Submit your post

Follow Us

सरकार ने माना, 'UPSC जिहाद' शो बनाकर सुदर्शन चैनल ने नियम तोड़े

सुदर्शन चैनल का विवादित शो ‘बिंदास बोल’. इसके विवादित शो के प्रोमो में सुरेश चव्हाणके ने कथित तौर पर ‘UPSC जिहाद’ और ‘नौकरशाही जिहाद’ का पर्दाफाश करने का दावा किया था. अब सरकार ने माना है कि ये शो नियमों के खिलाफ है. कम से कम पहली नजर में तो ऐसा ही लगता है. सरकार ने चैनल को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है. ये जानकारी जब सुप्रीम कोर्ट को दी गई तो उसने इशारों मे सरकार पर कमेंट कर दिया.

सुप्रीम कोर्ट को सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने बताया कि केंद्र सरकार ने सुदर्शन टीवी को ‘UPSC जिहाद’ शो के लिए चार पेज का नोटिस जारी किया है. टीवी प्रोग्राम कोड के उल्लंघन के बारे में 28 सितंबर को शाम 5 बजे तक जवाब मांगा गया है. पूछा गया है कि चैनल के खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए? इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी.

लेकिन इससे पहले जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा,

अगर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई नहीं की होती तो अब तक यह शो पूरी तरह प्रसारित हो चुका होता. हमें इसके बारे में सोचना चाहिए.

एसजी तुषार मेहता ने कहा कि अगर चैनल तय वक्त तक जवाब नहीं देता तो सरकार अपने स्तर से कार्रवाई करेगी. अदालत को इसके बारे में बताएगी. उन्होंने यह भी कहा कि मुझे लगता है कि अदालत का हस्तक्षेप अंतिम उपाय होना चाहिए.

कोर्ट में पहले क्या-क्या हुआ?

21 सितंबर की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पूछा था कि क्‍या कानूनन सरकार इसमें दखल दे सकती है? तब जस्टिस केएम जोसेफ ने कहा था कि आज के समय में कोई ऐसा कार्यक्रम है जो आपत्तिजनक नहीं है? रोजाना लोगों की आलोचना होती है, निंदा होती है और छवि खराब की जाती है. उन्‍होंने सॉलिसिटर जनरल से पूछा था कि क्या केंद्र सरकार ने इस शो के चार एपिसोड के प्रसारण की अनुमति देने के बाद कार्यक्रम पर नजर रखी?

इससे पहले, 18 सितंबर की सुनवाई में जस्टिस जोसेफ ने सुरेश चव्हाणके से कहा था-

# भारत सरकार चाहती है कि देश में मुस्लिम समुदाय आगे बढ़े. और सिर्फ मुस्लिम ही नहीं, सभी पिछड़े समुदाय. ये तो खुशी की बात होनी चाहिए कि 50 फीसदी लोग इन समुदाय से ही आगे आ रहे हैं (सिविल सर्विसेज में). लेकिन आपका शो (चव्हाणके का शो) इनको नीचे गिराने में लगा है.

# आप इस शो से क्या संदेश देना चाह रहे हैं? चार एपिसोड आ चुके हैं, क्या इस कटुता को और ज़्यादा दिखाना चाह रहे हैं? आप एक समुदाय की छवि खराब करना चाह रहे हैं.

# आप सिविल सेवाओं के साथ में आईएसआई का भी नाम ले रहे हैं. ये बहुत गंभीर मसला है. आप अपनी खोजी पत्रकारिता करिए, लेकिन क्या हम ऐसी धारणाओं को पनपने की अनुमति दे सकते हैं?

# आप किसी संस्थान की फंडिंग की पड़ताल करिए. हमें कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन ये कहना कि किसी ख़ास समुदाय का हर व्यक्ति आतंकी संगठन का प्रतिनिधित्व कर रहा है, ये ग़लत है. यही वो पॉइंट है, जहां फ्री स्पीच, हेट स्पीच में बदल जाती है. और इससे ये लगता है कि उस समुदाय का हर व्यक्ति एक एजेंडे के साथ काम कर रहा है.

# मैंने आपका एक एपिसोड देखा. ये एक बुरा अनुभव था. कई तस्वीरें आपत्तिजनक हैं और इसे तुरंत हटाने की ज़रूरत थी. आप एक पूरे समुदाय को निशाने पर नहीं ले सकते.

# प्रोग्राम में मुस्लिमों की अपर एज लिमिट और वो कितनी बार परीक्षा दे सकते हैं, इसे लेकर कई फैक्चुअली गलत दावे किए गए हैं. सभी समुदायों का को-एग्जिस्टेंस लोकतंत्र का मूल है. ऐसे में किसी भी धर्म को विलेन की तरह प्रस्तुत करने की कोशिश का समर्थन नहीं किया जा सकता है.


वीडियो देखें : सुदर्शन टीवी के विवादित कार्यक्रम ‘बिंदास बोल’ के प्रसारण पर कोर्ट ने जरूरी बात कही है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.

चीन की इंटेलीजेंस को गोपनीय रिपोर्ट्स भेजने के आरोप में चीन की महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कई सारे मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई सेंसिटिव दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

केरल और बंगाल से अल कायदा के 9 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार!

एनआईए ने दोनों राज्यों में छापे मारे.

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया