Submit your post

Follow Us

चीन और हॉन्ग-कॉन्ग ने भारत के प्रोडक्ट के साथ खेल कर दिया है!

भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव है. इसका असर दोनों देशों के व्यापार पर भी पड़ रहा है. देश में ‘बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट’ की बात हो रही है. अब खबर है कि चीन और हॉन्ग-कॉन्ग भारतीय निर्यातकों के माल को रोक रहे हैं. फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन (FIEO) ने इसकी शिकायत की है. सरकार से मदद मांगी है. इसके पहले ऐसी खबरें आई थीं कि चीन से आने वाले माल को भारतीय बंदरगाहों पर रोक कर उनकी सख्त जांच की जा रही है. उनकी क्लियरेंस में देरी हो रही है. इसके बाद चीन की ओर से इस तरह की खबर आई है.

सरकार को लेटर लिखा

निर्यातक संघों ने वाणिज्य मंत्रालय को लेटर लिखा है. बताया है कि चीन और हॉन्ग-कॉन्ग के कस्टम अधिकारी भारत के एक्सपोर्ट कन्साइनमेंट को रोक रहे हैं. इसमें कहा गया है कि चीन-हॉन्ग-कॉन्ग के कस्टम विभाग की ओर से फिजिकल जांच की जा रही है, इसकी वजह से क्लियरेंस में काफी देरी हो रही है और आयात की लागत बढ़ रही है.

China Bazaar
चीन का प्रत्यक्ष निवेश भारत में कम है लेकिन अप्रत्यक्ष तरीके से उसका निवेश काफी ज़्यादा है. चाहे वो स्टार्टअप इकॉनमी में हो या डिजिटल इकॉनमी में. फोटो: India Today

FIEO के अध्यक्ष शरद कुमार सराफ का कहना है कि एसोसिएशन ने वाणिज्य मंत्रालय से आधिकारिक स्पष्टीकरण जारी करने को कहा है. ताकि यह स्पष्ट हो सके कि भारत ने चीन से आने वाले समान को बंदरगाहों पर रोकने के लिए नहीं कहा है.

पहले भारत ने चीन का माल रोका?

ऐसी खबरें आई थीं कि चीन से आने वाले कंटेनर बड़े पैमाने पर मुंबई और चेन्नई बंदरगाह पर जमा हुए हैं. निर्यातकों ने वाणिज्य मंत्रालय को लिखे लेटर में अनुरोध किया है कि केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड CBIC के सामने इस मसले को उठाया जाए. यदि इसे रोकने के बारे में कोई आधिकारिक निर्देश नहीं है, तो CBIC इसके बारे में आधिकारिक रूप से बयान जारी करे, ताकि इसकी जानकारी चीन और हॉन्ग-कॉन्ग के आयातकों को दी जा सके. ऐसा करने से वे इस मसले को अपने सीमा शुल्क विभाग के सामने रख सकेंगे.

कोरोना की वजह से हुआ ऐसा

आयातकों को बताया गया है कि कोविड-19 की वजह से कंसाइनमेंट की जांच थोड़ी ज्यादा हो रही है. सैनिटाइज के लिए जो भी प्रक्रिया है, वह की जा रही है. इससे चीन से आए माल को मिलने में समय लग रहा है. तमाम कंसाइनमेंट की फिजिकल जांच के कारण क्लियरेंस में समय लग रहा है. हालांकि इस प्रक्रिया से आयातक खुश नहीं हैं. इस वजह से काफी कंसाइनमेंट अटक गए हैं. इससे आयातकों ने इस मुद्दे को स्थानीय कस्टम अधिकारियों के सामने भी उठाया है. हालांकि कस्टम विभाग की ओर से यह आश्वासन मिला है कि कुछ दिन में उनके माल को क्लियर कर दिया जाएगा.

China Coronavirus Tracing
भारत और चीन के बीच तनाव का असर बिजनेस पर पड़ रहा है.

वित्त मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि हो सकता है कि कुछ कंटेनर किसी खुफिया सूचना या जोखिम प्रबंधन के तहत रखे गए हों, लेकिन यह रुटीन कवायद है. अक्सर सुरक्षा अलर्ट के बाद कंटेनर और कंसाइनमेंट रोक लिए जाते हैं और बाद में उनकी क्लियरेंस होती है. यह कोई नई बात नहीं है. सरकारी अधिकारियों का कहना है कि इसका सीमा पर जारी तनाव से कोई लेना-देना नहीं है.

क्या है भारत की प्लानिंग?

सीमा पर विवाद की वजह से भारत इस समय चीन से आने वाले माल पर अपनी निर्भरता कम करने की सोच रहा है. हालांकि इसमें अभी भी कोई बहुत सफलता नहीं मिली है. सरकार जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी सेवाओं के आयात पर अंकुश लगाने की तैयारी कर रही है. इसमें हालांकि आयात ड्यूटी बढ़ाने जैसे कुछ मुद्दे ही शामिल हैं, क्योंकि सरकार विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के नियमों के मुताबिक पूरी तरह से आयात पर बैन नहीं लगा सकती है.


चीनी सामान बैन करने की मांग के बीच सरकार का आदेश- प्रोडक्ट का ‘कंट्री ऑफ ओरिजिन’ बताना होगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बादशाह ने यूट्यूब पर व्यूज चोरी कर अपना गाना हिट बनाया!

पुलिस के हत्थे चढ़े, 10 घंटे हुई पूछताछ.

दिल्ली दंगा : मरा है या नहीं, ये चेक करने के लिए ज़िंदा शाहबाज़ पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गयी!

कोर्ट में सुनवाई में दिल्ली पुलिस ने क्या बताया

अयोध्या भूमिपूजन से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की 'धमकी' का क्या सुप्रीम कोर्ट लेगा संज्ञान?

AIMPLB ने Tweet पर विवाद देख डिलीट कर लिया है.

दिशा सालियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया कि मौत की असली वजह क्या थी

मुंबई में एक बिल्डिंग के 14वें माले से गिरकर दिशा की जान गई थी.

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.

UPSC रैंकर जिसकी तुलना 'पाताल लोक' के इमरान अंसारी से हो रही है

दिल्ली पुलिस परिवार से पांच लोगों ने इस बार UPSC एग्ज़ाम क्रैक किया है.

इमरान खान ने तमाम छेड़छाड़ करके पाकिस्तान का एक नया नक्शा पेश किया है

उनकी कैबिनेट ने वो नक्शा पास कर दिया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा, सुशांत की मौत से जुड़ी जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करना!

उस मीटिंग में और क्या कहा मुंबई के पुलिस कमिशनर ने?