Submit your post

Follow Us

बिहार MLC चुनाव: कांग्रेस ने सीनियर नेता को टिकट दिया, लेकिन अंत में प्रत्याशी बदल क्यों दिया?

बिहार में नौ सीटों के लिए विधान परिषद का चुनाव होना है. 25 जून नामांकन का आखिरी दिन था. इससे एक दिन पहले ही कांग्रेस ने अपने कैंडिडेट के नाम की घोषणा की थी. पुराने कांग्रेसी तारिक अनवर को पार्टी ने टिकट दिया था. लेकिन अंतिम समय में उसे अपना प्रत्याशी बदलना पड़ा.

क्यों बदला प्रत्याशी?

तारिक अनवर की जगह अब समीर सिंह एमएलसी प्रत्याशी होंगे. तकनीकी वजह से तारिक अनवर का नाम पार्टी ने वापस लिया है. दरअसल, एमएलसी चुनाव में प्रत्याशी का उसी राज्य का स्थायी पता होना चाहिए. साथ ही उस राज्य के वोटर लिस्ट में नाम होना चाहिए.  तारिक अनवर का नाम और पता दिल्ली का है. ऐसे में उनका नामांकन नहीं हो पाया.

नाम वापस लेने के सवाल पर तारिक अनवर ने कहा कि पहले उनके नाम की कोई चर्चा नहीं थी. पार्टी आलाकमान ने उन्हें उम्मीदवार बनाया. इसके बाद यह पता चला कि प्रत्याशी बनने के लिए बिहार के वोटर लिस्ट में नाम होना जरूरी है. उन्होंने कहा, “मैं कई बार लोकसभा और राज्यसभा का सदस्य रहा हूं और मेरा दिल्ली के वोटर लिस्ट में नाम है.”

कौन हैं समीर सिंह?

समीर सिंह बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हैं. छात्र जीवन से ही कांग्रेस संगठन से जुड़ गए थे. उनके दादा बनारसी प्रसाद सिंह मुंगेर से तीन बार लगातार सांसद रहे और पंडित जवाहरलाल नेहरू के काफी नजदीकी लोगों में से थे. समीर सिंह के पिता राजेंद्र प्रसाद सिंह बिहार के कैबिनेट मंत्री रहे. 2018 में समीर सिंह को बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया.

नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन जदयू के तीन और भाजपा के दो उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया. एनडीए के उम्मीदवारों के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी समेत तमाम विभागों के मंत्री और विधायक मौजूद थे. भाजपा की तरफ से संजय मयूख उर्फ संजय प्रकाश और सम्राट चौधरी ने पर्चा भरा. जबकि, जदयू की तरफ से तीन उम्मीदवारों गुलाम गौस, भीष्म सहनी और डॉ. कुमुद वर्मा ने नामांकन किया. लालू प्रसाद यादव की पार्टी ने तीन सीटों के लिए फारूक शेख, सुनील सिंह और रामबली चंद्रवंशी को चुना है.


बिहार के रिटायर्ड डीएसपी ने आत्महत्या कर ली, वजह हैरान करने वाली है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पैंगोंग और गलवान के बाद लद्दाख के इन इलाकों में चीन नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है.

राजस्थान में महाराणा प्रताप को लेकर फिर से हंगामा क्यों हो रहा है?

फिर से राजस्थान बोर्ड का सिलेबस चर्चा में है.

पतंजलि ने खांसी-सर्दी की दवा के लाइसेंस पर 'कोरोना की दवा' बना दी!

जारी हो गया है नोटिस

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

वीडियो कब का है, कहां का है?

इंग्लैंड टूर से पहले पाकिस्तान के तीन क्रिकेटर कोविड पॉज़िटिव

अहम टूर से पहले पाकिस्तान को लगा झटका.

पटना के बैंक में दिन-दहाड़े 52 लाख रुपए की डकैती

अपराधियों ने बैंक में लगे CCTV की हार्ड डिस्क तोड़ दी.

अब लद्दाख की पैंगोंग झील के पास चीन की हरकत, भारतीय क्षेत्र में बना रहा है बंकर

सैटेलाइट इमेज एक्सपर्ट की बातें यही इशारा कर रही हैं.

भारतीय सेना के पूर्व अधिकारियों ने किस बात पर आपस में भयानक झगड़ा फ़ान लिया?

गौरव आर्या ने भीड़ से पिट जाने की बात कह डाली.

रेलवे की नौकरी के भरोसे न बैठें, रेलवे की जेबें खाली हैं!

कोरोना लॉकडाउन ने रेलवे का हाल खस्ता कर दिया है.

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.