Submit your post

Follow Us

रेप और मर्डर की वो खबर, जो 'खबर' नहीं बनी

20 साल की चंपा का असम के मार्घेरीटा में कथित तौर पर रेप के बाद हिंसक मर्डर कर दिया गया.

चंपा 10वीं पास कर हायर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ती थी. ब्यूटी पार्लर का कोर्स कर रही थी. 28 अप्रैल की शाम को ब्यूटी पार्लर से घर के लिए निकली. लेकिन पहुंची नहीं. उसके मां-पापा रात भर उसका इंतज़ार करते रहे.

अगले पांच दिनों तक लोग चंपा को खोज-खोज थक गए. चंपा मिली तो सही, लेकिन जिंदा नहीं, मुर्दा. उसकी लाश 3 मई को मार्घेरीटा के लामा बस्ती गांव के पास एक नदी में तैरती मिली. उसके कुछ दिनों बाद ही मामला सोशल मीडिया पर गरमाने लगा. चंपा छेत्री की लाश की तस्वीर से फेसबुक और ट्विटर भर गया. हालांकि ये तस्वीरें असली हैं या नहीं, इसका कोई प्रूफ नहीं है. तस्वीर के साथ घूम रहा है राकेश फुरबा नाम के एक शख्स का ख़त, जो उन्होंने इंसाफ की मांग करते हुए प्रधानमंत्री को लिखा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. एक का नाम है बिस्वजीत खत्री, दूसरे का मोइनुल अली. पुलिस का ये भी कहना है कि चंपा इनमें से बिस्वजीत नाम के लड़के को पहचानती भी थी. लोगों का मानना है कि चंपा की मौत के पहले उसका रेप हुआ था. हालांकि इसकी मेडिकल जांच के नतीजे नहीं आए हैं.

बीते सोमवार ऑल असम गोरखा स्टूडेंट्स यूनियन (AAGSU) ने मार्घेरीटा के तिनसुकिया डिस्ट्रिक्ट में प्रोटेस्ट के तौर पर 12 घंटे का ‘बंद’ घोषित किया. सारे स्कूल-कॉलेज, बैंक और दुकानें बंद रहे. पुलिस ने 200 लोगों को शाम 5 बजे तक हिरासत में रखा.

चंपा की लाश मिले कुल 10 दिन हो गए हैं. लेकिन मेनस्ट्रीम मीडिया में इसका जिक्र न के बराबर रहा है. मीडिया में पहली रिपोर्ट 10 मई को आई, यानी घटना के 7 दिनों बाद. वो भी तब, जब सोशल मीडिया में तस्वीरें और मीडिया पर थू करती पोस्ट वायरल होने लगीं. लेकिन ये सिर्फ मेनस्ट्रीम मीडिया का दोष नहीं, नॉर्थ-ईस्ट को भौगोलिक के साथ-साथ सामाजिक हाशिए पर रखने में एक देश के तौर पर हम बराबर के दोषी हैं.

***

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.