Submit your post

Follow Us

अयोध्या भूमिपूजन: सिक्योरिटी कोड वाले कार्ड से होगी एंट्री, तीन घंटे अयोध्या में रहेंगे पीएम मोदी

अयोध्या 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए तैयार है. सुरक्षा को देखते हुए शहर में जगह-जगह बैरिकेड भी लगा दिए गए हैं. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने 3 अगस्त को तैयारियों का जायजा भी लिया. उन्होंने लोगों से अपील की है वे घर पर ही रहें. जिन्हें बुलावा मिला है, वे ही आएं. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 लोगों को बुलाया गया है. इनमें से ज्यादातर संत हैं. भारत के साथ ही नेपाल के संतों को भी बुलाया गया है. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ और RSS चीफ मोहन भागवत भी शामिल होंगे. पीएम मोदी करीब तीन घंटे तक अयोध्या में रहेंगे.

ऐसा होगा पीएम मोदी का कार्यक्रम

– 5 अगस्त को सुबह साढ़े नौ बजे स्पेशल प्लेन से लखनऊ जाएंगे. यहां से हेलीकॉप्टर से अयोध्या जाएंगे.
– पीएम मोदी साढ़े 11 बजे अयोध्या पहुंचेंगे.
– अयोध्या में वे सबसे पहले हुनुमानगढ़ी मंदिर जाएंगे. यहां पर पूजा करेंगे. इसके बाद राम जन्मभूमि जाएंगे.
– राम मंदिर के भूमि पूजन का मुहूर्त दोपहर 12.40 बजे के आसपास है. यह कार्यक्रम करीब डेढ़ घंटे चलेगा.
– दोपहर दो बजे के करीब वे वापस हैलीकॉप्टर से लखनऊ आएंगे और वहां से दिल्ली रवाना हो जाएंगे.

अब जानते हैं भूमि पूजन की तैयारियों के बारे में

मेहमानों की लिस्ट

कुल 175 मेहमान शामिल होंगे. इनमें 135 संत होंगे जो अलग-अलग परंपराओं से संबंध रखते हैं. अयोध्या के कुछ प्रमुख लोगों को भी बुलाया गया है. इनमें अयोध्या भूमि विवाद में याचिकाकर्ता इकबाल अंसारी, पद्मश्री और लावारिस शवों का अंतिम संस्कार करने वाले मोहम्मद युनूस शामिल हैं. वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे. उमा भारती ने कोरोना के चलते आने से मना कर दिया है.

Sale(27)
राममंदिर भूमिपूजन का इनविटेशन कार्ड ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तरफ से भेजा जा रहा है. (फोटो-कुमार अभिषेक)

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने बताया कि कोरोना के चलते कुछ मेहमानों के आने में व्यवहारिक समस्याएं हैं. जैसे 90 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का आना सही नहीं है. वहीं शंकराचार्य और कुछ संतों ने चतुर्मास के चलते आने में असमर्थता जताई है. कार्यक्रम के दौरान मंच पर केवल पीएम मोदी, सीएम योगी, राज्यपाल आनंदीबेन, आरएसएस प्रमुख भागवत और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ही मौजूद होंगे.

भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए अयोध्या में जगह-जगह सुरक्षा जांच हो रही है.
भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए अयोध्या में जगह-जगह सुरक्षा जांच हो रही है.

सुरक्षा

सुरक्षा के काफी सख्त और चाकचौबंद व्यवस्था की गई है. कार्यक्रम में आने वाले मेहमानों को सिक्योरिटी कोड वाला निमंत्रण कार्ड दिया गया है. इस कार्ड को केवल एक बार काम में लिया जा सकता है. साथ ही इस कार्ड पर एक सीरियल नंबर भी होगा. एंट्री से पहले पुलिसकर्मी इसे रिकॉर्ड में मौजूद नंबर से जांचेंगे. कार्यक्रम स्थल से एक बार आने के बाद दोबारा नहीं जाया जा सकेगा. भूमि पूजन वाली जगह पर किसी तरह की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, मोबाइल या कैमरा ले जाने की अनुमति नहीं होगी. पार्किंग की व्यवस्था अमवा मंदिर के पास की गई है. मेहमानों को करीब 250 कदम चलकर भूमि पूजन वाली जगह पहुंचना होगा.

5 अगस्त को भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए देश के 1500 पवित्र और ऐतिहासिक स्थानों की मिट्टी मंगाई गई है. इसके साथ ही 2000 स्थानों से पवित्र जल भी मंगाया गया है. (फोटो-पीटीआई)
5 अगस्त को भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए देश के 2000 पवित्र और ऐतिहासिक स्थानों की मिट्टी मंगाई गई है. इसके साथ ही 100 नदियों से पवित्र जल भी मंगाया गया है. (फोटो-पीटीआई)

भूमि पूजन का कार्यक्रम

सभी मेहमानों को साढ़े 10 बजे तक अपनी जगह पहुंच जाना होगा. यह कार्यक्रम सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक चलेगा. पीएम मोदी 12 बजे तक इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. भूमि पूजन 12.40 बजे के आसपास होगा. इसके लिए 2000 तीर्थ स्थानों से मिट्टी और करीब 100 नदियों से पानी मंगाया गया है. इसके अलावा कई संतों ने कई पवित्र वस्तुएं भी भेजी हैं.

भूमि पूजन से पहले रोशनी से चमचमाती राम की पौड़ी.
भूमि पूजन से पहले रोशनी से चमचमाती राम की पौड़ी.

भूमि पूजन कार्यक्रम तीन विद्वानों की देखरेख में होगा. ये विद्वान हैं- काशी विद्या परिषद के राम नारायण द्विवेदी, पंडित विनय कुमार पांडे और राम चंद्र पांडे. इन्होंने इंडिया टुडे को बताया कि भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान शिलान्यास और जमीन की पूजा की जाएगी. भूमि पूजन अभिजीत मुहूर्त में होगा, भगवान राम का जन्म भी इसी मुहूर्त में हुआ था. बताया जाता है कि इसके बाद पीएम मोदी राम मंदिर के नाम से पांच रुपये का पोस्टल स्टैंप भी जारी करेंगे.


Video: इकबाल अंसारी को राम मंदिर भूमिपूजन का न्योता मिला, तो उन्होंने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.