Submit your post

Follow Us

ऑस्ट्रेलिया के सबसे 'झगड़ालू गेंदबाज' ने क्रिकेट को कहा अलविदा!

जेम्स पैटिनसन. ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज. पैटिनसन ने आगामी एशेज से पहले संन्यास लेकर सभी को चौंका दिया है. 31 साल की उम्र में ही जेम्स पैटिनसन ने क्रिकेट के तीनों प्रारूप को अलविदा कह दिया. जेम्स पैटिनसन को उम्मीद थी कि वह एशेज टीम का हिस्सा होंगे. और इसके लिए उन्होंने अभ्यास भी शुरू कर दिया था. लेकिन समर सीजन की शुरुआत में लॉकडाउन लगा. और इस बीच वह इंजरी की वजह से शेफील्ड शील्ड का ओपनिंग मुकाबला नहीं खेल सके. लिहाजा, संन्यास लेने का फैसला किया.

रिटायरमेंट का ऐलान करते हुए जेम्स पैटिनसन ने कहा,

‘मैं एशेज टीम में जगह बनाना चाहता था. लेकिन तैयारी ठीक तरह से हो नहीं पायी. अगर मैं एशेज का हिस्सा होता तो अपने और बाकी खिलाड़ियों के साथ न्याय नहीं कर पाता. मैं उस स्थिति में नहीं आना चाहता था, जहां मुझे अपने शरीर के साथ खिलवाड़ करना पड़ता. यह मेरे और मेरी टीम के लिये भी अच्छा नहीं होता.

मैंने ये फैसला किया है कि बचे हुए तीन से चार साल मुझे एन्जॉय करने हैं. घरेलू क्रिकेट और काउंटी खेलता रहूंगा. मैं क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे मौके दिए. मुझ पर भरोसा दिखाया. और इस सफर में सभी साथियों का भी शुक्रिया अदा करता हूं.’

बता दें जेम्स पैटिनसन (James Pattinson) का करियर सिर्फ 10 सालों का रहा. 2008 अंडर-19 विश्वकप में ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा थे. यह वर्ल्ड कप विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने जीता था. तीन साल बाद ही जेम्स पैटिनसन को बैगी ग्रीन कैप मिली. 2011 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया. और पहले ही मैच में उन्होंने फाइव विकेट हॉल लेने का कारनामा किया. इसके बाद उन्होंने दूसरे टेस्ट की पहली इनिंग्स में भी पांच विकेट लेने का कारनामा किया. 14 विकेट लेकर ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ बने थे.

हालांकि इस शानदार डेब्यू के बाद भी जेम्स पैटिनसन अपने करियर को लंबा नहीं खींच सके. लगातार चोटिल रहे और टीम से बाहर हो गए. जेम्स पैटिनसन के पूरे करियर पर नजर डालें तो पता चलता है कि ऑस्ट्रेलिया को एक तगड़ा गेंदबाज मिला था. जो ब्रेट ली की विरासत को संभाल सकता था. 150 KMPH की गति और अग्रेसिव गेंदबाज. गेंद को अंदर-बाहर कराना जानते थे. किसी बल्लेबाज से डरते नहीं थे बल्कि दबदबा बनाना जानते थे. स्वभाव से गुस्सैल और स्लेज करने वाला गेंदबाज. मतलब कि प्रॉपर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज.

# चोट और विवादों से रहा नाता

लेकिन जेम्स पैटिनसन का करियर चोट और विवादों से प्रभावित रहा. लगभग 10 साल के करियर में यह ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज सिर्फ 21 टेस्ट मैच ही खेल सका. इस दौरान 81 विकेट हासिल किये. जिसमें चार फाइव-विकेट हॉल भी शामिल थे. सिर्फ 15 वनडे खेल सके. और चार T20 मैच.

पैटिनसन के करियर की बात करें तो उनका 2013 का भारत दौरा याद आता है. जहां उन्होंने चेपॉक की फ्लैट पिच पर फाइव विकेट हॉल लिया था. ये जेम्स पैटिनसन का भारत में पहला टेस्ट था. और वह चेपॉक में एक पारी में पांच विकेट लेने वाले पहले और आखिरी ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज भी हैं. चेपॉक का वो मुकाबला ऑस्ट्रेलिया हार गया था. लेकिन पैटिनसन की गेंदबाजी की खूब तारीफ हुई थी.

# तीसरे टेस्ट से हुए थे ड्रॉप

हालांकि ये भी सच है कि जेम्स पैटिनसन अपनी काबिलियत के साथ न्याय नहीं कर सके. 2013 के उस दौरे पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहले और दूसरे टेस्ट मैच में बुरी तरह से हराया. हार की वजह से कंगारू ड्रेसिंग रूम का माहौल बिगड़ गया. उस समय ऑस्ट्रेलिया के कोच मिकी ऑर्थर हुआ करते थे. और तीसरे टेस्ट से पहले ऑर्थर और कप्तान माइकल क्लार्क ने अपने सभी खिलाड़ियों को एक टास्क दिया.

टास्क ये था कि टीम में क्या सुधार हो सकते हैं? क्या कुछ बेहतर किया जा सकता है? इस पर पॉइंट्स बनाकर सभी खिलाड़ियों को मेल करना था. सभी खिलाड़ियों ने टास्क पूरा किया, सिवाय चार खिलाड़ियों के. शेन वॉटसन, मिचेल जॉनसन, उस्मान ख्वाजा और जेम्स पैटिनसन. शेन वॉटसन को दौरे से लौटा दिया गया. जबकि ख्वाजा, जॉनसन और जेम्स पैटिनसन को तीसरे टेस्ट मैच से ड्रॉप कर दिया गया.

इसके बाद जेम्स पैटिनसन ने अपने बयान में कहा,

‘हां मैंने गलती की. टेस्ट मैच से ड्रॉप होना निराशाजनक है. मुझे क्रिकेट से प्यार है. और क्रिकेट ही खेलता आया हूं. अगर आप ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ी हैं. तो अनुशासित होना पड़ेगा. मुझे लगता है कि मैं सजा का हकदार था. हां, हमारी टीम के अंदर कुछ मसले हैं, जिसके बारे में मैं गहराई से नहीं बता सकता.’

बता दें कि जेम्स पैटिनसन का रवैया कभी ठीक नहीं रहा. साल 2019 के शेफील्ड शील्ड एक मैच में जेम्स पैटिनसन ने क्वींसलैंड के खिलाड़ी को गाली दे दी थी. जिसके बाद वह पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच से भी बाहर हो गए. इससे पहले जेम्स पैटिनसन को दो बार ऑस्ट्रेलियाई कोड ऑफ कंडक्ट के तहत दोषी भी पाया गया था.


T20 वर्ल्ड कप में शाकिब और मुस्तफिजुर ने तो ओमान को रुला दिया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?