Submit your post

Follow Us

बीजेपी कल राज्यसभा में कुछ बड़ा करने वाली थी, लेकिन दिल्ली में चुनाव हार गयी

11 फरवरी 2020. दिल्ली चुनाव के नतीजे आ रहे थे. अरविन्द केजरीवाल जीत रहे थे. भाजपा हार रही थी. खबरों के हिसाब से बड़ा दिन. लेकिन इस दिन एक और बात होने वाली थी. बीजेपी राज्यसभा में कुछ बड़ा करने वाली थी.

राज्यसभा में पार्टी के प्रमुख व्हिप नारायण लाल पंचारिया भाजपा के सभी सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी किया. मतलब आदेश. कहा कि सबको रहना है 11 फरवरी को सदन में. “कुछ अति महत्त्वपूर्ण विधायी कार्य चर्चा एवं पारित करने के लिए मंगलवार दिनांक 11 फरवरी 2020 को लाये जायेंगे. कहा कि पूरे दिन सदन में रहें और सरकार के पक्ष का समर्थन करें.”

Bjp Whip
तीन लाइन का व्हिप जो पंचारिया ने जारी किया था

सोशल मीडिया पर होने लगा बवाल. भाजपा क्या करने वाली है? नयी सरकार में कई मौकों पर भाजपा ने सदन में बिल ऐन मौके पर पेश किये. दोनों सदनों की सहमति मिल गयी. और बिल क़ानून में बदल गए. कई बार बहुत बहसतलब बिल होते थे. इस बार भी ऐसी ही आशंका.

11 फरवरी का दिन. दिल्ली चुनाव नतीजों पर सबकी नज़रें टिकी हुई थीं. इधर था राज्य सभा में 11 बजने का इंतज़ार. बीजेपी क्या करने जा रही है? लेकिन हुआ वही. पार्टी के राज्यसभा सांसदों ने व्हिप तक का पालन नहीं किया. सदन से गायब.

ये बजट सत्र का आखिरी दिन था. इसके बाद पांच हफ़्तों की छुट्टी. सरकार मामला पेश करने वाली थी. नहीं कर पायी. राज्यसभा अध्यक्ष वेंकैया नायडू भड़क गए. मिंट में छपी खबर जानकारी देती है. नायडू ने कहा,

“कुछ राजनीतिक पार्टियों ने व्हिप जारी किया था. ताकि सदन का स्वास्थ्य दुरुस्त रहे. क्योंकि आज सदन का आखिरी दिन है. हम देख रहे हैं कि अटेंडेंस बहुत कम कम है, और ये बहुत खराब संदेश दे रहा है. लग रहा है कि सदस्य बजट या सदन में कोई रुचि नहीं रख रहे हैं.”

नायडू ने आगे कहा,

“विपक्ष के नेता और सदन के नेता ने इन्हीं सब वजहों से पूछा कि क्या वो व्हिप जारी कर सकते हैं. मैंने कहा था कि अगर पूरे सत्र के दौरान व्हिप जारी किया जाए, तो सदस्य सदन में मौजूद रहेंगे.”

नीचे ANI का ट्वीट है. देखिए. कितने नेता थे सदन में.


लल्लनटॉप वीडियो : राज्यसभा से निकला वेंकैया नायडू का ये क्लिप औरतों के प्रति उनकी मानसिकता को दिखाता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोलकाता एयरपोर्ट ने अचानक छह बड़े शहरों से फ्लाइट आने पर रोक क्यों लगा दी?

ये रोक कब तक जारी रहेगी?

कानपुर हमले में घायल बिठूर के दरोगा ने बताया- कैसे आठ पुलिसवाले शहीद हो गए

दो जुलाई की रात का मंजर बताया, चौबेपुर थाने के एसओ पर सही जानकारी नहीं देने का आरोप लगाया.

कानपुर: शहीद पुलिसवालों में एक रिटायर होने वाले थे, दो ने कुछ महीनों पहले ही की थी जॉइनिंग

गैंगस्टर विकास दुबे और उसके साथियों की गोलीबारी में आठ पुलिसवाले शहीद हुए हैं.

लेह में पीएम की घायल सैनिकों से मुलाकात, अस्पताल पर उठ रहे सवाल का सेना ने दिया जवाब

पीएम मोदी की यात्रा के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने सवाल उठाए थे.

चौबेपुर के एसओ पर मुख़बिरी का शक, हमला होने पर भाग गए थे, पुलिस ने लिया एक्शन

विकास दुबे को पकड़ने गई टीम पर हमले में 8 पुलिस जवान शहीद हो गए थे.

बदमाशों ने दो पुलिसवालों की हत्या कर दी, सिपाही के हाथ पर लिखे गाड़ी नंबर ने केस सुलझा दिया

हरियाणा: सड़क किनारे शराब पीने से टोका तो चाकू मारकर हत्या कर दी.

जेसीबी लगाकर रास्ता रोका था, जेसीबी से ही पुलिस ने गिरा दिया विकास दुबे का किलेनुमा घर

ऊंची चारदीवारी पर तारों से बाड़ेबंदी की गई थी. कई सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे.

कानपुर: हमले से पहले विकास दुबे की कई पुलिसवालों से फोन पर बातचीत हुई थी!

विकास दुबे की कॉल डिटेल्स के आधार पर पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है.

कानपुर: शहीद SO के गनर और विकास दुबे की मामी ने बताई हमले वाली रात की पूरी कहानी

बिकरू गांव में पुलिस पर 2 जुलाई की रात को हमला हुआ था. 8 पुलिसवाले शहीद हो गए.

कानपुर: शक के घेरे में चौबेपुर के एसओ, हमला होने पर जेसीबी के पीछे छिप गए थे!

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विनय तिवारी के विकास दुबे से अच्छे संबंध थे.