Submit your post

Follow Us

कोरोना संक्रमण के दौर में भी इस राज्य के सैकड़ों डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ नदारद पाए गए!

बिहार. कोरोना के इस संक्रमण के दौर में भी बिहार के 37 जिलों से कुल 362 डॉक्टर ड्यूटी से गायब पाए गए. स्वास्थ्य विभाग ने ड्यूटी से गायब रहने वाले डॉक्टरों की सूची तैयार की है. विभाग ने इन्हें ‘कारण बताओ’ नोटिस भेजकर जवाब मांगा है. बिहार में स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों समेत सभी मेडिकल कर्मचारियों की छुट्ट‍ियां मई के आख‍िर तक रद्द कर दी हैं. हालांकि मातृत्व अवकाश को इसमें शामिल नहीं किया गया है.

क्या है मामला

बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य विभाग ने 31 मार्च से 12 अप्रैल के बीच निरीक्षण किया. इसमें प्रदेश के 37 जिलों में कार्यरत 362 डॉक्टरों को ड्यूटी से गायब पाया गया. अकेले पटना जिले में ही ऐसे 25 डॉक्टर मिले, जो ड्यूटी पर नहीं थे.

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि राज्य में कोरोना पर नियंत्रण को लेकर सभी चिकित्सा पदाधिकारी, नर्स, पैरामेडिकल, चतुर्थवर्गीय कर्मी से लेकर निदेशक प्रमुख तक, सबकी सभी प्रकार की छुट्टियां (अध्ययन और मातृत्व अवकाश को छोड़कर) रद्द कर दी गयी हैं.

प्रधान सचिव ने सभी चिकित्सा पदाधिकारियों को फिर से निर्देश देते हुए कहा-

जो भी डॉक्टर अथवा स्वास्थ्य कर्मचारी ड्यूटी पर नहीं हैं, इन सभी से समाचार माध्यमों के जरिए आपदा प्रबंधन एक्ट और महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई करने के लिए स्पष्टीकरण मांगा गया है. साथ ही निर्देश दिया गया है कि वे अपने ड्यूटी पर शीघ्र उपस्थित होकर कोरोना की रोकथाम के लिए सार्थक प्रयास करें.

वहीं, बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि प्रदेश के 38 में से किसी भी जिले को ग्रीन जोन में नहीं रखा गया है. उन्होंने लोगों से घरों में ही रहने की अपील की है.

गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा-

आवश्यक और सरकारी सेवाओं से जुड़ी गतिविधियों को देखकर यह अंदाजा नहीं लगाएं कि लॉकडाउन में किसी प्रकार की छूट दी गई है. प्रदेश के सभी 38 जिले या तो रेड जोन में हैं या फिर ऑरेंज जोन में. रेड जोन में सख्ती से प्रतिबंध जारी हैं, जबकि ऑरेंज जोन में स्थानीय प्रशासन कुछ गतिविधि की अनुमति दे सकता है.

बिहार में कोरोना वायरस के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. यहां अब तक कोरोना से 536 संक्रमित पाए गए, जिनमें 142 लोग इलाज के बाद ठीक हो गए हैं. बिहार में कोरोना के चलते चार लोगों की मौत हो चुकी है.



वीडियो देखें: लॉकडाउन के 40 से ज़्यादा दिन बीतने गए, पर सूरत में मजदूर अभी भी घर जाने का साधन ढूंढ रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.