Submit your post

Follow Us

बिहार: कोरोना के डर की वजह से इस ऑटो ड्राइवर को नुकसान होते-होते रह गया!

क्या हो, जब आप सड़क पर चल रहे हों और अचानक हज़ारों रुपये गिरे हुए दिख जाएं. या अगर आप कहीं से आ रहे हों और आपके ही पैसे रास्ते में गिर जाएं. ऐसे में आप दोबारा उन्हें पाने की उम्मीद भी छोड़ देते हैं. लेकिन कोरोना के इस दौर में एक शख्स के बीस हज़ार रुपये सड़क पर पड़े रहे और किसी ने उसे छुआ भी नहीं. अब हमारे देश में लोग इतने ईमानदार हो गये हैं या लोगों ने कोरोना के डर से ऐसा किया, इस पर तो हम कुछ नहीं कह सकते. लेकिन मामला क्या है, यह जान लेते हैं.

क्या है मामला

बिहार का सहरसा जिला. यहां के कोपा गांव के गजेंद्र शाह ऑटो चलाते हैं. शनिवार, 2 मई की सुबह वे पचीस हज़ार रुपये लेकर घर से निकले. शाह को अपने घर का लिए टीनशेड खरीदना था. लेकिन शहर के महुआ बाज़ार पहुंचने से पहले ही उन्हें एहसास हुआ कि उनके बीस हज़ार, पांच सौ रुपये रास्ते में ही गिर गए हैं.

गजेंद्र बताते हैं,

मैंने तंबाकू निकालने के लिए पॉकेट में हाथ डाला, तो पाया कि मेरे पैसे तो कहीं गिर गए हैं. पहले तो मैं समझ ही नहीं पाया कि क्या हो गया है. मैंने तुरंत ऑटो घुमाया और पैसा ढूंढ़ने लगा. लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ.

गजेंद्र अपनी दो महीने की कमाई खोकर घर वापस आ गए. लेकिन थोड़ी देर बाद गजेंद्र के पड़ोसी ने बताया कि फेसबुक पर कुछ तस्वीरें शेयर हो रही हैं, जिसमें बताया जा रहा है कि उदाकिशगंज पुलिस चौकी ने कुछ कैश बरामद किया है. लोग COVID-19 के डर से नोट को छूने से डर रहे थे, इसलिए पुलिस को सूचित कर दिया.

उदकिशगंज पुलिस चौकी के इंचार्ज शशि भूषण सिंह ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने उन्हें फोन करके इसके बारे में बताया. उन्होंने कहा,

मेरे पास कई फोन आये. लगभग सभी ने कहा कि किसी ने नोट के जरिए कोरोना वायरस फैलाने की साजिश की है. कोई नोटों को छूना नहीं चाह रहा था. मैंने वॉट्सऐप पर तस्वीर मंगाई. बाद में पुलिस ने उन पैसों को बरामद किया.

बाद में गजेंद्र एक गवाह के साथ पुलिस चौकी पहुंचे, तो पुलिस ने अंडरटेकिंग लेने के बाद पैसे दे दिये. गजेंद्र ने पुलिस को धन्यवाद दिया. वो कोरोना के ‘डर’ के प्रति भी आभारी थे, जिसकी मदद से उनके पैसे वापस मिल गए.


वीडियो देखें: तस्वीर: जब एक इंजीनियर को मजदूरों और सफ़ाईकर्मियों का दर्द समझ आया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इन राज्यों में शराब की होम डिलीवरी कैसे होगी, क्या हैं नियम और तरीके?

शराबियों ने सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ी, तो सरकार ने यह तरीका निकाला है.

हॉस्पिटल ने कह दिया कि दाढ़ी कटवाओ, अब डॉक्टर प्रोटेस्ट कर रहे हैं

काम से हटाए जाने के बाद ये लोग विरोध कर रहे हैं.

क्या कोरोना मरीजों से प्राइवेट अस्पताल मोटी फीस वसूल रहे हैं?

मुंबई से ऐसे कई मामले आए हैं.

पूरी दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स भारत में लिया जा रहा है

इस मामले में भारत ने फ्रांस और जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है.

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.