Submit your post

Follow Us

नया ख़ुलासा : अंबानी के घर के बाहर मिली गाड़ी के मालिक मनसुख हिरेन नहीं, कोई और था!

दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शुमार मुकेश अम्बानी के घर के बाहर कुछ दिन पहले स्कॉर्पियो कार मिली थी. कार में जिलेटिन की रॉड मिली थीं. क्राइम ब्रांच की जांच में पता चला था कि ये कार व्यवसायी मनसुख हिरेन की है. लेकिन अब मामले में नया मोड़ आया है. महाराष्ट्र एंटी टेररिज़म स्क्वॉड (ATS) की जांच में पता चला है कि कार मनसुख हिरेन की नहीं थी, ठाणे के रहने वाले सैम पीटर न्यूटन की थी. 

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर में दावा किया गया है कि मनसुख हिरेन ने अपनी मौत से पहले क्राइम ब्रांच को दिए स्टेटमेंट में न्यूटन का नाम लिया था. कहा था कि 2016 से उनकी न्यूटन से जान-पहचान है. हिरेन ठाणे में कार सजावट का कारोबार करते थे. न्यूटन ने मनसुख हिरेन से कहा था कि वो उनकी गाड़ी में कुछ ऐक्सेसरीज़ फ़िट कर दें. मनसुख ने काम कर दिया. बिल बैठा 2 लाख 80 हज़ार का. 

न्यूटन ने काम के बदले मनसुख को दो चेक दिए. एक ऐक्सिस बैंक का और एक HDFC बैंक का. गाड़ी न्यूटन को वापिस कर दी गयी. लेकिन बयान के मुताबिक़, मनसुख हिरेन जब बैंक में चेक जमा कराने पहुंचे तो चेक बाउन्स हो गया. हिरेन ने बताया कि उन्होंने न्यूटन से अपने पैसे निकलवाने की बहुत कोशिश की. असफल रहे. बात पुलिस तक पहुंच गयी. अप्रैल 2018. दोनों नौपाड़ा पुलिस थाने पहुंचे. दो साल चली जद्दोजहद के बाद न्यूटन ने हिरेन को 15 दिनों में पैसा चुकता करने का वादा किया. कहा कि तब तक वो उनकी गाड़ी का इस्तेमाल करें. चाहते ना चाहते, मनसुख हिरेन ने सैम न्यूटन की 13 साल पुरानी गाड़ी ले ली. 

मनसुख हिरेन

मनसुख हिरेन की पत्नी विमला का दावा है कि हिरेन ने ये गाड़ी असिस्टेंट पुलिस इन्स्पेक्टर सचिन वाज़े को दे दी. सचिन वाज़े ने इस गाड़ी का नवंबर 2020 से 5 फ़रवरी 2021 तक इस्तेमाल किया. लेकिन एक्सप्रेस से बातचीत में पुलिस अधिकारियों ने इस बात से इंकार किया कि वाजे का कभी इस गाड़ी से कोई लेना-देना रहा था.

विमला ने दावा किया है कि 5 फ़रवरी को वाजे ने गाड़ी लौटा दी. 12 दिन तक गाड़ी वाज़े के पास रही. 17 फरवरी को हिरेन मुंबई जा रहे थे. गाड़ी विखरोली के पास ख़राब हो गयी. हिरेन ने गाड़ी ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे के किनारे लगाकर छोड़ दी. हिरेन ने ओला कैब बुक की. आगे उन्हें दोस्त पवन  मिले. दोनों ऑपरा हाउस गए. वहाँ से ठाणे तक का वापसी का सफ़र हिरेन ने पवन के साथ ही किया. 

विमला के मुताबिक, अगले दिन यानी 18 फ़रवरी को जब हिरेन अपनी गाड़ी लेने विखरोली के पास गए, तो गाड़ी वहां नहीं थी. चोरी हो गयी थी. मनसुख हिरेन पुलिस थाने गए. गाड़ी चोरी की शिकायत दर्ज करा दी. IPC की धारा 379 (चोरी) के तहत केस दर्ज हो गया. FIR में हिरेन ने साफ़ लिखवाया कि गाड़ी के मालिक सैम न्यूटन हैं. 

बाद में हिरेन के परिवार ने टीवी पर गाड़ी को देखा. अम्बानी के घर के बाहर. लेकिन पहचान नहीं सके. क्यों? क्योंकि नम्बर प्लेट, इंजन नम्बर और चेसिस नम्बर बदल दिए गए थे. लेकिन गाड़ी के पिछले शीशे पर फ़ाइनैन्स कम्पनी का स्टिकर लगा हुआ था. वहाँ से महाराष्ट्र ATS को मनसुख हिरेन का पता चला. और गाड़ी का असल नम्बर पता चला, जो था MH02AY 2815. इसके बाद जांच आगे बढ़ी तो बात साफ़ हुई कि गाड़ी दरअसल सैम न्यूटन की थी, जो मनसुख हिरेन के पास से चोरी हो गयी थी. ये सब चल ही रहा था कि 5 मार्च को मुंब्रा के पास से मनसुख हिरेन की लाश बरामद हुई. सैम न्यूटन ने मामले में चल रही जांच का हवाला देते हुए मीडिया से बात करने से इंकार कर दिया है. 

अब महाराष्ट्र ATS के अधिकारी ये पता लगा रहे हैं कि सैम न्यूटन की गाड़ी विखरोली से किसने चोरी की? मनसुख हिरेन की मौत भी सवालों के घेरे में है. पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि मनसुख हिरेन ने आत्महत्या की थी या किसी ने उनकी हत्या की. ख़बरों के मुताबिक़, जब मनसुख हिरेन की लाश बरामद हुई, तो उनके मास्क के पीछे 5 रुमाल गोल करके रखे गए थे. शरीर पर चोट के निशान भी थे. मनसुख के पास दो मोबाइल फोन थे. एक मोबाइल फ़ोन की आख़िरी लोकेशन वसाई के तुंगरेश्वर में मिली. दूसरे फ़ोन की आख़िरी लोकेशन वसाई के मांडवी में मिली. गाड़ी की चोरी के केस के साथ-साथ ATS इस समय ये भी पता करने में जुटी है कि मनसुख हिरेन की आख़िरी लोकेशन सही-सही क्या थी? 


वीडियो : मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिले विस्फोटक का मनसुख हिरेन से क्या कनेक्शन है, NIA पता करेगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

मुजफ्फरनगर महापंचायत के मंच से राकेश टिकैत ने कौन-कौन सी बड़ी बातें कहीं?

मुजफ्फरनगर महापंचायत के मंच से राकेश टिकैत ने कौन-कौन सी बड़ी बातें कहीं?

किसान आंदोलन के आगे की रूपरेखा पर बात की.

सैयद अली शाह गिलानी के शव को पाकिस्तानी झंडे में लपेटने के आरोप में UAPA के तहत केस

सैयद अली शाह गिलानी के शव को पाकिस्तानी झंडे में लपेटने के आरोप में UAPA के तहत केस

कथित राष्ट्रविरोधी नारे लगाने का भी आरोप.

गोल्ड मेडलिस्ट कृष्णा नागर के लिए क्या बोले पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह?

गोल्ड मेडलिस्ट कृष्णा नागर के लिए क्या बोले पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह?

भारत के खाते में अब तक 19 मेडल्स आ चुके हैं.

टोक्यो पैरालंपिक्स के आखिरी दिन भी भारत को गोल्ड, इस बार कृष्णा नागर ने मौज करा दी

टोक्यो पैरालंपिक्स के आखिरी दिन भी भारत को गोल्ड, इस बार कृष्णा नागर ने मौज करा दी

बैडमिंटन का ये दूसरा गोल्ड, पहला प्रमोद भगत ने दिलाया था.

RSS के मुखपत्र पांचजन्य ने लिखा- इंफोसिस टुकड़े-टुकड़े गैंग का हिस्सा, ये राष्ट्र-विरोधी ताकतों के साथ

RSS के मुखपत्र पांचजन्य ने लिखा- इंफोसिस टुकड़े-टुकड़े गैंग का हिस्सा, ये राष्ट्र-विरोधी ताकतों के साथ

पांचजन्य ने ‘साख और आघात’ टाइटल से इंफोसिस पर 4 पेज की कवर स्टोरी की है.

महापंचायत के लिए मुजफ्फरनगर पहुंचे राकेश टिकैत बोले- यहां की जमीन पर कदम नहीं रखूंगा

महापंचायत के लिए मुजफ्फरनगर पहुंचे राकेश टिकैत बोले- यहां की जमीन पर कदम नहीं रखूंगा

15 राज्यों से हजारों किसान पहुंचे.

टोक्यो पैरालंपिक्स : नोएडा के DM ने भारत को दिलाया सिल्वर मेडल

टोक्यो पैरालंपिक्स : नोएडा के DM ने भारत को दिलाया सिल्वर मेडल

भारत का ये 18वां मेडल भी है.

ओवल टेस्ट में कैसे ड्राइविंग सीट पर पहुंची टीम इंडिया?

ओवल टेस्ट में कैसे ड्राइविंग सीट पर पहुंची टीम इंडिया?

राहुल-रोहित के बाद पुजारा ने किया कमाल.

गोल्ड मेडलिस्ट प्रमोद भगत के लिए क्या बोले पीएम मोदी और सचिन?

गोल्ड मेडलिस्ट प्रमोद भगत के लिए क्या बोले पीएम मोदी और सचिन?

भारत की झोली में आया चौथा गोल्ड.

रोहित शर्मा ने ओवल में कमाल का रिकॉर्ड बनाते हुए खत्म किया सालों का इंतजार

रोहित शर्मा ने ओवल में कमाल का रिकॉर्ड बनाते हुए खत्म किया सालों का इंतजार

सबसे आगे पहुंचे रोहित.