Submit your post

Follow Us

BJP आईटी सेल का मेंबर BJP CM के खिलाफ पोस्ट लिखने पर गिरफ़्तार हुआ

4.78 K
शेयर्स

कुछ दिन पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया में टिप्पणी करने वाले पत्रकार को गिरफ्तार किया गया था. उसके अलावा एक चैनल की सीईओ और संपादक को भी पुलिस पकड़ कर लखनऊ ले गई थी. ऐसा ही मामला असम से आया है. अपने निजी सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट के जरिए कथित सांप्रदायिक टिप्पणी करने वाले शख़्स को असम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस शख़्स ने कथित तौर पर मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का अपमान भी किया है. लेकिन इस स्टोरी में एक ऐंगल और भी है.

पकड़ा गया युवा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सोशल मीडिया टीम का सदस्य है. यानी सूबे की भाजपा सरकार ने भाजपा की ही सोशल मीडिया टीम के मैंबर को गिरफ्तार कर लिया. नाम है नीतू बोरा. वो असम के मोरीगांव का रहने वाला है. हालांकि इस मामले में यूपी पुलिस जैसी हरकत असम पुलिस ने नहीं दोहराई. और विवाद गहराने से पहले ही नीतू बोरा को बेल मिल गई. पुलिस ने साफ किया कि नीतू बोरा को सिर्फ बेल मिली है. मामला ख़त्म नहीं हुआ है. उनके खिलाफ अभी जांच जारी है.

नीतू असम के मोरीगांव में सोशल मीडिया टीम देखते हैं.
नीतू असम के मोरीगांव जिले में भाजपा की सोशल मीडिया टीम देखते हैं.

नीतू इस मामले में अकेले नहीं है. पुलिस ने इसी तरह के आरोपों की वजह से पूरे प्रदेश में से कम से कम तीन और लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था.

हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के मुताबिक पुलिस सूत्रों ने इस जानकारी की पुष्टि की है. पुलिस ने बताया कि मोरीगांव जिले के भाजपा आईटी सेल के सदस्य नीतू बोरा को सांप्रदायिक और अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट के लिए गिरफ्तार किया गया था. समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, ऐसे मामलो में नीतू बोरा अकेला नहीं फंसा है. भाजपा के एक और आईटी सेल सदस्य हेमंत बरुआ के घर पर बुधवार रात पुलिस ने छापा मारा. बरुआ माजुली जिले का निवासी है, जो मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का अपना इलाका है. वो यहीं से चुने गए हैं.

मोरीगांव के एसपी स्वप्निल डेका ने बताया, ”पिछली रात को राजू महंता ने नीतूमोनी बोरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई, जिसके आधार पर हमने उसे गिरफ्तार किया है. एफआईआर में बयान दर्ज करवाया गया है कि उसने मुख्यमंत्री के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी.”

नीतू बोरा को फेसबुक पर क़रीब 1000 लोग फॉलो करते हैं.
नीतू बोरा को फेसबुक पर क़रीब 1000 लोग फॉलो करते हैं.

नीतू बोरा का कसूर

कसूर बस इतना है कि नीतू बोरा ने अपनी ही पार्टी की बुराई कर दी. क्यों की, खुद की या किसी के कहने पर की ये तो पता नहीं लेकिन ये टिप्पणी सत्ताधारी पार्टी को चुभ गई. दरअसल, नीतू बोरा ने सोशल मीडिया पर दावा किया था कि बीजेपी सरकार प्रवासी मुस्लिमों से लोकल असमियों की रक्षा करने में नाकाम रही है. बोरा की बातों से कहीं ना कहीं ये झलक रहा था कि इस सब के लिए मुख्यमंत्री सोनोवाल जिम्मेदार हैं. यानी सीधे-सीधे अपने टॉप लीडर को कटघरे में खड़ा किया था.

पूरी घटना में गनीमत ये रही कि बोरा को जेल के पीछे ज्यादा वक्त नहीं बिताना पड़ा.


वीडियो- यूपी पुलिस ने पत्रकार को पीटा, चेहरे पर पेशाब करने का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Assam police arrested BJP social media team member for allegedly posting communal content, later released

टॉप खबर

कौन है ड्रग माफिया एल चापो, जिसे 30 साल की सज़ा मिली और 85 हज़ार करोड़ का जुर्माना भी

इस माफिया की कहानी पर नेटफ्लिक्स पर चल गयी सीरीज.

15 साल की विदेशी बच्ची का रेप और मर्डर हुआ, अब 11 साल बाद फैसला आया है

बच्ची की डायरी में जो लिखा था, वो पढ़कर आप डर जाएंगे.

आदर्श ग्राम योजना : न मोदी के मंत्रियों ने काम किया, न सांसदों ने

और लगभग आधे प्रोजेक्ट अधूरे रह गए.

मोदी सरकार ने लाखों कर्मचारियों का एक झटके में नुकसान कर दिया

जानिए क्या कर दिया है सरकार ने ...

कुलभूषण की फांसी पर रोक लगी, लेकिन भारत की कई बातें नहीं मानी गईं

अंतरराष्ट्रीय अदालत ने ये फैसला सुनाया है.

हाफ़िज सईद को गिरफ़्तार करने के पीछे पाकिस्तान का ये खेल है!

जानिए, जो आतंकवादी भारत का नासूर है, उसे पाकिस्तान में किस केस में गिरफ्तार किया गया...

मंत्रियों पर भड़के मोदी, बोले - इन सबका नाम हमको चइये!

मोदी बोले तो अमित शाह भी बोले. सब गुस्सा हैं.

प्रणब मुखर्जी ने कुछ ऐसा बोल दिया, जिससे मनमोहन सिंह का ज़ायका बिगड़ सकता है

मनमोहन सिंह ने किस नेता के साथ बहुत बुरा किया?

लोकसभा में बहस हो रही थी, अमित शाह ने ओवैसी को चुप करा दिया!

किस बात पर अमित शाह ऊंगली दिखाकर बात करने लगे थे?

कहानी भारत के अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान-2 की, जिसे दुनिया का कोई भी देश इतने सस्ते में नहीं बना पाया

एंड गेम में मारवेल ने जितने पैसे खर्च करके थानोस को मारा, उतने में तो भारत दो बार चांद पर पहुंच जाएगा.