Submit your post

Follow Us

अनिल अंबानी को 21 दिन में तीन चीनी बैंकों को 5446 करोड़ रुपये चुकाने होंगे

बिजनेसमैन अनिल अंबानी के दिन बुरे चल रहे हैं. कंपनियां घाटे में है. पुराने लोन चुकाने को लेकर भी लगातार दबाव बढ़ रहा है. लोन चुकाने का ऐसा ही एक आदेश अनिल अंबानी को आया है. आदेश लंदन की एक कोर्ट ने जारी किया है. कहा गया है कि चीन के तीन बैंकों को अनिल अंबानी 700 मिलियन डॉलर यानी 5446 करोड़ रुपये का भुगतान करे. कोर्ट ने पैसे चुकाने के लिए 21 दिन का समय दिया है. यह रकम बकाया लोन न चुकाने के मामले से जुड़ी है.

कोर्ट ने क्या कहा

जज नाइजल टियरे ने 22 मई को यह आदेश दिया. इसमें कहा कि साल 2012 में अनिल अंबानी ने तीन चीनी बैंकों से रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड के लिए लोन लिया था. इसके लिए उन्होंने बैंकों को पर्सनल गारंटी दी थी. कोर्ट ने कहा कि अनिल अंबानी को गारंटी का सम्मान करना होगा. जिस व्यक्तिगत गारंटी को वह विवादित मानते हैं वह उन पर बाध्यकारी है. गारंटी के तहत उन्हें 5446 करोड़ रुपये चुकाने होंगे.

कोर्ट में सुनवाई के दौरान अनिल अंबानी के वकील पेश नहीं हुए थे.

अनिल अंबानी की ओर से क्या बयान आया

अनिल अंबानी के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस फैसले से रिलायंस ग्रुप के कामकाज पर असर नहीं पड़ेगा. चीनी बैंकों ने एक कथित गारंटी के आधार पर पैसों के भुगतान का दावा किया. लेकिन इस गारंटी पर अनिल अंबानी के कभी साइन नहीं किए. साथ ही वे लगातार कह रहे थे कि उन्होंने अपनी ओर से किसी और को भी गारंटी देने को नहीं कहा था. अनिल अंबानी इस केस में अब आगे के कानूनी दांवपेंच की तैयारी कर रहे हैं.

रिलायंस कम्युनिकेशन का कामकाज सिमट चुका है.
रिलायंस कम्युनिकेशन का कामकाज सिमट चुका है.

कौनसे बैंकों ने किया केस

इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना, चाइना डेवलपमेंट बैंक और एग्जिम बैंक ऑफ चाइना ने फरवरी 2012 में लोन दिया था. लोन की रकम 925 मिलियन डॉलर यानी करीब 6500 करोड़ रुपये के करीब थी. इसका एग्रीमेंट हॉन्ग कॉन्ग में साइन हुआ था. रिलायंस कम्युनिकेशन के एक अधिकारी ने यह एग्रीमेंट साइन किया था.  इसे वापस लेने के लिए इन्होंने साल 2019 में लंदन में केस किया. कहा कि उनका पैसा ब्याज सहित चुकाया जाए.

अनिल अंबानी ने पहले ही जोड़ लिए थे हाथ

इससे पहले फरवरी 2020 में अनिल अंबानी ने लंदन कोर्ट से कहा था कि उनकी नेटवर्थ शून्य है. उनके पास चुकाने को पैसे नहीं है. साथ ही उनके पास ऐसी संपत्ति नहीं है, जिसे बेचकर वे लोन चुका सकें. लेकिन कोर्ट ने यह दलील ठुकरा दी थी. रिलायंस कम्युनिकेशन ने पिछले साल ही दिवालिया घोषित किए जाने की अर्जी लगा दी थी.

अर्श से फर्श पर अनिल

अनिल अंबानी धीरुभाई अंबानी के छोटे बेटे हैं. अनिल के बड़े भाई मुकेश अंबानी एशिया के सबसे रईस शख्स हैं. पिछले साल मुकेश ने अपने छोटे भाई की मदद भी की थी. उन्होंने एक केस में आखिरी समय पर पैसों का भुगतान किया था. इसके चलते अनिल अंबानी जेल जाने से बच गए थे. 60 साल के अनिल 2008 में दुनिया के छठे सबसे अमीर आदमी थे. फॉर्ब्स ने उस समय उनकी संपत्ति 40 बिलियन डॉलर यानी 3 लाख करोड़ रुपये आंकी थी. लेकिन धीरे-धीरे उनका सितारा गर्दिश में चला गया.


Video: मोदी सरकार ने एयर इंडिया के 100% स्टेक बेचने का फैसला लिया, कैसे हुआ 60,000 करोड़ का क़र्ज़?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.