Submit your post

Follow Us

सरकार ने लॉकडाउन के बीच मजदूरों को बड़ी राहत दी है

देश में 20 अप्रैल से लॉकडाउन में कुछ राहत दी जा रही हैं. इसके तहत फैक्टरियों में कामकाज भी फिर से शुरू होगा. ऐसे में केंद्र सरकार ने 19 अप्रैल को मजदूरों को लेकर बड़ा फैसला किया. सरकार ने कहा है कि मजदूर किसी राज्य में एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं. लेकिन राज्य से बाहर नहीं जा सकते हैं.

गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि मजदूरों बसों के जरिए काम पर जा सकते हैं. वे राज्य की सीमा में एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा. बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को लॉकडाउन को 3 मई तक आगे बढ़ा दिया था. लेकिन 20 अप्रैल से कुछ राहतों का ऐलान भी किया था.

बिहार में एक कैंप में बैठे मजदूर. (Photo: PTI)
बिहार में एक कैंप में बैठे मजदूर. (Photo: PTI)

क्या है आदेश में

– 20 अप्रैल से कंटेनमेंट जोन के बाहर कई तरह की छूट दी जा रही है. ऐसे में मजदूर, मनरेगा, खेती, कंस्ट्रक्शन, इंडस्ट्रियल और मैन्युफेक्चरिंग के काम कर सकते हैं.
– काम पर जाने के इच्छुक मजदूरों को बाहर जाने की अनुमति होगी. लेकिन उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी. यानी बुखार वगैरह जांची जाएगी.
– जो लोग ठीक होंगे उन्हें काम पर जाने की अनुमति होगी. इन्हें बस से ले जाया जाएगा.
– बस में जाते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. यानी दो लोगों के बीच करीब 3 मीटर की दूरी होगी. चेहरे पर मास्क होगा.
– मजदूरों को ले जाने वाहनों को स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों के अनुसार सैनिटाइज किया जाएगा.
– काम पर जाने की यात्रा के दौरान स्थानीय प्रशासन खाने-पीने की व्यवस्था करेगा.
– काम से घर लौटने से पहले मजदूरों का लोकल अथॉरिटी में रजिस्ट्रेशन किया जाएगा. उनकी दक्षता यानी स्किल की जांच होगी. जिससे कि उनके हिसाब से काम ढूढ़ा जा सके.
– जो मजदूर जिस राज्य में हैं, वहीं रहेंगे. वे राज्य से बाहर नहीं जा सकते हैं.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video:केरल के मुख्यमंत्री मुफ्त में राशन बांटने के बाद 87 लाख परिवारों को क्वारंटीन किट भी बांट रहे हैं!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.