Submit your post

Follow Us

अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी की हत्या पर कांग्रेसियों ने गज़ब गंद मचा दी है

अमेठी के बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या में क्या भाजपा का ही हाथ है? क्या सुरेंद्र सिंह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन EVM का कोई राज़ जानते थे? क्या उनको भाजपा नेताओं ने ही मरवाया है? सोशल मीडिया पर ऐसे सवालों की बाढ़ आ गई है. कई लोग इसे भाजपा की साजिश बता रहे हैं. पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी थे. सुरेंद्र की हत्या के बाद उनके अंतिम संस्कार में अमेठी की नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी पहुंचीं. उनकी अर्थी को कंधा दिया. 26 मई तड़के 3 बजे उनकी हत्या कर दी गई थी.

तमाम तरह के कयास लगाए गए कि ये हत्या राजनैतिक वजहों से हुई थी. क्योंकि सुरेंद्र भाजपा कार्यकर्ता थे और 23 मई के नतीजों के बाद आखिरकार भाजपा ने कांग्रेस का गढ़ तोड़ दिया था. हालांकि, कुछ लोग इससे इतर राय रखते हैं. उनका मानना है कि ये आपसी रंजिश का मामला था. कुछ लोग उनकी हत्या पर एक नई ही थ्योरी पेश कर रहे हैं.

क्या ट्वीट कर रहे लोग?
रामचंद्र अग्रवाल नाम के एक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है कि

‘राहुल गांधी अमेठी में सुरेंद्र सिंह की कुछ बी*पी कार्यकर्ताओं ने हत्या कर दी है. सुरेंद्र सिंह ने अमेठी में ईवीएम हैकिंग आयोजित की थी. बीते तीन दिनों से वे ईरानी को 5 करोड़ रुपए के लिए ब्लैकमेल कर रहे थे. अमेठी जाओ और जांच के लिए उनके (सुरेंद्र सिंह के) बेटे से संपर्क करो.’

@RahulGandhi SURENDRA SINGH HAD SHOT DEAD BY B” P WORKERS IN AMETHI YESTERDAY. SURENDRA SINGH HAD ORGANISED EVM HACKING IN AMETHI. IN LAST THREE DAYS HE HAD STARTED BLACKMAILING TO IRANI FOR 5 CRORE. GO AMETHI AND CONTACT WITH SON FOR INVESTIGATION

इसके अलावा लिखा जा रहा है

अमेठी में स्मृति के करीबी भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह की हत्या कर दी गयी है। कहा जा रहा है कि उनके पास EVM से जुडी कुछ जानकारी थी। आज फिर गोपीनाथ मुंडे की याद ताजा हो गई!

और

अमेठी में स्मृति को जीत दिलवाने वाले बीजेपी नेता सुरेन्द्र सिंह की हत्या कर दी गयी है. कहा जा रहा है कि उनके पास EVM से जुडी कुछ जानकारी थी. मैं हिंसा का समर्थक नहीं हूँ. मेरी संवेदनाएँ परिजनों के साथ हैं…!!

ये पोस्ट एक नहीं, कइयों ने शेयर की है या कॉपी करके अपनी वॉल से पोस्ट की है. एक बात को कई लोग दिमाग में घुसाने की कोशिश कर रहे हैं कि सुरेंद्र सिंह की हत्या में EVM का कुछ लेना देना है.

फेसबुक पर का स्क्रीनशॉट भी देख लीजिए. फेसबुक पर कुछ ग्रुप्स हैं जैसे ‘काँग्रेस लाओ भारत बचाओ’ वगैरह. वहां ऐसे पोस्ट डाले जा रहे हैं.

फेसबुक पर कई तरह के क्लेम किए जा रहे हैं. दावे की भाषा कुछ अलग भी है और कहीं-कहीं एक जैसी भी दिख रही है.
फेसबुक पर कई तरह के क्लेम किए जा रहे हैं. दावे की भाषा कुछ अलग भी है और कहीं-कहीं एक जैसी भी दिख रही है.

इसके अलावा कुछ और लोगों के किए क्लेम किया है.

किसी भी बात को बार-बार बोलने पर बात सच तो नहीं हो सकती! हो सकता है कि कुछ लोग यकीन कर लें. लेकिन फैक्ट तो फैक्ट है. इस मामले में भी और किसी भी और कॉन्सपिरेसी थ्येरी में भी. बहरहाल, इस मामले के फैक्ट जान लेना जरूरी है.

जांच में क्या-क्या सामने आया है
इस मामले में अबतक जो जांच हुई है उसमें तो फैक्ट्स कुछ और बोलते हैं.
पहला पॉइंट, पुलिस ने अबतक जांच का यही नतीजा दिया है कि ये राजनैतिक हत्या नहीं है. ये लोकल दुश्मनी का मसला था. यानी लोकल लेवल पॉलिटिक्स वजह बताई जा रही है. ना कि लोकसभा चुनाव. पुलिस ने शक के आधार पर इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. ये तीनों हैं- रामचंद्र, धर्मनाथ और नसीम. दो लोग इस मामले में अब भी फरार बताए जा रहे हैं.

दूसरा पॉइंट, बीजेपी ने दावा नहीं किया है कि ये राजनैतिक हत्या है. स्मृति ईरानी ने इतना कहा कि जिन्होंने भी ये कांड किया है उन्हें वो फांसी दिलाकर ही रहेंगी, चाहे उन्हें सुप्रीम कोर्ट तक जाना पड़े. इसके अलावा भाजपा की ओर से ऐसी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आई है जिसमें किसी दूसरी पार्टी पर इल्ज़ाम लग रहा हो.

सो कुल मिलाकर इस मामले में बेवजह एक नया नैरेटिव खड़ा करने की कोशिश की जा रही है. नई कॉन्सपिरेसी थ्योरी गढ़ने की कोशिश हो रही है. आप सचेत रहें, ऐसी किसी अफवाह पर यकीन ना करें.


वीडियोः अमेठी में सुरेंद्र सिंह के कत्ल की FIR में 5 नाम, क्या बोलीं स्मृति ईरानी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.