Submit your post

Follow Us

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

5
शेयर्स

जी जनार्दन रेड्डी. भाजपा नेता. रेड्डी बंधुओं में से एक. छोटे गली सोमशेखर रेड्डी, उनसे बड़े गली जनार्दन रेड्डी और सबसे बड़े गली करुणाकर रेड्डी. भाजपा के कुबेर कहे जाते रहे हैं. कर्नाटक के बेल्लारी से सुषमा स्वराज को सोनिया गांधी को चुनाव लड़ाने से लेकर बेल्लारी में ही मंत्रालय सम्हालने तक. कर्नाटक में भाजपा का चुनाव कैम्पेन फंड किया. भाजपा की हरसंभव मदद की. अवैध खनन के मामले में फंस गए. सीबीआई की जांच बैठ गयी. गिरफ्तार कर लिए गए. लेकिन ज़मानत भी मिल गयी. कहा गया कि इतने गंभीर मामले में ज़मानत कैसे मिल गयी. सवाल उठा कि क्या घूस दी गयी थी? अब लग रहा कि शायद दी गयी थी.

सुषमा स्वराज के साथ रेड्डी बंधु
सुषमा स्वराज के साथ रेड्डी बंधु

ऐसा हम खुद नहीं कह रहे हैं. सीबीआई के स्पेशल कोर्ट के पूर्व जज बी नागा मारुति सर्मा ने सोमवार यानि 26 अगस्त को ऐसे संकेत दिए हैं. टाइम्स ऑफ़ इंडिया में खबर छपी है. अखबार के मुताबिक़, एंटी करप्शन ब्यूरो से पूछताछ में सर्मा ने कहा है कि जी जनार्दन रेड्डी को ज़मानत देने के लिए उन्हें घूस के तौर पर 40 करोड़ की पेशकश की गयी थी. आरोप है कि ये घूस का ऑफर जी जनार्दन रेड्डी की तरफ से आया था, लेकिन इसे सर्मा के पास पहुंचाने के लिए आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के तत्कालीन रजिस्ट्रार लक्ष्मी नारायण राव ने बातचीत की थी.

बक़ौल सर्मा, वे अप्रैल 2011 में हैदराबाद की सीबीआई कोर्ट में स्पेशल जज के तौर पर नियुक्त हुए थे. उनके पास कुछ ही दिनों बाद रेड्डी का मामला आ गया. रेड्डी की ज़मानत याचिका भी आई.

जनार्दन रेड्डी, जिनके कहने पर भाजपा टिकट तक काट देती थी.
जनार्दन रेड्डी, जिनके कहने पर भाजपा टिकट तक काट देती थी.

और अप्रैल 2012 के तीसरे हफ्ते में फ़ोन आया आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के तत्कालीन रजिस्ट्रार लक्ष्मी नारायण राव की तरफ से. सर्मा ने फोन उठाया तो उन्हें लक्ष्मी नारायण राव ने कहा कि मिलना चाहते हैं.

सर्मा ने बताया है कि चूंकि रजिस्ट्रार उनसे सीनियर थे, इसलिए उन्होंने उनसे खुद ही मिलने का फैसला किया. खुद ही वे रजिस्ट्रार से मिलने पहुंचे 18 अप्रैल 2012 में. उनके घर. फिर सर्मा ने बताया कि उनके सामने जी जनार्दन रेड्डी को ज़मानत देने का प्रस्ताव सामने आया. सर्मा ने बताया कि उन्होंने रजिस्ट्रार के इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया और कहा,

“क़ानून के रास्ते से हट जाना मेरे लिए मौत के समान है.”

इसके बाद रजिस्ट्रार ने कहा कि रेड्डी के लोग इस मदद के लिए 40 करोड़ रूपए देने को तैयार हैं. जज सर्मा कहते हैं कि उन्होंने ये प्रस्ताव सिरे से खारिज कर दिया और वहां से चले आए. इसके बाद सर्मा ने जी जनार्दन रेड्डी की ज़मानत याचिका ख़ारिज कर दी. जिस समय ये पूछताछ हो रही थी, उस समय कमरे में जी जनार्दन रेड्डी मौजूद थे.

कौन रेड्डी बंधु? जानने के लिए हमारे साथी निखिल की ये स्टोरी पढ़िए. 

आज जब ये खबर लिखी जा रही है, तब सीबीआई जी जनार्दन रेड्डी से पूछताछ कर रही है. जी जनार्दन रेड्डी अवैध खनन के मामले में फंसे हुए हैं. कहा गया है कि कर्नाटक में येद्दीयुरप्पा जब मुख्यमंत्री बने तो रेड्डी बंधुओं को बहुत लाभ मिला. बेल्लारी में जी जनार्दन रेड्डी ने खनन का अकाम शुरू किया और मिला सरकार का सीधा साथ. आगे बात चली कि बड़े लेवल का घोटाला हुआ है. रेड्डी को लाभ मिला.

सर्मा ने जी जनार्दन रेड्डी की ज़मानत याचिका ख़ारिज कर दी. लेकिन उनके बाद जज आए पट्टाभी रामा राव. उन्होंने जी जनार्दन रेड्डी को ज़मानत दे दी. लेकिन बाद में सीबीआई और एंटी-करप्शन ब्यूरो की जांच में घूस लेते पकड़े गए. गिरफ्तार करके जेल भेज दिए गए. बाद में लक्ष्मी नारायण राव को गिरफ्तार कर लिया गया था.


लल्लनटॉप वीडियो : क्या रामदेव के सहयोगी बालकृष्ण को किसी ने जहरीला पेड़ा खिला दिया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

दिल्ली में RAF के हाथ में दिख रही ये इलेक्ट्रिक शील्ड क्या बला है

CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान इसका इस्तेमाल हुआ.

BHU के 51 शिक्षक CAA के विरोध में आए, कहा- ये लोकतंत्र के खिलाफ है

हस्ताक्षर कैंपेन चलाकर शिक्षकों ने एक्ट के विरोध में बात रखी.

दी लल्लनटॉप क्विज़ शो का फ़ाइनल मुकाबला 28 दिसंबर को रात 9 बजे

आप ये शो लल्लनटॉप ऐप पर लाइव देख सकते हैं.

सिद्धू ने अपनी पाकिस्तान यात्रा को निजी बताया और सरकार से पैसे भी क्लेम कर लिए

इमरान खान के शपथ ग्रहण में गए थे. अब RTI से पता चला है.

सीलमपुर हिंसा: पूर्व कांग्रेस विधायक पर हिंसा भड़काने को लेकर FIR दर्ज

17 दिसंबर को CAA के विरोध में सीलमपुर के अंदर काफी हिंसा हुई थी.

नेशनल सेलेक्टर से भिड़ गए मनोज तिवारी, ड्रेसिंग रूम से निकलवा दिया

रणजी ट्रॉफी के मैच में हुई घटना.

UP पुलिस ने हिंसा के वीडियो को जबलपुर का बताया था, MP पुलिस ने लताड़ लगा दी

CAA हिंसा के वीडियो को लेकर UP और MP पुलिस में पंगा पड़ गया है.

जब 'रांझणा' की बिंदिया और मुरारी ने CAA के विरोध में 'ज़ोया-कुंदन' को याद किया

स्वरा और जीशान ने एक पोस्टर लेकर यूपी पुलिस को घेरा.

UP में CAA पर पुलिसवाले को भीड़ पीट डालती, नमाज छोड़कर हाजी कदीर ने बचा लिया

अपना रिश्तेदार बताकर निकाल ले गए. बुरे वक्त में अच्छी खबर पढ़ लीजिए.

शोएब अख्तर बोले, 'हिंदू होने की वजह से दानिश कनेरिया के साथ कोई खाना नहीं खाता था'

कनेरिया ने कहा, 'शोएब भाई ठीक कह रहे हैं.'