Submit your post

Follow Us

बिहार MLC चुनाव: कांग्रेस ने सीनियर नेता को टिकट दिया, लेकिन अंत में प्रत्याशी बदल क्यों दिया?

बिहार में नौ सीटों के लिए विधान परिषद का चुनाव होना है. 25 जून नामांकन का आखिरी दिन था. इससे एक दिन पहले ही कांग्रेस ने अपने कैंडिडेट के नाम की घोषणा की थी. पुराने कांग्रेसी तारिक अनवर को पार्टी ने टिकट दिया था. लेकिन अंतिम समय में उसे अपना प्रत्याशी बदलना पड़ा.

क्यों बदला प्रत्याशी?

तारिक अनवर की जगह अब समीर सिंह एमएलसी प्रत्याशी होंगे. तकनीकी वजह से तारिक अनवर का नाम पार्टी ने वापस लिया है. दरअसल, एमएलसी चुनाव में प्रत्याशी का उसी राज्य का स्थायी पता होना चाहिए. साथ ही उस राज्य के वोटर लिस्ट में नाम होना चाहिए.  तारिक अनवर का नाम और पता दिल्ली का है. ऐसे में उनका नामांकन नहीं हो पाया.

नाम वापस लेने के सवाल पर तारिक अनवर ने कहा कि पहले उनके नाम की कोई चर्चा नहीं थी. पार्टी आलाकमान ने उन्हें उम्मीदवार बनाया. इसके बाद यह पता चला कि प्रत्याशी बनने के लिए बिहार के वोटर लिस्ट में नाम होना जरूरी है. उन्होंने कहा, “मैं कई बार लोकसभा और राज्यसभा का सदस्य रहा हूं और मेरा दिल्ली के वोटर लिस्ट में नाम है.”

कौन हैं समीर सिंह?

समीर सिंह बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हैं. छात्र जीवन से ही कांग्रेस संगठन से जुड़ गए थे. उनके दादा बनारसी प्रसाद सिंह मुंगेर से तीन बार लगातार सांसद रहे और पंडित जवाहरलाल नेहरू के काफी नजदीकी लोगों में से थे. समीर सिंह के पिता राजेंद्र प्रसाद सिंह बिहार के कैबिनेट मंत्री रहे. 2018 में समीर सिंह को बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया.

नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन जदयू के तीन और भाजपा के दो उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया. एनडीए के उम्मीदवारों के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी समेत तमाम विभागों के मंत्री और विधायक मौजूद थे. भाजपा की तरफ से संजय मयूख उर्फ संजय प्रकाश और सम्राट चौधरी ने पर्चा भरा. जबकि, जदयू की तरफ से तीन उम्मीदवारों गुलाम गौस, भीष्म सहनी और डॉ. कुमुद वर्मा ने नामांकन किया. लालू प्रसाद यादव की पार्टी ने तीन सीटों के लिए फारूक शेख, सुनील सिंह और रामबली चंद्रवंशी को चुना है.


बिहार के रिटायर्ड डीएसपी ने आत्महत्या कर ली, वजह हैरान करने वाली है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.