Submit your post

Follow Us

बिहार: छठवीं के 2 बच्चों के बैंक खाते में दिखी 967 करोड़ की राशि का सच ये है

बिहार का कटिहार. बाकी जगहों की तरह यहां भी स्कूली बच्चों के नाम पर बैंक खाते हैं. इसी खाते में कॉपी-किताब और स्कूली ड्रेस वगैरह की राशि आती है. बुधवार 15 सितंबर को दो बच्चे ये देखने गए कि उनके खाते में पैसा आया है कि नहीं. लेकिन जब उन्होंने अपने खाते में रकम देखी तो होश उड़ गए. दोनों बच्चों के खाते में 960 करोड़ से ज्यादा की रकम दिख रही थी. ये बात आग की तरह इलाके में फैल गई. फिर क्या था. लोगों की भीड़ टूट पड़ी. हर कोई अपने खाते में बैलेंस देखना चाह रहा था. बच्चे और उनके परिवार वाले भी हैरान थे, लेकिन उनकी ये खुशी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई. आइए बताते हैं पूरा मामला.

कक्षा 6 के बच्चों के खाते में दिखे करोड़ों

मामला कटिहार जिले की बघौरा पंचायत के पस्तिया गांव का है. यहां गुरुचरण विश्वास और असित कुमार कक्षा 6 में पढ़ते हैं. इनका उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की भेलागंज शाखा में खाता है. कटिहार के आजतक संवाददाता बिपुल राहुल के मुताबिक, बुधवार 15 सितंबर को बच्चे ड्रेस की राशि के बारे में पता करने के लिए CSP यानी ग्राहक सेवा केंद्र पहुंचे. पता चला कि दोनों के खातों में तो करोड़ों रुपए हैं. गुरुचरण विश्वास के खाते में 62 करोड़ रुपये से अधिक की रकम दिख रही थी. जबकि असित कुमार के खाते में 905 करोड़ नजर आ रहे थे.

जांच हुई तो असलियत सामने आई

मामले की जानकारी बैंक के अधिकारियों को हुई तो हड़कंप मच गया. आनन-फानन में जांच कराई गई, तब जाकर असलियत का पता चला. शाखा प्रबंधक मनोज गुप्ता ने बताया कि जानकारी मिलते ही बच्चों के खाते से भुगतान पर रोक लगा दी गई थी. सीनियर अधिकारियों को जानकारी देकर तहकीकात कराई गई. बैंक के डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर सनत कुमार ने बताया कि दोनों बच्चों के खातों के स्टेटमेंट निकलवाए गए. पता चला कि असित कुमार के खाते में 100 रुपया बैंलेस है. गुरुचरण के खाते में 128 रुपये थे. हमारी भेलागंज ब्रांच में किसी के खाते में 960 करोड़ रुपये नहीं आए. सीएसपी सेंटर पर इतनी बड़ी रकम दिख रही थी तो कुछ तकनीकी दिक्कत रही होगी. बैंक से ऐसा कुछ नहीं हुआ.

इस मामले को लेकर जिलाधिकारी उदयन मिश्रा ने भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपये खाते में जमा होने जैसी कोई बात नहीं थी. यह सब सॉफ्टवेयर की गलती से हुआ था, जिसे बाद में ठीक कर दिया गया. उन्होंने कहा कि,

हमें जानकारी मिली थी कि आजमनगर में 2-3 छात्रों के अकाउंट में बहुत ज्यादा राशि दिख रही थी. सुबह-सुबह बैंक की ब्रांच को खुलवाकर जांच कराई गई. बैंक मैनेजर से स्टेटमेंट निकलवाया गया. इसमें बच्चों के खाते में बैलेंस 100 रुपया ही था. मैनेजर ने बताया कि सॉफ्टवेयर की कुछ त्रुटि हुई थी. इसी की वजह से कुछ समय के लिए बच्चों के अकाउंट में इतनी रकम दिखी थी. लेकिन असल में खाते में उतने पैसे जमा नहीं हुए थे. पटना से सॉफ्टवेयर की जो प्रॉब्लम थी, उसे ठीक कर दिया गया तो फिर से खाते में जो नॉर्मल जो उनका बैलेंस था. वो दिखने लगा.

खगड़िया में खाते में आए पैसे, खर्च कर दिए

हाल में कुछ ऐसा ही मामला बिहार के खगड़िया से सामने आया था. ग्रामीण बैंक की बख्तियारपुर ब्रांच में अकाउंट होल्डर रंजीत दास के खाते में एक दिन अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए. बकौल रंजीत सिंह उन्हें लगा कि खाते में रुपये पीएम मोदी ने भेजे हैं. रंजीत ने अपने खाते से रुपये निकाल लिए और खर्च करने शुरू कर दिए. कुछ दिन बाद बैंक को अपनी गलती का पता चला. असल में पैसा किसी दूसरे अकाउंट में जमा होना था, लेकिन गलती से रंजीत के अकाउंट में ट्रांसफर हो गया. बैंक ने रंजीत से रुपए लौटाने को कहा, लेकिन रंजीत ने पैसे वापस करने से साफ मना कर दिया. रंजीत का कहना था कि यह पैसे तो पीएम मोदी ने मेरे खाते में जमा करवाए हैं. आखिरकार बैंक की ओर से रंजीत दास के खिलाफ मानसी थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई. इसके बाद पुलिस ने रंजीत को गिरफ्तार करके खगड़िया जेल भेज दिया.

खाते में आए जाए मोटी रकम तो क्या करें?

बैंकिग एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर अचानक किसी के बैंक खाते पैसे आ जाएं तो फौरन निकालकर खर्च करने की बात कभी न सोचें. अगर आपको अपने खाते में रकम आने का सोर्स मालूम नहीं चलता है तो इस स्थिति में तुरंत बैंक को जानकारी दें. बैंक को इस बारे में नहीं बताकर आप बड़ी गलती करेंगे, क्योंकि उसे कभी ना कभी इस बारे में पता चल ही जाएगा. इसके बाद रिकवरी का प्रोसेस शुरू होगा.


बिहार के उस शख्स के साथ गजब खेल हो गया जो मोदी के नाम पर बैंक का पैसा नहीं लौटा रहा था!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.