Submit your post

Follow Us

PPE किट की कमी का विरोध करने पर सस्पेंड चल रहे डॉक्टर को पुलिस ने क्यों पीटा?

आंध्र प्रदेश सरकार और पुलिस निशाने पर है. इसकी वजह है एक डॉक्टर को पीटना और सड़क पर हाथ बांधकर घसीटना, सोशल मीडिया पर डॉक्टर की पिटाई का वीडियो सामने आने के बाद से विपक्षी दल हमलावर है. बता दें कि जिस डॉक्टर की पिटाई हुई उन्हें पिछले महीने सस्पेंड कर दिया गया था. उन्होंने अस्पतालों में पीपीई किट और मास्क की कमी को लेकर विरोध जताया था.

अप्रैल में सस्पेंड हुए थे डॉ. सुधाकर

डॉक्टर का नाम के. सुधाकर है. वे नरसीपटनम के सरकारी अस्पताल में कार्यरत थे. 7 अप्रैल को पीपीई किट की मांग को लेकर उनका वीडियो सामने आया था. उन्होने सरकार पर पर्याप्त पीपीई किट मुहैया न कराने का आरोप लगाया. इसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. अब वे फिर से खबरों में हैं.

16 मई को पुलिस ने उन्हें सड़क पर बदतमीजी करने के आरोप में पकड़ा और पीटा. पुलिस का कहना है कि डॉ. सुधाकर ने शराब पी रखी थी. वे बिना वजह घर से बाहर निकले. वे सड़क पर हंगामा कर रहे थे और सरकार को गालियां दे रहे थे.

कंट्रोल रूम में आई थी शिकायत

पुलिस कमिश्नर आरके मीणा ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम को एक शिकायत मिली. इसमें बताया गया कि एक व्यक्ति हाइवे पर हंगामा कर रहा है. इस पर फॉर्थ टाउन थाना पुलिस को भेजा गया. वहां पर हंगामा करने वाले व्यक्ति की पहचान डॉ. सुधाकर के रूप में हुई. उन्होंने शराब पी रखी थी. उन्होंने पुलिसवालों के साथ बदतमीजी की. एक कॉन्स्टेबल से उन्होंने मोबाइल छीन लिया और उसे सड़क पर फेंक दिया.

डॉ. पर बाइक सवार को टक्कर मारने का आरोप

पुलिस का आरोप है कि शराब के नशे में डॉ. ने एक बाइक सवार को टक्कर भी मार दी. जब उन्हें रोका गया तो वे पुलिस से उलझ गए. उन्होंने सड़क पर खाना फेंक दिया. साथ ही अपनी शर्ट भी उतार दी और चिल्लाने लगे. बड़ी मुश्किल से उन्हें काबू किया गया. 

इस घटना का वीडियो, मौके पर मौजूद लोगों ने बना लिया. इसमें दिख रहा है कि डॉ. सुधाकर को पकड़ने के दौरान एक पुलिसवाला डंडे मार रहा है. बाद में उन्हें एक ऑटो में बैठाकर थाने भेज दिया गया.

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि डॉक्टर से बदतमीजी करने वाले पुलिस कॉन्सटेबल को सस्पेंड कर दिया गया. साथ ही मामले की जांच के आदेश भी दिए गए हैं. वहीं डॉ. को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेजा गया. विपक्षी दलों ने पुलिस की कार्रवाई की निंदा की है. उन्होंने कानून-व्यवस्था के मसले पर सरकार को निशाने पर भी लिया.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video:BJP सांसद प्रवेश वर्मा ने फेक वीडियो पोस्ट किया, तो दिल्ली पुलिस ने फटकार लगा दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ऑस्ट्रेलिया टूर की टीम से क्यों बाहर हुए रोहित शर्मा?

ऑस्ट्रेलिया टूर की टीम से क्यों बाहर हुए रोहित शर्मा?

अनाउंस हुई टीम इंडिया, मिला नया उपकप्तान.

कोयला घोटालाः अटल सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को तीन साल की जेल हो गई है

कोयला घोटालाः अटल सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को तीन साल की जेल हो गई है

मामला 21 साल पुराना है.

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

लोकनीति और CSDS के ओपिनियन पोल की बड़ी बातें एक नजर में.

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

आपराधिक छवि वालों की इतनी तादाद से साफ है कि दलों को लगता है, 'दाग' अच्छे हैं

बीजेपी विधायक ने कहा- अगर राहुल 'छेड़छाड़' वाली बात साबित कर दें, तो मैं इस्तीफा दे दूंगा

बीजेपी विधायक ने कहा- अगर राहुल 'छेड़छाड़' वाली बात साबित कर दें, तो मैं इस्तीफा दे दूंगा

राहुल ने खबर शेयर की थी जिसमें लिखा था-बीजेपी विधायक रेप के आरोपी को थाने से छुड़ा ले गए.

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

एसटीएफ की टीम ने लखनऊ से पकड़ा. बलिया पुलिस को हैंडओवर करेगी.

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.