Submit your post

Follow Us

BJP आईटी सेल का मेंबर BJP CM के खिलाफ पोस्ट लिखने पर गिरफ़्तार हुआ

4.78 K
शेयर्स

कुछ दिन पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया में टिप्पणी करने वाले पत्रकार को गिरफ्तार किया गया था. उसके अलावा एक चैनल की सीईओ और संपादक को भी पुलिस पकड़ कर लखनऊ ले गई थी. ऐसा ही मामला असम से आया है. अपने निजी सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट के जरिए कथित सांप्रदायिक टिप्पणी करने वाले शख़्स को असम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस शख़्स ने कथित तौर पर मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का अपमान भी किया है. लेकिन इस स्टोरी में एक ऐंगल और भी है.

पकड़ा गया युवा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सोशल मीडिया टीम का सदस्य है. यानी सूबे की भाजपा सरकार ने भाजपा की ही सोशल मीडिया टीम के मैंबर को गिरफ्तार कर लिया. नाम है नीतू बोरा. वो असम के मोरीगांव का रहने वाला है. हालांकि इस मामले में यूपी पुलिस जैसी हरकत असम पुलिस ने नहीं दोहराई. और विवाद गहराने से पहले ही नीतू बोरा को बेल मिल गई. पुलिस ने साफ किया कि नीतू बोरा को सिर्फ बेल मिली है. मामला ख़त्म नहीं हुआ है. उनके खिलाफ अभी जांच जारी है.

नीतू असम के मोरीगांव में सोशल मीडिया टीम देखते हैं.
नीतू असम के मोरीगांव जिले में भाजपा की सोशल मीडिया टीम देखते हैं.

नीतू इस मामले में अकेले नहीं है. पुलिस ने इसी तरह के आरोपों की वजह से पूरे प्रदेश में से कम से कम तीन और लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था.

हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के मुताबिक पुलिस सूत्रों ने इस जानकारी की पुष्टि की है. पुलिस ने बताया कि मोरीगांव जिले के भाजपा आईटी सेल के सदस्य नीतू बोरा को सांप्रदायिक और अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट के लिए गिरफ्तार किया गया था. समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, ऐसे मामलो में नीतू बोरा अकेला नहीं फंसा है. भाजपा के एक और आईटी सेल सदस्य हेमंत बरुआ के घर पर बुधवार रात पुलिस ने छापा मारा. बरुआ माजुली जिले का निवासी है, जो मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का अपना इलाका है. वो यहीं से चुने गए हैं.

मोरीगांव के एसपी स्वप्निल डेका ने बताया, ”पिछली रात को राजू महंता ने नीतूमोनी बोरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई, जिसके आधार पर हमने उसे गिरफ्तार किया है. एफआईआर में बयान दर्ज करवाया गया है कि उसने मुख्यमंत्री के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी.”

नीतू बोरा को फेसबुक पर क़रीब 1000 लोग फॉलो करते हैं.
नीतू बोरा को फेसबुक पर क़रीब 1000 लोग फॉलो करते हैं.

नीतू बोरा का कसूर

कसूर बस इतना है कि नीतू बोरा ने अपनी ही पार्टी की बुराई कर दी. क्यों की, खुद की या किसी के कहने पर की ये तो पता नहीं लेकिन ये टिप्पणी सत्ताधारी पार्टी को चुभ गई. दरअसल, नीतू बोरा ने सोशल मीडिया पर दावा किया था कि बीजेपी सरकार प्रवासी मुस्लिमों से लोकल असमियों की रक्षा करने में नाकाम रही है. बोरा की बातों से कहीं ना कहीं ये झलक रहा था कि इस सब के लिए मुख्यमंत्री सोनोवाल जिम्मेदार हैं. यानी सीधे-सीधे अपने टॉप लीडर को कटघरे में खड़ा किया था.

पूरी घटना में गनीमत ये रही कि बोरा को जेल के पीछे ज्यादा वक्त नहीं बिताना पड़ा.


वीडियो- यूपी पुलिस ने पत्रकार को पीटा, चेहरे पर पेशाब करने का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

विधानसभा में पॉर्न देखते पकड़ाए थे, BJP ने उपमुख्यमंत्री बना दिया

और BJP ने देश में पॉर्न पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

आईफोन होने से इतनी बड़ी दिक्कत आएगी, ब्रिटेन में रहने वालों ने नहीं सोचा होगा

मामला ब्रेग्जिट से जुड़ा है. लोग फॉर्म नहीं भर पा रहे.

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

और अब भाजपा के "कुबेर" गहरा फंस चुके हैं.

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.

धरती पर क्राइम तो रोज़ होते हैं, लेकिन पहली बार अंतरिक्ष में हुए क्राइम की खबर आई है

अंतरिक्ष में रहते क्राइम करने की बात चौंकाती है.

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है