Submit your post

Follow Us

'रामायण' में यादगार किरदार निभाने वाले एक्टर चंद्रशेखर नहीं रहे

16 जून की सुबह मशहूर हिंदी फिल्म एक्टर चंद्रशेखर का निधन हो गया. वो नींद में ही गुज़र गए. चंद्रशेखर 98 साल के थे. उन्होंने अपने करियर में कुल 250 से ज़्यादा फिल्मों में काम किया. मगर उन्हें रामानंद सागर की ‘रामायण’ में आर्य सुमंत के रोल के लिए याद किया जाता है.

टाइम्स से बात करते हुए चंद्रशेखर के बेटे अशोक ने अपने पिता के इंतकाल की खबर कंफर्म की. अशोक ने बताया कि वो उनके पिता 16 जून की सुबह 7 बजे नींद में ही गुज़र गए. उन्हें किसी तरह की शारीरिक समस्या नहीं थी. बीते गुरुवार को रेगुलर चेक अप के लिए उन्हें एक दिन अस्पताल में रखा गया था. मगर वो वहां से बिल्कुल तंदुरुस्त लौटे थे. बकौल अशोक, उन लोगों ने ऑक्सीजन सिलिंडर से लेकर तमाम मेडिकल सुविधाओं का इंतज़ाम करके रखा था. इन केस उनके पिता को ज़रूरत पड़े. मगर चंद्रशेखर का अंत बिल्कुल शांत रहा.

फिल्म 'हम दीवाने' के एक सीन में भगवान दादा और मुमताज़ के साथ चंद्रशेखर (सबसे बाएं).
फिल्म ‘हम दीवाने’ के एक सीन में भगवान दादा और मुमताज़ के साथ चंद्रशेखर (सबसे बाएं).

रिपोर्ट्स के मुताबिक चंद्रशेखर ने फिल्मों में आने से पहले की ज़िंदगी बड़ी मुफलिसी में गुज़ारी. उन्हें अपनी ज़रूरतें पूरी करने के लिए चौकीदारी से लेकर ट्रॉली खींचने तक का काम करना पड़ा. फिर कुछ दोस्तों की सलाह पर वो एक्टिंग में अपना करियर बनाने मुंबई चले आए. स्टूडियोज़ के चक्कर काट स्ट्रगल के बाद चंद्रशेखर को थोड़ा-बहुत काम मिलना शुरू हुआ. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1950 में आई फिल्म ‘बेबस’ में एक छोटे से रोल से की थी. बतौर हीरो उनकी पहली फिल्म थी वी. शांताराम डायरेक्टेड ‘सुरंग’. मगर वो अधिकतर फिल्मों में सपोर्टिंग या कैरेक्टर रोल्स निभाते ही नज़र आए. उन्होंने अपने करियर में ‘गेटवे ऑफ इंडिया’, ‘बरसात की रात’ और ‘बसंत बहार’ जैसी चर्चित फिल्मों में काम किया.

स्वयं डायरेक्टेड फिल्म 'चा चा चा' के एक सीन में हेलेन के साथ चंद्रशेखर.
स्वयं डायरेक्टेड फिल्म ‘चा चा चा’ के एक सीन में हेलेन के साथ चंद्रशेखर.

1964 में चंद्रशेखर ने एक फिल्म डायरेक्ट की. इस म्यूज़िकल फिल्म का नाम था ‘चा चा चा’. ये लीड रोल में हेलेन की पहली फिल्म थी. 1966 में उन्होंने अपनी दूसरी फिल्म ‘स्ट्रीट डांसर’ बनाई. मगर धीरे-धीरे उनका एक्टिंग करियर ढलान पर आने लगा. उन्हें फिल्मों में काम मिलना कम हो गया. फिर वो बड़े स्टार्स की फिल्मों में छोटे-मोटे रोल्स किया करते.

कहा जाता है कि चंद्रशेखर को एक समय ऐसा लगने लगा कि वो इंडस्ट्री से बाहर हो जाएंगे. उन्हें काम मिलना बंद हो जाएगा. तो उन्होंने 50 साल की उम्र में गुलज़ार को असिस्ट करना शुरू कर दिया. वो गुलज़ार की ‘परिचय’, ‘अचानक’ और ‘आंधी’ जैसी फिल्मों पर असिस्टेंट डायरेक्टर थे.

अपने नाना और वेटरन एक्टर चंद्रशेखर के साथ एक्टर शक्ति अरोड़ा.
अपने नाना और वेटरन एक्टर चंद्रशेखर के साथ एक्टर शक्ति अरोड़ा.

फिर चंद्रशेखर को रामानंद सागर की ‘रामायण’ में काम मिला. वो राजा दशरथ के मंत्री आर्य सुमंत के किरदार में दिखे थे. ये रोल बहुत बड़ा नहीं था मगर चर्चित खूब हुआ. जब राम, सीता और लक्ष्मण वनवास के लिए जा रहे थे, तब आर्य सुमंत ने ही उन्हें अपने रथ में अयोध्या से गंगा तट तक छोड़ा था. मशहूर टीवी एक्टर शक्ति अरोड़ा, चंद्रशेखर के नाती हैं.


वीडियो देखें: रामायण सीरियल वाले राम-लक्ष्मण, सीता और रावण अब क्या करते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

नेपाल के अधिकारियों ने IMA के उस लेटर का भी हवाला दिया है, जिसमें कोरोनिल को लेकर रामदेव को चुनौती दी गई थी.