Submit your post

Follow Us

नीतीश कुमार ने NRC के सवाल पर अब यू-टर्न क्यों ले लिया?

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर एक बार फिर बड़ा बयान दिया है. नीतीश ने कहा कि नागरिकता कानून को लेकर बहस होनी चाहिए, बिहार में एनआरसी लागू होने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता.

# कहा क्या नीतीश ने

सीएम नीतीश कुमार ने CAA और NRC पर अपना पक्ष साफ करते हुए कहा-

हमें इस विषय पर कोई ऐतराज नहीं है. अगर किसी चीज़ को लेकर सबके मन में अलग-अलग राय है, तो इस विषय पर चर्चा होनी ही चाहिए. अगले सेशन में इस बात पर चर्चा हो जाए. लेकिन एक बात मैं ज़रूर कहना चाहता हूं कि NRC की जहां तक बात है, तो NRC का तो सवाल ही पैदा नहीं होता. NRC आया कहां से? जब पहले ही केंद्र में राजीव गांधी की सरकार थी, तब असम के साथ जो समझौता हुआ था, तब NRC की बात हुई थी. देश के कन्टेक्स्ट में तो NRC की कभी कोई बात ही नहीं थी.

# हालांकि ये पहली बार नहीं है

नीतीश कुमार एनआरसी को लेकर पहले भी बयान दे चुके हैं. नीतीश कुमार की पार्टी ने संसद में नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन किया था. नीतीश ने CAA के मुद्दे पर कहा कि इससे राज्य सरकारों का कोई लेना-देना नहीं है, जो भी करना है संसद को करना है. उन्होंने कहा कि इस पर जो भी बोलना है, 19 जनवरी के बाद बोलूंगा.

पार्टी के एक कार्यक्रम में राज्यसभा में संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने कहा कि नये नागरिकता क़ानून और NRC पर कुछ लोग भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. जब तक नीतीश कुमार हैं, किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं किया जायेगा.

अब नीतीश कुमार ने कह दिया है कि बिहार विधानसभा में नागरिकता संशोधन कानून पर विशेष चर्चा होनी चाहिए. देखने वाली बात होगी कि NRC और CAA पर NDA के बाक़ी घटक दल नीतीश के इस तेवर से कितना और कैसे राब्ता रखेंगे.

# हालांकि एक बात और

वो ये कि अब NRC पर देश का मौका, माहौल और मूड भांपते हुए पीएम नरेंद्र मोदी भी तो यही कह रहे हैं कि हमने कभी NRC की बात कही ही नहीं. तो ऐसे में नीतीश कुमार ने कोई बहुत ख़िलाफ़ बात नहीं कह दी है. बाहर से देखने पर नीतीश अपने वोटर्स के मन की बात ही कहते दिखाई पड़ रहे हैं, जबकि असल में नीतीश केंद्र सरकार के मन की बात कह रहे हैं.


वीडियो भी देखें:

RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने JNU हिंसा और लोकतंत्र पर ज़रूरी टिप्पणी की है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.