Submit your post

Follow Us

क्वारंटीन सेंटर में रहने वालों के लिए जो खाना पकाता था, वही कोरोना पॉजिटिव पाया गया

बिहार का छपरा जिला. यहां पर क्वारंटीन सेंटर का रसोइया कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. यानी जो व्यक्ति लोगों के लिए खाना बना रहा था, वही संक्रमित मिला है. मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया. क्वारंटीन सेंटर में 65 लोग रह रहे थे.

‘इंडिया टुडे’ के आलोक जायसवाल के अनुसार, यह क्वारंटीन सेंटर छपरा के जयप्रकाश नारायण इंजीनियरिंग कॉलेज में था. 30 मार्च से इसे आपदा राहत केंद्र के रूप में इस्तेमाल किया गया. इसमें पैदल घर जा रहे लोगों को रखा गया था. साथ ही आसपास के बेघर लोग भी यहीं खाना खाते थे. 17 अप्रैल को कॉलेज को क्वारंटीन सेंटर बना दिया गया.

दो लोगों के पॉजिटिव आने पर की गई जांच 

क्वारंटीन सेंटर बनने के बाद बाहर से आए लोगों को इसमें रखा गया. ऐसे में दूसरे जिलों और राज्यों से आए करीब 65 लोग अभी यहां रुके हुए थे. ये लोग 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर रहे थे. पिछले दिनों यहां पर दो लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे. इसके बाद प्रशासन ने बाकी सभी लोगों के सैंपल लिए और जांच के लिए भेज दिए. इनमें से बाकी सभी लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई. लेकिन रसोइए की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली.

खाना बनाकर गांव जाता था रसोइया, अब गांव भी सील

जानकारी के अनुसार, रसोइए रोज खाना बनाकर अपने गांव खलपुरा चला जाता था. ऐसे में उसके पॉजिटिव होने पर उसके गांव को भी पूरी तरह से सील कर दिया गया है. साथ ही उसके सभी परिजनों को भी क्वारंटीन किया गया है. कोरोना टेस्ट के लिए उसके परिजनों के सैंपल भी लिए गए हैं. उनके रिजल्ट का इंतजार है.

रसोइए के पॉजिटिव आने के बाद छपरा में कोरोना के कुल 10 मामले हो गए हैं. इनमें से एक युवक ठीक होकर घर जा चुका है, जबकि नौ मामले अभी एक्टिव हैं.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: दिल्ली में एक ही बिल्डिंग के कई लोग कोरोना पॉजिटिव मिले!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.

यूजीसी ने बताया, इन तारीखों को और इस तरह होंगे यूनिवर्सिटी के एग्जाम

जिन बच्चों के पेपर अटके हुए हैं, उनका साल बर्बाद न हो, इसकी पूरी व्यवस्था है.