गर्मी, तीसरे जी से गरीबी और चौथे जी से गंदगी. अजय निषाद ने कहा कि इलाज के लिए जो भी मरीज आ रहे हैं, वो गरीब तबके के हैं. उनका रहन-सहन का स्तर नीचे है, जिसे उसको भी ऊपर उठाने की जरूरत है. जेडीयू सांसद ने कहा, गर्मी में तो बच्चे मरते ही हैं जेडीयू के सांसद हैं दिनेश चंद्र यादव. उन्होंने कहा कि हर साल गर्मी में बच्चे मरते ही हैं. हर साल ये आंकड़ा बढ़ रहा है, लेकिन इसमें नीतीश कुमार की कोई गलती नहीं है. जब बारिश होगी, तो सब ठीक हो जाएगा.

मंत्री ने कहा, 120 मरे तो 200 बचाए भी गए

बिहार के नगर विकास मंत्री हैं सुरेश शर्मा. उन्होंने कहा है कि अगर 120 बच्चों की मौत हुई है तो 200 से ज्यादा बच्चों को बचाया भी गया है. उन्होंने कहा कि एईएस से प्रभावित 200 बच्चों का इलाज किया गया है और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

उजड़ा चमन से विवाद खत्म हुआ तो फिल्म बाला पर एक और बड़ी मुसीबत आ गई

फिल्म की रिलीज़ में सिर्फ दो दिन बचे हैं और फिल्म बनाने वालों को कोर्ट ने नोटिस भेज दिया

'राधे' फिल्म की शूटिंग से सलमान ने वीडियो शेयर किया, लोग टूट-टाटकर देख रहे हैं

इंटरनेट न बैठ जाए कसम से.

बांदा: सरकारी दफ्तर में कर्मचारी हेलमेट लगाकर काम करते हैं, वजह काफ़ी दुखी करने वाली है

यहां सड़क से ज्यादा कमरे के अंदर हेलमेट लगाना जरूरी है.

ज़िंदा जलाई गई तहसीलदार को बचाने की कोशिश करने वाले ड्राइवर की भी मौत

ड्राइवर के परिवार में आठ महीने की प्रेगनेंट पत्नी और दो साल का एक बेटा है.

एक परिवार ने अनुष्का-विराट को घर बुलाया, चाय पिलाई, बिना ये जाने कि दोनों स्टार हैं

इस ग्रामीण परिवार और उनकी सादगी ने अनुष्का को भावुक कर दिया.

अधिकारी को बल्ले से पीटने वाले आकाश विजयवर्गीय ने ऐसा काम किया कि मोदी माफ़ नहीं कर पाएंगे

आकाश विधायक हैं, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं.

छोटे भाई की हत्या की, डेड बॉडी के साथ जो किया वो और भी डरावना है

मकान मालिक को शक हुआ, तो पता चला 18 घंटे पहले ही हो चुका था सबकुछ.

गंभीर रूप से बीमार थीं, फिर भी देश के डॉक्टर्स पर ऐसा भरोसा था कि विदेशी इलाज से मना कर दिया

किडनी ट्रांसप्लांट के दौरान सुषमा स्वराज ने दिल छू लेने वाली बात कही थी.

विराट कोहली ने इतने टैटू बनवा रखे हैं, आखिरी दो उनके करियर के सबसे बड़े पल दिखाते हैं

जानिए हर टैटू का अर्थ.

दिल्ली की हवा इतनी ज़हरीली है, लेकिन भारत के सबसे प्रदूषित टॉप-10 शहरों में नहीं है इसका नाम

जब दिल्ली की हालत इतनी ख़राब है, तो उन शहरों का क्या हाल होगा? वैसे लिस्ट में सबसे ज़्यादा एंट्री UP की हैं.