Submit your post

Follow Us

सुरेश रैना ने सचिन तेंडुलकर को फुटबॉलर लियोनल मेसी जैसा क्यों बताया?

लियोनल मेसी और सचिन तेंडुलकर. अपने-अपने फन के माहिर दो फनकार. एक ने क्रिकेट में तमाम रिकॉर्ड अपने नाम किए, तो दूसरे का सिक्का फुटबॉल में चलता है. अंतर बस इतना है कि सचिन तेंडुलकर क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत चुके हैं. मेसी के लिए अभी तक फुटबॉल वर्ल्ड कप जीतना दूर की कौड़ी ही है. साल 2014 का फाइनल छोड़ दें, तो उनकी टीम वर्ल्ड कप में बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई.

पर्सनल लेवल पर देखें, तो दोनों प्लेयर ने तमाम रिकॉर्ड बनाए हैं. मेसी ने जहां फुटबॉल का सबसे प्रतिष्ठित व्यक्तिगत अवॉर्ड ‘बैलन डे ऑर’ छह बार जीता है. वहीं सचिन कई दफा ‘विज्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ चुना जा चुके हैं.

# मेसी जैसे सचिन

इन दोनों की एकसाथ चर्चा इसलिए, क्योंकि सचिन के साथ खेल चुके सुरेश रैना ने उन्हें मेसी जैसा बताया है. ‘खलीज टाइम्स’ के साथ बात करते हुए रैना ने कहा,

‘मैं मेसी का बड़ा फैन हूं. वह बेहद विनम्र हैं. सचिन और मेसी, दोनों ही अपने आसपास के लोगों की फिक्र करने में काफी अच्छे हैं, क्योंकि स्पोर्ट्स में आपको सच में विनम्र रहना होता है. आप दुनिया के नंबर वन प्लेयर हो सकते हैं, लेकिन सबसे जरूरी चीज आपकी विरासत है, आपको सभी के प्रति आभार जताना होता है.’

इस लाइव के दौरान रैना ने 2011 वर्ल्ड कप पर भी बात की. उन्होंने कहा कि टीम इंडिया के 2011 वर्ल्ड कप जीतने में सचिन तेंडुलकर का बड़ा रोल था.

रैना ने कहा,

‘सचिन के साथ उनकी सबसे बड़ी खासियत है, उनका शांत रहना. सचिन की वजह से ही हमने वर्ल्ड कप जीता. उन्होंने ही टीम में सबको यकीन दिलाया कि हम कर सकते हैं, वह टीम के दूसरे कोच की तरह थे.’

साल 2011 के वर्ल्ड कप में सचिन ने 53.55 की ऐवरेज के साथ 482 रन बनाए थे. सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहे सचिन का स्ट्राइक रेट लगभग 92 का था. इंडियन ऑलराउंडर युवराज सिंह को इस वर्ल्ड कप का ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया था.


सचिन के उस एजेंट की कहानी, जिन्होंने क्रिकेट बोर्ड का चेहरा बदल दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.

यूजीसी ने बताया, इन तारीखों को और इस तरह होंगे यूनिवर्सिटी के एग्जाम

जिन बच्चों के पेपर अटके हुए हैं, उनका साल बर्बाद न हो, इसकी पूरी व्यवस्था है.

आतंकियों को हथियार पहुंचाने में BJP का पूर्व नेता पकड़ाया, पार्टी ने कहा 'बैकग्राउंड पता नहीं था'

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #BJPwithTerrorists.