Submit your post

Follow Us

विजय देवरकोंडा ने कहा- 'पैसे नहीं थे, दोस्त से उधार लेकर दे रहा डोनेशन!'

विजय देवरकोंडा कोरोनावायरस महामारी के दौरान बिलकुल ही गायब थे. कुछ दिन पहले उन्होंने हैदराबाद पुलिस से मुलाकात करके वापसी की. लोगों ने उन्हें फर्जी हीरो बताकर खूब ट्रोल किया. अब विजय ने अनाउंस किया है कि वो इस महामारी से लड़ने के लिए 1.30 करोड़ रुपए का डोनेशन करेंगे. उन्होंने ये भी बताया कि जो कुछ भी हुआ वो उसके लिए तैयार नहीं थे. उनके पास पैसे नहीं थे. अब वो लोगों की मदद भी अपने दोस्त से पैसे उधार लेकर कर रहे हैं, जिसे वो फिल्मों की शूटिंग शुरू होने के बाद वापस कर देंगे.

विजय देवरकोंडा ने एक वीडियो बनाकर बताया कि आने वाले दिनों में वो लोगों के लिए क्या-क्या करने वाले हैं. बकौल विजय वो अपने जीवन में कम से कम 1 लाख लोगों की रोज़गार देना चाहते हैं. इसके लिए उन्होंने 2019 में एक सीक्रेट प्रोजेक्ट शुरू किया है. द देवरकोंडा फाउंडेशन के तहत इस प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है. इसकी मदद से नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को पहले ट्रेनिंग दी जाएगी और फिर नौकरी. इससे अब तक 650 से ज़्यादा लोग जुड़ चुके हैं. 50 लोगों की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है. और 2 को नौकरी भी (ऑफर लेटर) मिल चुकी है. इस सब के लिए विजय ने 1 करोड़ रुपए डोनेट किए हैं.

ये तो फ्यूचर की बात हो गई. अब सवाल ये कि आज के टाइम में परेशान लोगों की मदद के लिए विजय क्या कर रहे हैं. विजय ने प्रण किया है कि वो इस महामारी के दौर में आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के 2000 परिवारों की मदद करेंगे. इसके लिए उन्होंने 25 लाख रुपए दिए हैं. इन सब लोगों की मदद उनकी वेबसाइट की मदद से की जाएगी. विजय के फाउंडेशन से जुड़ने के बाद आपको आपके नज़दीकी सुपरमार्केट में जाकर ज़रूरत की चीज़ें खरीदनी है और फाउंडेशन डायरेक्ट सुपरमार्केट को पेमेंट कर देगा. लेकिन ये थोड़ी हाई-टेक बात हो गई. यानी इस सुविधा का लाफ वही लोग उठा सकेंगे, जिनके पास फोन और इंटरनेट जैसे साधन होंगे. लेकिन जिन लोगों को वाकई मदद की ज़रूरत है, विजय अपने इस प्रोजेक्ट से उनकी कुछ खास मदद नहीं कर पाएंगे.

ये दो बड़े अनाउंसमेंट थे, जो विजय ने अपने सोशल मीडिया हैंडल और यूट्यूब वीडियो में किया था. उनकी सारी बातें आप इस वीडियो में सुन-देख सकते हैं:

ये तो हो गई सोशल लाइफ. अगर विजय के करियर की बात करें, तो वो लॉकडाउन से पहले पुरी जगन्नाथ की फिल्म ‘फाइटर’ की शूटिंग कर रहे थे. इस फिल्म में उनके साथ अनन्या पांडे नज़र आएंगी. इस फिल्म को अलग-अलग भाषाओं में देशभर में रिलीज़ किया जाएगा.


वीडियो देखें: हैदराबाद पुलिस से मिलने पर क्यो ट्रोल हुए विजय देवरकोंडा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.