Submit your post

Follow Us

मशहूर सिंगर अंकित तिवारी पर लगे रेप केस में फैसला आ गया

मुंबई की कोर्ट ने बॉलीवुड से जुड़े से दो मामलों में फैसला सुनाया है. एक मामला सिंगर अंकित तिवारी पर रेप के इल्ज़ाम का है तो दूसरा मामला फिल्म डायरेक्टर मधुर भंडारकर को जान से मारने की साजिश रचने का है. हत्या की साजिश रचने के मामले में मॉडल और एक्ट्रेस प्रीति जैन को तीन साल की सज़ा सुनाई गई है.

‘सुन रहा है न तू’ गाकर मशहूर हुए अंकित तिवारी पर रेप करने का इल्ज़ाम उनकी कथित गर्लफ्रेंड ने लगाया था. इस मामले में मुंबई की एक कोर्ट ने उनको और उनके भाई अंकुर को बरी कर दिया है. उनके बड़े भाई अंकुर पर धमकी देने का इल्ज़ाम था. दोनों को कोर्ट ने सबूत के अभाव में बरी किया है. अंकित तिवारी ने सुन रहा है न तू  के अलावा तेरी गलियां और तू है कि नहीं जैसे हिट गाने गाए हैं.

अंकित तिवारी की कथित गर्लफ्रेंड ने उनपर इल्ज़ाम लगाया था कि तिवारी ने शादी का वादा करके अक्टूबर 2012 से दिसंबर 2013 के बीच कई बार रेप किया था. लेकिन उसने शादी नहीं की. उसने अंकित के भाई अंकुर पर धमकी देने का केस दर्ज कराया था. मुंबई पुलिस ने अंकित को 8 मई 2014 को गिरफ्तार किया था. बाद में ज़मानत पर छोड़ दिया गया था.

कोर्ट से बरी होने पर अंकित ने कहा,

‘आखिरकार न्याय हो गया. मैं जानता था भगवान और सच्चाई मेरी तरफ थी. और मैंने कुछ गलत नहीं किया. फाइनली अब हर कोई सच जानता है. जिन लोगों ने इस मुश्किल में मेरी मदद की, उनका और कोर्ट का शुक्रगुज़ार हूं.’

अंकित ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा, ‘साढ़े तीन साल तक मेरी फैमिली को बहुत मुश्किल वक़्त से गुज़रना पड़ा. सबसे ज्यादा मेरे मम्मी पापा इससे प्रभावित थे. उनके लिए ये एक बड़ा झटका था. लेकिन अब ये सब हम पीछे छोड़कर अपनी जिंदगी में आगे बढ़ सकते हैं. मेरी मम्मी ने जब फैसला सुना तो वो रो पड़ीं. उन्होंने और पापा ने बहुत तपस्या की थी मेरे लिए. अब मैं शुक्रगुज़ार हूं कि अब सब क्लियर हो गया.’

अंकित के पिता राजेंद्र तिवारी का कहना है,

‘मैं हमेशा से जानता था, मेरे बच्चे बेकसूर हैं. कई बार सेलेब्रिटी होने का भी आप को खामियाज़ा भुगतना पड़ता है. ऐसा ही अंकित और अंकुर के साथ भी हुआ.’

अंकित तिवारी अपनी मां सुमन तिवारी के साथ.
अंकित तिवारी अपनी मां सुमन तिवारी के साथ. (Source: Facebook)

अंकित की मां सुमन तिवारी कहती हैं, ‘मुझे भगवान और न्याय पर पूरा विश्वास था कि अंकित और अंकुर निर्दोष साबित होंगे. जब ये पूरी घटना हुई थी. तब बहुत ही परेशानी वाले दिन थे. कानपुर में रिश्तेदार और पड़ोस के लोग पूछते थे कि क्या हुआ और उनको बताना बहुत ही परेशानी वाली बात होती थी. कई बार लोग तरह-तरह की बातें करते थे. दिल बहुत दुखता था. पर मुझे हमेशा मालूम था कि मेरे दोनों बेटे निर्दोष हैं, क्योकि उनकी परवरिश अच्छे संस्कारों के साथ हुई है. मुझे मालूम था कि घर से दूर रहकर भी वो कोई गलत काम नहीं करेंगे. ये मैं इसलिए नहीं कह रही हूं, क्योंकि मैं उनकी मां हूं, बल्कि इसलिए कह रही हूं, क्योंकि जो संस्कार हमने अपने बच्चों को दिए हैं, उनपर मुझे पूरा भरोसा है. आज जब अंकित और अंकुर कोर्ट से निर्दोष साबित हो गए हैं तो मुझे किसी से कोई शिकायत नहीं रह गई है. मैं तो बस ये चाहती हूं कि भगवान किसी को भी ऐसा दिन न दिखाए.’

फिल्म डायरेक्टर मधुर भंडारकर को मारने की साजिश रचने वाली को तीन साल की कैद

दूसरा मामला है फिल्‍म डायरेक्टर मधुर भंडारकर की हत्या की साजिश का. इस मामले में मुंबई की कोर्ट ने एक्ट्रेस और मॉडल प्रीति जैन को तीन साल की सजा सुनाई है. ये मामला साल 2005 का है. कोर्ट ने माना कि प्रीति जैन ने साल 2005 में मधुर भंडारकर की हत्या कराने के लिए गैंगस्टर अरुण गवली के गैंग से नरेश परदेशी को पैसे दिए. यानी प्रीति जैन ने हत्या की साजिश रची. कोर्ट ने अपने फैसले में प्रीति के दो और साथियों को तीन साल की सजा सुनाई है. प्रीति पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है.

मधुर भंडारकर और मॉडल प्रीति जैन.
मधुर भंडारकर और मॉडल प्रीति जैन.

प्रीति जैन ने 2004 में मधुर भंडारकर पर इल्ज़ाम लगाया था कि भंडारकर ने 4 साल में 16 बार रेप किया और जान से मारने की धमकी दी. 2006 में यह रिपोर्ट फाइल हुई, इसके बाद भंडारकर को 2007 में क्लीन चिट दे दी गई थी. इसके बाद प्रीति जैन ने अंधेरी कोर्ट का दरवाजा खटखटाया.

2009 में अंधेरी कोर्ट ने इस रिपोर्ट को गलत ठहराया. कोर्ट ने इन्वेस्टीगेशन अफसर को फिर से इस मामले में रिपोर्ट फाइल करने के लिए कहा था. प्रीति ने जो सबूत पेश किए उनके आधार पर कोर्ट ने मामला सेशन्स कोर्ट में चलाने का आदेश दिया था. सेशन्स कोर्ट के आदेश के खिलाफ भंडारकर सुप्रीम कोर्ट चले गए थे.

नवंबर 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म मधुर भंडारकर के खिलाफ रेप के मामले को चलाने के मुंबई की सेशन्स कोर्ट के आदेश को खारिज कर दिया था.


ये भी पढ़िए :

तुम बिन-2 टीज़र: जगजीत सिंह और रेखा भारद्वाज का गाना है हाइलाइट

‘राज कपूर अगर रूस में राष्ट्रपति का चुनाव लड़ते तो शर्तिया जीत जाते’

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मुशायरा रद्द, CCA प्रोटेस्ट में शामिल शायरों को बुलाया गया था

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मुशायरा रद्द, CCA प्रोटेस्ट में शामिल शायरों को बुलाया गया था

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने क्या सफाई दी है?

PM मोदी का ऐलान-अब इस नाम से जाना जाएगा 14 अगस्त का दिन

PM मोदी का ऐलान-अब इस नाम से जाना जाएगा 14 अगस्त का दिन

कहा- विभाजन का दर्द नहीं भुलाया जा सकता.

लखनऊ थप्पड़ कांड: कैब ड्राइवर ने बताया, क्यों नहीं हो सकता समझौता

लखनऊ थप्पड़ कांड: कैब ड्राइवर ने बताया, क्यों नहीं हो सकता समझौता

प्रियदर्शिनी ने पैचअप नहीं करने पर पोल खोलने की धमकी दी थी.

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किस बात के लिए टाटा ग्रुप को जमकर सुनाया है?

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किस बात के लिए टाटा ग्रुप को जमकर सुनाया है?

CII की वार्षिक बैठक में क्या बोले गोयल की वीडियो ही टहाना पड़ गया.

बिरयानी के विज्ञापन में किस ‘संत’ की फोटो देखकर लोग भड़के गए हैं?

बिरयानी के विज्ञापन में किस ‘संत’ की फोटो देखकर लोग भड़के गए हैं?

असलियत तो शायद हंगामा करने वालों को भी नहीं पता होगी!

सिराज ने दो गेंदों पर दो विकेट निकाले लेकिन खेल कहां खत्म हुआ?

सिराज ने दो गेंदों पर दो विकेट निकाले लेकिन खेल कहां खत्म हुआ?

अब भी 245 रन आगे है भारत.

रहाणे और पुजारा को डिफेंड करते-करते क्या बोल गए गावस्कर?

रहाणे और पुजारा को डिफेंड करते-करते क्या बोल गए गावस्कर?

सिर्फ इन पर सवाल क्यों?

लॉर्ड्स में जेम्स एंडरसन ने बना दिया बड़ा रिकॉर्ड, पीछे छूटे मुरलीधरन

लॉर्ड्स में जेम्स एंडरसन ने बना दिया बड़ा रिकॉर्ड, पीछे छूटे मुरलीधरन

वाह एंडरसन.. तेरे क्या ही कहने.

स्क्रैप पॉलिसी की ये बात न समझी तो दो साल बाद गाड़ी सड़क पर नहीं निकाल पाएंगे!

स्क्रैप पॉलिसी की ये बात न समझी तो दो साल बाद गाड़ी सड़क पर नहीं निकाल पाएंगे!

PM मोदी ने 13 तारीख़ को इसे लॉन्च किया है.

क्या शॉट खेलते वक्त रोहित शर्मा के पास सच में एक्स्ट्रा टाइम होता है?

क्या शॉट खेलते वक्त रोहित शर्मा के पास सच में एक्स्ट्रा टाइम होता है?

खुद रोहित से ही जान लीजिए.