Submit your post

Follow Us

2013 में सुशांत डिप्रेसिव एपिसोड से गुज़रे थे, रिया के इस दावे पर अंकिता लोखंडे ने क्या कहा?

सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया चक्रवर्ती पर कई गंभीर आरोप लगे हैं. जांच चल रही है. इसी बीच रिया ने ‘इंडिया टुडे’ को इंटरव्यू दिया. अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया और कहा कि सुशांत डिप्रेशन से जूझ रहे थे. रिया के मुताबिक, सुशांत ने यूरोप ट्रिप के दौरान उन्हें बताया था कि साल 2013 में उन्हें एक डिप्रेसिव एपिसोड हुआ था, जिसके बाद वो एक सायकाइट्रिस्ट से मिले थे.

रिया के इस दावे पर सुशांत की एक्स-गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने जवाब दिया है. उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर कहा कि 2013 में सुशांत किसी सायकाइट्रिस्ट से नहीं मिले थे. अंकिता ने लिखा,

“कुछ स्पष्टीकरण- पहली बात तो शुरुआत से लेकर 23 फरवरी 2016 तक मैं और सुशांत साथ थे. तब उनमें डिप्रेशन की कोई स्थिति नहीं थी और न ही वो किसी सायकाइट्रिस्ट से मिले थे. वो पूरी तरह से ठीक थे.”

रिया ने अपने इंटरव्यू में अंकिता पर भी बात की थी. कहा था कि अंकिता ने सुशांत की मौत के बाद बताया था कि ‘मणिकर्णिका’ फिल्म के दौरान उनकी (अंकिता) और सुशांत की की बातचीत हुई थी, बाद में कहा कि चार साल से दोनों के बीच कोई कॉन्टैक्ट नहीं था. इसे लेकर रिया ने सवाल उठाए थे. अंकिता ने अपने पोस्ट में आगे इन्हीं सवालों का जवाब दिया. लिखा,

“मैंने किसी भी प्लेटफॉर्म में ये नहीं कहा कि अलग होने के बाद भी मैं और सुशांत टच में थे. फैक्ट ये है कि मैंने कहा था कि ‘मणिकर्णिका’ की शूटिंग के दौरान, सुशांत ने मेरे एक पोस्टर पर कमेंट किया था, वो पोस्टर एक दोस्त ने इंस्टाग्राम पर डाला था. मुकेश छाबड़ा. उन्होंने (सुशांत ने) प्रोजेक्ट के लिए बस मुझे गुड लक विश किया था, और मैंने भी विनम्रता में उन्हें जवाब दिया. इसलिए मैं रिया के उस दावे को खारिज करती हूं कि मैंने कहा था कि हमारी फोन पर बात हुई है.

असल में इंटरव्यूज़ में अब तक मैंने ये कहा है, कि उस वक्त जब मैं और सुशांत साथ में थे, उन्हें किसी तरह का डिप्रेशन नहीं था. हमने उनकी कामयाबी के लिए साथ में सपने देखे थे और मैंने उनकी कामयाबी के लिए प्रार्थना की थी. यही सब मैंने कहा था. अगर रिया के बारे में मेरे से कोई सवाल पूछा जा रहा था, मैंने बहुत ईमानदारी से जवाब देते हुए यही कहा था कि ‘मैं न तो उन्हें और न ही उनके रिलेशनशिप के बारे में कुछ जानती थी, क्योंकि मुझे कोई परेशानी ही नहीं थी. मैं तब परेशान हुई, जब किसी ने अपनी ज़िंदगी गवां दी, और अगर कोई मुझसे उस वक्त को लेकर सवाल करेगा, जब हम साथ में थे, तब मैं ईमानदारी से जवाब दूंगी और सच सामने रखूंगी.”

कुछ दिन पहले ये बात सामने आई थी कि सुशांत कथित तौर पर उस फ्लैट के पैसे भर रहे थे, जिसमें अंकिता रह रही हैं. इस पर अंकिता ने इंस्टाग्राम पर अपने बैंक स्टेटमेंट वगैरह की डिटेल डालकर इन आरोपों को खारिज किया था. रिया ने अपने इंटरव्यू में अंकिता के फ्लैट का भी ज़िक्र किया था. इस पर अंकिता ने कहा,

“फ्लैट के बारे में बात रही तो मैंने पहले ही इस पर सफाई दे दी है और परिवार का भी ओपिनियन मेरे से अलग नहीं है.”

आगे अंकिता ने साफ किया कि वो अभी भी परिवार की तरफ हैं. उन्होंने लिखा,

“मैं अभी भी सच के साथ हूं और ये भी स्वीकार करती हूं कि मैं परिवार के साथ खड़ी हूं, रिया के साथ नहीं. परिवार को लगता है कि रिया ने ही सुशांत को उनके अंत की तरफ भेजा है. और उनके पास चैट्स हैं, सबूत हैं, जिन्हें खारिज नहीं किया जा सकता. इसलिए मैंने परिवार का पक्ष सुना, उसके साथ खड़ी रही, और आखिर तक उसके साथ ही खड़ी हूं.”

कब-कब क्या-क्या हुआ?

सुशांत मुंबई के अपने फ्लैट में 14 जून को मृत पाए गए थे. पहले मुंबई पुलिस ने जांच शुरू की थी. घटना के करीब एक महीने बाद सुशांत के पिता ने बिहार में रिया के खिलाफ मामला दर्ज कराया. इसमें सुसाइड के लिए उकसाने का आरोप लगाया था. रिया के खिलाफ फाइनेंशियली चीट करने और सुशांत को कंट्रोल करके रखने के आरोप भी लगाए थे. मामले की जांच करने बिहार पुलिस मुंबई भी गई थी. मुंबई पुलिस भी अपने स्तर से जांच कर रही थी. इसी बीच, सुशांत के पिता ने CBI को ये केस सौंपने की मांग उठा दी.

बिहार सरकार ने केंद्र से सीबीआई जांच की सिफारिश की, जिसे केंद्र ने मंजूरी दे दी. लेकिन चूंकि मुंबई पुलिस पहले से ही इस मामले की जांच कर रही थी, तो CBI की टीम को जांच शुरू करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतज़ार करना पड़ा.

प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी इस केस में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही है. रिया से भी पूछताछ कर चुकी है. अब नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने इस मामले में केस भी दर्ज कर लिया है.


वीडियो देखें: सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट देखेगी एम्स की चार डॉक्टरों की टीम

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?