Submit your post

Follow Us

राजनाथ सिंह बोले, 'कोई भारत के मुसलमान को चिमटे से भी नहीं छू सकता'

देश में कई जगहों पर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हो रहे हैं. दूसरी ओर  BJP इस कानून के समर्थन में जगह-जगह सभाएं कर रही है. इन सबके बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह 22 जनवरी, बुधवार को यूपी के मेरठ में थे. वहां उन्होंने कहा, ‘जो मुसलमान भारत का नागरिक है, उसे कोई चिमटे से भी नहीं छू सकता. अगर किसी को कोई शिकायत है, तो हमारे पास आ सकता है.’

पिछले दिनों इस कानून के विरोध में पश्चिमी यूपी में काफ़ी हिंसा हुई थी. राजनाथ सिंह ने कहा कि किसी भी सूरत में जाति, पंथ और मजहब के आधार पर तनाव न पैदा होने दें. उन्होंने कहा कि कुछ ताक़तें चाहती हैं कि तनाव पैदा करके निहित स्वार्थ को पूरा कर लें, हमें ये नहीं होने देना है. हमें सबको साथ लेकर चलना है.

NPR, NRC और मुसलमान पर

राजनाथ सिंह ने कहा,

क्या देश की जनसंख्या का रजिस्टर नहीं होना चाहिए? मैं आपसे पूछता हूं. ये हम लोगों ने नहीं बनाया. कांग्रेस ने 2010 में इसके बारे में फैसला किया था. ये कहते हैं कि आप नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर बना रहे हैं. फिर आप NRC लाएंगे और मुसलमानों को भारत से निकाल देंगे. मैं यहां मौजूद मुसलमानों से कहना चाहता हूं कि जो मुसलमान भारत का नागरिक है, कोई मां का लाल चिमटे से भी उसको छू नहीं पाएगा. अगर किसी को कोई शिकायत है, तो वो हमारे पास आ सकता है. हम उस मुसलमान के साथ खड़े होंगे. हम इंसानियत को लेकर राजनीति नहीं करते हैं.

‘सांप्रदायिक तनाव नहीं पैदा होना चाहिए’

उन्होंने कहा,

जो लोग जलालत की ज़िंदगी जी रहे थे, CAA लाकर मोदी सरकार ने उन्हें नागरिकता देने का वादा पूरा किया है. हमने कोई अपराध नहीं किया, लेकिन इसे हिंदू और मुसलमान के नजरिये से देखा जा रहा है. हमारे प्रधानमंत्री धर्म के आधार पर नहीं, इंसानियत के आधार पर सोचते हैं. कुछ ताकते हैं, जो हिंदू और मुसलमानों के बीच खाई पैदा करना चाहती हैं. इनके अपने हित हैं. मैं सबसे अपील करता हूं कि सांप्रदायिक तनाव नहीं पैदा होना चाहिए.

‘महात्मा गांधी ने जो कहा था वो किया’

रक्षा मंत्री ने कहा,

महात्मा गांधी ने कहा था कि अगर अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न होता है, तो उसके प्रति भारत को संवेदनशील होना होगा. महात्मा गांधी ने जो कहा था, उसे BJP ने कर दिखाया है. कांग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 18 दिसंबर 2003 को कहा था- पाकिस्तान, बांग्लादेश में जिन हिंदू-सिखों का उत्पीड़न हुआ है, सरकार को उन्हें नागरिकता देनी चाहिए. जो उन्होंने कहा था, वह हमने पूरा किया. आज जगह-जगह ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ नारे लग रहे हैं. ये अधिकार किसने दिया?

‘सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर असम में NRC हुआ’

राजनाथ सिंह ने कहा,

विपक्षी दल दुष्प्रचार कर रहे हैं कि NRC लाकर देश के मुसलमानों को बाहर कर दिया जाएगा, जबकि NRC पर कहीं चर्चा भी नहीं हुई. NPR में यदि आपसे कोई नाम, जन्मतिथि पूछता है, तो जो आप देंगे, वही लिख लिया जाएगा. कोई किसी पर दबाव नहीं डाला जाएगा. NRC हमलोग भारत में लेकर नहीं आए हैं. NRC की चर्चा आजादी के समय आ गई थी. तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने बांग्लादेश के प्रधानमंत्री से उस समय बात की थी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर असम में NRC लागू हुआ. जो ताकतें भ्रम फैला रही हैं, उन पर ध्यान न दें.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि 2014 और 2019 में चुनावी सभाओं की शुरुआत मेरठ से ही हुई थी. ये क्रांतिकारियों की धरती है और बीजेपी इसका महत्व समझती है.


BJP के नितिन गडकरी ने सरकार में ‘निगेटिव एटीट्यूड’ की बात क्यों कही?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इरफान पठान ने जो कहर ढाया है, वो देखकर ग्रेग चैपल को मैदान भर में दौड़ाने का मन करेगा!

पठान में अब भी दम बाकी है.

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.