Submit your post

Follow Us

PM मोदी के भाई प्रह्लाद को आगे-पीछे चलने के लिए पुलिस नहीं मिली, तो थाने के सामने धरने पर बैठ गए

26.26 K
शेयर्स

लोग कह रहे हैं कि ‘जब सैंया भये कोतवाल तो डर काहे का’. इसी कहावत को कुछ अपडेट करे दे रहे हैं. ‘जब भैया बने प्रधानमंत्री तो डर काहे का’.  हालांकि प्रह्लाद मोदी ने कोई कानून नहीं तोड़ा है, लेकिन जो कुछ भी हुआ है उससे सोशल मीडिया उनके मजे खूब ले रहा है.

दरअसल हुआ ये कि पीएम मोदी के छोटे भाई प्रह्लाद मोदी अहमदाबाद से हरिद्वार जा रहे थे. वो भी सड़क के रास्ते. लेकिन जयुपर से अजमेर वाले रास्ते पर वो नाराज़ हो गए. क्योंकि उन्हें पुलिस एस्कॉर्ट नहीं मिली और वो फिर धरने पर बैठ गए. करीब एक घंटे वो बगरू पुलिस थाने के बाहर बैठे रहें, और लगातार पुलिस एस्कॉर्ट की मांग करते रहे. ये पूरी घटना मंगलवार की रात जयपुर अजमेर नेशनल हाईवे के बीच घटी.

जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव के मुताबिक:

प्रह्लाद मोदी सड़क के रास्ते जयपुर आ रहे थे. वे लगातार एस्कॉर्ट की मांग कर रहे थे. जिसके लिए वो एलिजिबल नहीं थे. हमारे पास उन्हें सिर्फ दो पीएसओ उपलब्ध कराने के आदेश थे. जो पहले से ही बगरू थाने में मौजूद थे. लेकिन प्रह्लाद मोदी उन्हें अपनी गाड़ी में ले जाने को तैयार नहीं थे. वे अलग अलग पुलिस की गाड़ी की मांग कर रहे थे. जो कि किसी भी हाल में मुमकिन नहीं था.

जिसके बाद पुलिस कमिश्नर ने ये भी कहा कि हमने उन्हें दो पीएसओ मुहैया कराने वाला आदेश दिखाया. फिर बताया कि उन्हें अलग से पुलिस की गाड़ी नहीं मिल सकती. पहले वो तैयार नहीं हुए. फिर काफी समझाने के बाद वो समझ गए और फिर अंत में वो दो पीएसओ के साथ चले गए. थाने पर ये पूरा घटनाक्रम करीब एक घंटे चला.

अब समझने वाली बात है कि प्रह्लाद मोदी नाराज क्यों हो गए. दरअसल प्रोटोकॉल के मुताबिक पीएम मोदी के रिश्तेदार की पूरी जानकारी इंटेलिजेंस ब्यूरो के पास होती है. जो पूरी एक्टिविटी की जानकारी रखते हैं. लेकिन जब वो सड़क के रास्ते हरिद्वार जा रहे थे, तभी उनके साथ पहले से मौजूद एस्कॉर्ट ने उनके साथ आगे चलने से मना कर दिया. ये वाकया जयपुर के दूदू ग्रामीण इलाके के पास का है. प्रह्लाद मोदी पुलिस एस्कॉर्ट को साथ लेकर जाने की ज़िद पर अड़ गए. फिर बगरू थाना के अधिकारी ने उन्हें पुलिस एस्कॉर्ट मुहैया कराया तब वो हरिद्वार के लिए रवाना हुए.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Brother of PM Modi Prahlad Modi demands police security and dharna outside Bagru police station in Jaipur

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.